HometrendingThand Me Jam Gaya Magarmach - ठंड इतनी की बर्फ में जम...

Thand Me Jam Gaya Magarmach – ठंड इतनी की बर्फ में जम गया मगरमच्छ का जबड़ा, हथोड़ी से तोड़ कर निकाला   

Thand Me Jam Gaya Magarmachइस समय में ठंड का दौर चल रहा है और जहाँ ठण्ड ज्यादा होती है वहां नदी तालाब भी जमने लगते है ऐसे में इन में रहने वाले जीव को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। ऐसे ही ठण्ड से परेशान एक मगरमच्छ का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है  जिसमे देखा जा की जबरदस्त ठण्ड से मगरमच्छ का जबड़ा पानी में जम जाता है जिसे हथोड़ी से तोड़ कर निकाला जाता है। 

झील में जम गया मगरमच्छ(Thand Me Jam Gaya Magarmach

ठंड के मौसम में मगरमच्छ चुपचाप शांत चित अवस्था में चले जाते हैं. मगरमच्छ की मदद करने वाले एक शख्स के एक नए वीडियो ने इंटरनेट पर कई लोगों के फैंस को हैरान कर दिया है. तंसु येजेन द्वारा ट्विटर पर पोस्ट किए गए वीडियो में देखा जा सकता है कि एक शख्स ने मगरमच्छ की जान बचाने के लिए जमी हुई झील के चारों तरफ हथौड़ा चलाता है. मगरमच्छ का सिर पानी के बाहर निकला होता है और बाकी का हिस्सा ठंडे पानी के नीचे होता है. वीडियो में, जॉर्ज हावर्ड नाम के शख्स ने वॉइस-ओवर किया, जिसने बताया कि वह जीवों को मुक्त करने की कोशिश नहीं कर रहा था, बल्कि उनके शरीर के चारों ओर जमी बर्फ को पिघलाकर उन्हें आराम देने की कोशिश कर रहा था. 

जान बचाने का है ये तरीका(Thand Me Jam Gaya Magarmach

वॉयस ओवर करने वाला शख्स जॉर्ज हॉवर्ड दक्षिणी उत्तरी कैरोलिना में द स्वैम्प पार्क में पार्क मैनेजर हैं. उन्होंने जीव पर आश्चर्य व्यक्त करते हुए कहा, “यह बस एक जीवित रहने की टेक्निक है. मेरा मतलब है कि ये जीव शानदार सर्वाइवर हैं. यह इसका एक उदाहरण है.” पोस्ट में मगरमच्छ के बारे में कुछ जानकारी भी साझा की गई है और लिखा, “घड़ियाल जमे हुए दलदल में सांस लेने के लिए बर्फ के माध्यम से अपनी नाक चिपका कर जीवित रहते हैं. मगरमच्छ अपने मेटाबोलिज्म को बंद कर देते हैं, और उन्हें खाने की आवश्यकता नहीं होती है, उनकी हृदय गति धीमी हो जाती है, उनका पाचन तंत्र धीमा हो जाता है, और वे बस बैठते हैं और गर्मी का इंतजार करते हैं.’

Source – Internet 

RELATED ARTICLES

Most Popular