spot_img
HometrendingNachte Hue Mout : नाचते - नाचते चली गई युवक की जान 

Nachte Hue Mout : नाचते – नाचते चली गई युवक की जान 

भुजरिया पर्व पर पूरा गांव मना रहा था त्यौहार

चिचोली -Nachte Hue Mout – मौत कब कहां आ जाए, इसके बारे में कोई नहीं कह सकता है। खुशियों के बीच दिल को झकझोर देने वाली ऐसी ही एक घटना चिचोली थाना क्षेत्र के ग्राम पाटाखेड़ा में शुक्रवार रात में त्योहार के दौरान आई। जहां एक युवाक अपने परिवार के साथ ससुराल रक्षाबंधन पर्व एवं भुजरिया पर्व मनाने पाटाखेड़ा गांव आया था। डीजे की धुन पर पूरा गांव सम्मिलित होकर नाच रहे थे।
गांव में छा गया मातम(Nachte Hue Mout)
 इस दौरान नाचते-नाचते युवक की मौत हो गई। वह नाचते वक्त ऐसे जमीन पर गिरा कि फिर दोबारा नहीं उठ सका। मौके पर ही उसने दम तोड़ दिया। एक मिनट पहले वह खुशी-खुशी नाचने में इतना मशगूल था कि किसी ने सोचा भी नहीं था कि ऐसा हो सकता है। रक्षाबंधन एवं भुजरिया की खुशियों के बीच इस घटना से मातम छा गया।
भुजरिया विसर्जन का निकल रहा था जुलूस(Nachte Hue Mout)
 बताया गया है कि पाटाखेड़ा गांव में शुक्रवार भुजरिया का त्यौहार पर मनाया जा रहा था। इसी दौरान  चिरापाटला महुढाना निवासी 45 वर्षीय जगदीश पिता मुन्नी उईके के अपने ससुराल पाथाखेड़ा रक्षाबंधन एवं भुजरिया पर्व मनाने आया था। विसर्जन को लेकर जुलूस निकाला गया था वहां पर डीजे की धुन पर नाचने लगा। वह सभी के साथ देर तक नाचता कुछ ही पल में वह लहराते हुए जमीन पर गिर गया। लोगों को यह लगा कि वह बेहोश हो गया है या फिर नशे में है।
डॉक्टरों ने किया मृत घोषित(Nachte Hue Mout)
ग्रामीणों ने देखा कि उसके शरीर में कोई हरकत नहीं हुई तो तत्काल निजी वाहन से जगदीश उईके को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर आए। अस्पताल में चिकित्सक ने परीक्षण के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। इस  घटना जानकारी पुलिस को दी गई पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को सौंप दिया है। सब इंस्पेक्टर खुशाल बघेल ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत के वास्तविक कारण ज्ञात हो पाएगा।
RELATED ARTICLES

Most Popular