HometrendingShuru Kare Ye Bussiness : ये बिज़नेस देगा तगड़ी कमाई, आज से...

Shuru Kare Ye Bussiness : ये बिज़नेस देगा तगड़ी कमाई, आज से ही शुरू करें ये काम  

Shuru Kare Ye Bussinessआज के समय में सभी सोचते हैं की  उनकी तगड़ी कमाई हो और वो अपना भविष्य साकार कर सकते है और अपना और और अपने परिवार के सभी सपने साकार कर सकते है। बीतें कुछ सालों में देश ने महामारी का सामना किया है और उस समय कई लोगो को अपनी नौकरी  भी गवाना पड़ा  जिससे लोगो के दिमाग पर भी काफी असर हुआ। अब आज के समय में हर कोई बस अपना बिजनेस करना चाहता है। अगर आपको भी ऐसा कुछ बिजनेस करना है तो ये आईडिया आपके बहुत काम का है बस आपका इंटरेस्ट खेती में होना चाहिए। अगर आपका इंटरेस्ट खेती में है तो आपके लिए ये आईडिया बहुत काम का है। 

5 साल तक कमाए मुनाफा 

आपको बता दें एक बार अगर आप केले का पौधा लगाते हैं तो आपको उसमें 5 साल तक फल मिलते हैं. इस तरह की खेती(Kele Ki Kheti) में आप कम लागत में ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं. इस तरह की खेती में किसानों को तुरंत पैसा भी मिल जाता है. आजकल देश के कई किसान केले की खेती करके अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं. 

इतनी लागत से शुरू करें बिजनेस 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस तरह की खेती करने में करीब 50,000 रुपये की लागत आती है. अगर आप एक बीघा जमीन पर खेती करते हैं तो आपको 50,000 रुपये खर्च करने होंगे. वहीं, अगर इसे बड़े लेवल पर खेती करनी होगी तो उसके लिए आपको ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे. 

कमाए लाखों का मुनाफा 

इसके अलावा अगर इस खेती में मुनाफे की बात करें तो आपको डेढ़ लाख से 2 लाख तक का मुनाफा आराम से हो जाता है. वहीं, अगर आप एक एकड़ खेती को बेचने की बात करें तो आप पैदावार हुई खेती को 3 से साढ़े तीन लाख में बेच सकते हैं. 

भारत में होता है सबसे ज्यादा उत्पादन 

आपको बता दें भारत केले का सबसे ज्यादा उत्पादन करने वाला देश है. 25 फीसदी की हिस्सेदारी के साथ यह विश्व का सबसे बड़ा केला उत्पादक देश है. भारत में करीब 2 लाख बीस हजार हेक्टेयर में केले लगाए जाते हैं. क्षेत्रफल की दृष्टि से महाराष्ट्र तीसरा सबसे बड़ा केला उत्पादन करने वाला राज्य है. 

केले की खेती में लगता है इतना समय

केले के पौधे की रोपाई होने के बाद इसमें करीब 12 से 13 महीने का समय लग जाता है. यह पकने के बाद पीले या फिर लाल रंग में बदल जाते हैं. इसके बाद में इस पर फल लगता है और तना मर जाता है और इसकी जगह दूसरा छद्म तना ले लेता है. केले के फल लटकते गुच्छों में ही बड़े होते है, जिनमें 20 फलों तक की एक पंक्ति होती है और एक गुच्छे में 3 से 20 केलों की पंक्ति होती है.केलों के लटकते हुए पूरे समूह को गुच्छा कहा जाता हैं और इसका वजन 30 से 50 किलोग्राम तक होता हैं. एक फल औसतन 125 ग्राम का होता है, जिसमें लगभग 75 फीसदी पानी और 25 फीसदी सूखी सामग्री होती है.

Source -Internet 

RELATED ARTICLES

Most Popular