spot_img
HometrendingPolice Ne Karwaya Samjhota : रामनगर मामले में सौंपा ज्ञापन,शांति समिति की...

Police Ne Karwaya Samjhota : रामनगर मामले में सौंपा ज्ञापन,शांति समिति की बैठक में विवाद का निराकरण

बैतूल-Police Ne Karwaya Samjhota- गुरुवार की रात रामनगर इलाके में दो समुदाय के बीच विवाद हो गया था जिसमें मारपीट भी हुई थी । विवाद पंडाल को लेकर हुआ था । इस मामले को लेकर आज हिंदू समाज संगठन ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपा और मामले में धाराएं बढ़ाने की मांग की । इसके बाद पुलिस कंट्रोल रूम में शांति समिति की बैठक आयोजित की गई जिसमें पुलिस ने दोनों समुदाय के बीच विवाद का निराकरण कराया और दोनों समुदाय के प्रतिनिधियों ने एक दूसरे को माला पहना कर भाईचारे का संदेश दिया ।

विवाद का हुआ निराकरण

विगत दिनों बैतूल रामनगर में दो समुदायों के बीच पंडाल लगाने को लेकर हुए विवाद का निराकरण आज एसपी सिमाला प्रसाद की उपस्थिति में शांति समिति की मीटिंग आयोजित करा कर दोनों पक्षों के सदस्यों को बुलाकर विवाद का निराकरण एक दूसरे को पुष्प मालाएं पहनाकर आपसी सहमति बनाकर किया गया ।

इस मौके पर एएसपी नीरज सोनी सहित पुलिस के अधिकारी गण भी मौजूद थे ।

ज्ञापन सौंप कर धाराएं बढ़ाने की मांग

सौंपे गए ज्ञापन में बताया गया कि गणेश उत्सव की तैयारियों को लेकर 18 अगस्त की रामनगर में राजा पिता आशु, राहिल पिता राजू, मुस्ताईद पिता आशु बाबा पिता छोटे, कादिर पिता छोटे, अजहर पिता अजीज, इमरान, फैजान पिता बब्बू, कासिम पिता नामालूम, शाहजिब पिता नामालूम, सबाहद पिता नामालूम एवं अन्य आरोपीगणों द्वारा अमित मंडल, रिंकू सोनी, विशाल हल्दार, विवेक उबनारे को डंडे, चाकू व फावड़े के साथ गाली-गलौच करते हुए हमला कर दिया। जिसमें आरोपीगणों द्वारा आवेदकों को गंभीर चोट पहुंचाई हैं। आरोपीगण 5 से अधिक थे और बलवे की नियत से यह हमला किया गया था। जिसमें एफआईआर में बलवे की धारा नहीं लगाई गई है साथ ही महिला के साथ मारपीट की गई । विवेक उबनारे जो गंभीर हालत में अस्पताल में अपना इलाज करवा रहा है। ऐसे गंभीर मामले को देखते हुए आरोपीगणों जो लगनी चाहिए थी उस धाराओं का उल्लेख नहीं किया गया। एफआईआर में 151 का भी उल्लेख नहीं है।

RELATED ARTICLES

Most Popular