spot_img
Hometrendingकिसान अपने खेत में लगाए ये 5 पेड़ होगी लाखो की कमाई।

किसान अपने खेत में लगाए ये 5 पेड़ होगी लाखो की कमाई।

किसान अपने खेत में लगाए ये 5 पेड़ होगी लाखो की कमाई।

महंगे दामों पर बिकती है इनकी लकड़ी – जानें इनकी खासियत और फायदों के बारे में
किसानों की आय बढ़ाने के लिए सरकार कई योजनाएं लेकर आती है। इन योजनाओं से किसानों को लाभ मिलता है। सरकार के प्रयासों के साथ-साथ किसानों को खुद भी आय बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिए। इसके लिए किसानों को उन फसलों की खेती करना आवश्यक है जिनकी बाजार में मांग अधिक है और जिनसे अधिक लाभ प्राप्त किया जा सकता है। फसलों से कमाई के अलावा कुछ पेड़ ऐसे भी हैं जो आपको अमीर बना सकते हैं। इन पेड़ों को लगाकर आप हजारों रुपये कमाएंगे। यह कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी अगर उन्हें पेड़ कहा जाए जो पैसे की बारिश करते हैं। ट्रैक्टर जंक्शन के माध्यम से आज हम आपको उन 5 पेड़ों के बारे में बता रहे हैं जिन्हें लगाने पर आपको करोड़ों रुपये का लाभ होगा और बहुत ही कम समय में आप अमीर बन जाएंगे।

चंदन का पेड़
यदि आप अपने खेत में चंदन के पेड़ लगाते हैं, तो आप बहुत सारा पैसा कमा सकते हैं। चंदन की बाजार में मांग स्थिर रहती है और इससे इत्र भी बनाया जाता है। साथ ही इसका स्वाद कई उत्पादों में मिलाया जाता है। बाजार की मांग को देखते हुए इसकी खेती किसानों के लिए लाभकारी सिद्ध हो सकती है। इस पेड़ की लकड़ी काफी महंगी होती है। इसकी बाजार कीमत पर नजर डालें तो इसकी एक किलो लकड़ी की कीमत करीब 27 हजार रुपए है। इससे किसान अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। अब बात करते हैं इसके उत्पादन की तो एक चंदन के पेड़ से करीब 15 से 20 किलो लकड़ी प्राप्त की जा सकती है। आप इसे बेचकर लाखों कमा सकते हैं।

सागौन के पेड़
सागौन की लकड़ी भी काफी महंगे बिकती है। मानसून के इस मौसम में सागौन का पेड़ लगाकर किसान अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। एक एकड़ में सागौन उगाकर दस लाख रुपये कमाए जा सकते हैं। सागौन महंगी लकड़ियों में से एक है। इसका उपयोग फर्नीचर और प्लाईवुड बनाने के लिए किया जाता है। चूंकि यह लंबे समय तक टिकाऊ होता है, इसलिए इसकी बाजार में मांग काफी अधिक है। सबसे बड़ी बात यह है कि इसे उगाने में जोखिम बहुत कम होता है और मुनाफा अच्छा होता है। अब बात करें इस पेड़ से कमाई की तो 12 साल पुरानी सागौन की बाजार में कीमत 25 से 30 हजार रुपये के बीच है और समय के साथ इसकी कीमत बढ़ने की भी संभावना है. ऐसे में किसान एक एकड़ में इसकी खेती कर अधिक कमाई कर सकते हैं।

