HometrendingLions Club : हेमंत शर्मा अब लायंस क्लब के माध्यम से करेंगे...

Lions Club : हेमंत शर्मा अब लायंस क्लब के माध्यम से करेंगे सेवा, कांग्रेस ज्वाइन करने से इंकार

मुलताई – Lions Club – भाजपा द्वारा अपने चार नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाने के बाद आज पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष हेमंत शर्मा की प्रतिक्रिया इस पूरे मामले पर खुल कर सामने आई है। उन्होंने कहा है कि अपने पिछले कार्यकाल में अगर वह नगर में काम नहीं करते और भाजपा की रीती- नीतियों का प्रचार नहीं करते तो भाजपा 15 में से 9 वार्ड में जीत पाती। उन्होंने कहा कि उनके वार्ड में जो उनके प्रत्याशी की हार हुई है, वह जाति समीकरण के कारण हुई है।

उन्होंने बताया कि पवार समाज से चार लोग चुनाव मैदान में खड़े हुए थे जिस कारण वोटों का बंटवारा हो गया और भाजपा के रमेश कड्वे की हार हुई है। वहीं उन पर जो आरोप लगाया जा रहा है कि नगर पालिका अध्यक्ष के चुनाव में क्रॉस वोटिंग करवाई गई है,जबकि 8 अगस्त को वह शिर्डी में थे। 7 अगस्त को ही वे शिर्डी रवाना हो गए थे एवं 7,8 और 9 अगस्त तक में शिर्डी में ही थे।

ऐसे में उन्हें इस चुनाव को लेकर भी कोई जानकारी नहीं थी, लेकिन उन पर आरोप लगाकर उन्हें पार्टी से अलग किया गया है।इधर उनका कहना है कि वे जीवन में समाज सेवा के अपने कार्यों को लायंस क्लब के माध्यम से आगे बढ़ाएंगे,उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस ज्वाइन नहीं करेंगे। गौरतलब है कि हेमंत शर्मा के वार्ड से भाजपा उम्मीदवार रमेश कड़वे चौथे स्थान पर रहे थे।

तय मानी जा रही है अध्यक्ष और अध्यक्ष पति की विदाई

भाजपा की नगर पालिका अध्यक्ष पद प्रत्याशी वर्षा गड़ेकर के खिलाफ बागी होकर चुनाव लडऩे वाली नीतू परमार की विदाई पार्टी से तय मानी जा रही थी। उनके साथ उनके पति प्रह्लाद परमार को भी पार्टी से बाहर कर दिया गया है,वहीं उनके समर्थक भीम सिंह चंदेल को भी पार्टी ने बाहर का रास्ता दिखाया है।चुनाव के बाद से ही यह तय हो गया था कि इन्हें भाजपा निष्कासित करेगी और यही फैसला सामने आया है।इधर नगर पालिका अध्यक्ष नीतू परमार पहले ही अपनी पीआईसी में कांग्रेस के पास पार्षदों को शामिल कर चुकी है।ऐसे में यह साफ है कि इस बार नगर पालिका में कांग्रेस का राज रहेगा।

नगर मंडल अध्यक्ष भी दे चुके हैं इस्तीफा…

भाजपा से चार नेताओं की रवानगी के पहले ही नगर मंडल अध्यक्ष हनी भार्गव द्वारा इस्तीफा जिला अध्यक्ष को सौंपा जा चुका था। बताया जा रहा है कि लगभग 1 सप्ताह पहले ही हनी भार्गव ने बैतूल जाकर भाजपा जिला अध्यक्ष को इस्तीफा सौंप दिया था, इस्तीफे को लेकर क्या कार्रवाई हुई है यह अभी तक साफ नहीं हुआ है

RELATED ARTICLES

Most Popular