अनार का पेड़
सागौन के बाद, यह लकड़ी के लिए उगाया जाने वाला दूसरा पेड़ है। इसे खेमेर के नाम से भी जाना जाता है। इसे स्थानीय भाषा में गम्हार, कुम्भरी और सिवन भी कहते हैं। यह पेड़ भारत में उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान और महाराष्ट्र में पाया जाता है। बलुई बलुई मिट्टी में इसकी खेती बहुत अच्छी होती है। इसकी लकड़ी जलाऊ लकड़ी के काम आती है। इसकी लकड़ी का उपयोग खिलौने, कृषि उपकरण और फर्नीचर बनाने के लिए किया जाता है। इसकी पत्तियों का उपयोग औषधि बनाने में किया जाता है। अल्सर जैसी समस्या से राहत पाने में यह बहुत उपयोगी है। यह बहुत तेजी से बढ़ने वाला पेड़ है। मध्यम वर्षा वाले क्षेत्रों में, इसे पहाड़ियों और खेत के तटबंधों के साथ-साथ असमान जमीन पर भी लगाया जा सकता है। इसे उगाने वाले फलों के साथ लगाने से मिट्टी में नाइट्रोजन और फास्फोरस की मात्रा बढ़ जाती है। अपने गुणों के कारण यह कई प्रकार से लाभकारी वृक्ष है। अब बात करें इस पेड़ से कमाई की तो एक एकड़ में लगाए गए इसके पेड़ों से कुल दस लाख मुकुट कमाए जा सकते हैं। एक एकड़ में 500 पौधे लगाए जा सकते हैं। इसकी स्थापना की लागत लगभग 40 से 55 हजार रुपये है। इस पेड़ की आय इससे प्राप्त लकड़ी की गुणवत्ता पर निर्भर करती है।

सफेद पेड़
बाजार में चूने की भारी मांग है। इसकी कीमत भी बाजार में अच्छी है। सफेद को यूकेलिप्टस भी कहा जाता है। इसकी खेती की ख़ासियत यह है कि इसे कम से कम पानी की आवश्यकता होती है और प्रतिकूल मौसम इसके अनुकूल नहीं होता है। इसे हर तरह की जलवायु में उगाया जा सकता है। यह तेजी से बढ़ने वाला पेड़ है। इसे उगाकर किसान काफी अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। इसकी लकड़ी का उपयोग फर्नीचर, ईंधन और कागज बनाने में किया जाता है। यह पौधा लगभग 8 से 10 वर्षों में एक पेड़ के रूप में विकसित हो जाएगा। उसके बाद किसान इससे आसानी से 10 से 12 करोड़ रुपये कमा सकते हैं। अब बात करें इसके बाजार भाव की तो एक किलो लकड़ी की कीमत 6 रुपये है. इसकी खेती की लागत घटाकर किसान 4 से 5 साल में इससे करीब 6 करोड़ रुपये कमा सकते हैं।

महोगनी पेड़
इस पेड़ की लकड़ी की भी बाजार में काफी मांग है। इसकी लकड़ी का उपयोग फर्नीचर बनाने में किया जाता है। इसकी लकड़ी लाल और भूरे रंग की होती है। पानी से प्रभावित नहीं। इस तरह यह काफी टिकाऊ होता है। लकड़ी के साथ-साथ इसके बीज बेचकर भी अच्छी खासी कमाई की जा सकती है। इसके बीजों का उपयोग औषधि में किया जाता है। वहीं इसकी पत्तियों से खाद तैयार की जाती है। ऐसे में इस पेड़ की पत्तियों से लेकर बीज तक का महत्व है। इसके फलों और पत्तियों से कैंसर, रक्तचाप, अस्थमा, सर्दी, मधुमेह और अन्य बीमारियों की दवाएं बनाई जाती हैं। अब बात करें इस पेड़ से कमाई की तो इसके पेड़ से भी अच्छी खासी कमाई की जा सकती है. महोगनी के पेड़ 12 साल में लकड़ी काटने के लिए तैयार होते हैं और हर पांच साल में एक बार बीज पैदा करते हैं। एक पौधा 5 किलो बीज देता है। इसके बीजों की कीमत बहुत अधिक होती है और यह बाजार में एक हजार रुपये प्रति किलो तक बिकती है, जबकि इसकी लकड़ी का बाजार भाव 2000 से 2200 रुपये प्रति घन फुट है। इस तरह देखा जाए तो किसान कमा सकते हैं

RELATED ARTICLES

Most Popular