Saturday, August 13, 2022
spot_img
HomeUncategorizedGass price : गैस में 500 रुपये तक मिलेगी छूट जाने कैसे

Gass price : गैस में 500 रुपये तक मिलेगी छूट जाने कैसे

Gass price :देश के घरेलू गैस उपभोक्ताओं को करोड़ों रुपये के लाभ की बात करें तो एलपीजी गैस के दाम में छूट दी जाएगी.
नमस्कार किसान भाइयों और ट्रैक्टर जंक्शन की इस विशेष पोस्ट में आपका स्वागत है। ट्रैक्टर जंक्शन का हमेशा से प्रयास रहा है कि किसानों के हितों और लाभों को पहुंचाया जाए ताकि देश का किसान सुखी हो सके। ट्रैक्टर जंक्शन की इस पोस्ट में हम आपको बताते हैं कि आप 31 दिसंबर से पहले अपने घरेलू गैस सिलेंडर को रिजर्व करके 500 रुपये तक का लाभ कैसे प्राप्त कर सकते हैं।

जानिए, जानिए LPG की घरेलू कीमत और मिल सकती है कितनी छूट.

Gass price

बता दें कि पिछले महीने घरेलू रसोई गैस की कीमत में 100 रुपये का इजाफा हुआ है। अब उपभोक्ता विभिन्न राज्यों में 650 रुपये से 700 रुपये के बीच एलपीजी सिलेंडर खरीदते हैं। अब हम आपको फ्यूल बुक करने का आसान तरीका बताते हैं जिससे आप फ्यूल बुकिंग पर 500 रुपये तक का डिस्काउंट पा सकते हैं। यह खास ऑफर 31 दिसंबर तक वैध है। जैसा कि आप जानते ही हैं कि Paytm application आज हर गांव में पहुंच चुकी है. पेटीएम ऐप ने 31 दिसंबर, 2020 तक घरेलू गैस उपभोक्ताओं के लिए एक विशेष ऑफर लॉन्च किया है। इस संदर्भ में, यदि आप पेटीएम ऐप के माध्यम से अपने गैस सिलेंडर के लिए आरक्षित और भुगतान करते हैं, तो आपको 500 रुपये तक कैशबैक प्राप्त होगा। आइए जानें पेटीएम का रिफंड प्लान।

एलपीजी सिलेंडर: ऐसे मिलेगा 500 रुपये के रिजर्वेशन का फायदा
आप सभी जानते हैं कि केंद्र की मोदी सरकार डिजिटल पेमेंट को प्राथमिकता देती है. इसी वजह से कई मोबाइल पेमेंट कंपनियां सामने आई हैं। ऐसी ही एक मोबाइल पेमेंट कंपनी पेटीएम ने बहुत ही कम समय में देश में बहुत बड़ा नेटवर्क बना लिया है। पेटीएम अपने ग्राहकों को समय-समय पर अपने एप्लिकेशन के जरिए कई खास ऑफर देता रहता है। 2020 के आखिरी दिनों में पेटीएम एलपीजी सिलेंडर की बुकिंग पर 500 रुपये तक का कैशबैक दे रहा है। यह एक बहुत ही खास ऑफर है। यह ऑफर पहली बार एप्लीकेशन के जरिए एलपीजी सिलेंडर रिजर्वेशन के लिए दिया जाएगा। अगर आप पेटीएम ऐप से इंडेन या भारत गैस सिलेंडर बुक करते हैं तो आपको 500 रुपये तक का कैशबैक मिलेगा। इस ऑफर की डेडलाइन 31 दिसंबर 2020 है।

पेटीएम कैशबैंक की विशेषताएं
जो ग्राहक आवेदन के माध्यम से पहली बार एलपीजी सिलेंडर बुक करेंगे, उन्हें 500 पेटीएम रिफंड ऑफर दिया जाएगा।
कैशबैक ऑफ़र का लाभ उठाने के लिए, ग्राहक को प्रचार अनुभाग में ‘FIRSTLPG’ कोड दर्ज करना होगा।
यदि उपभोक्ता प्रचार अनुभाग में प्रचार कोड दर्ज करना भूल जाता है, तो वह कैशबैंक से लाभ नहीं उठा पाएगा।
पेटीएम पर अपना पहला एलपीजी सिलेंडर खरीदते समय उपभोक्ताओं के लिए प्रचार कोड दर्ज करना बहुत महत्वपूर्ण है।
उपभोक्ता इस अवसर का लाभ केवल एक बार अभियान के दौरान उठा सकते हैं।

पेटीएम के माध्यम से एलपीजी सिलेंडर आरक्षित करने का तरीका जानें
अगर आपके मोबाइल फोन में पेटीएम एप्लिकेशन नहीं है, तो आप इसे Google Play Store से डाउनलोड कर सकते हैं।
सबसे पहले आपको पेटीएम एप्लीकेशन को ओपन करना होगा।
पेटीएम पर केवाईसी करने वाले ग्राहक ही कैशबैक का फायदा उठा सकते हैं।
अगर आपको होम स्क्रीन पर एलजीपी ट्यूब रिजर्वेशन पर कैशबैक का विकल्प दिखाई नहीं देता है, तो आपको शो मोर पर क्लिक करना होगा।
अब लेफ्ट साइड में फिल एंड पे बिल्स ऑप्शन में जाएं, इसमें कई ऑप्शन दिखाई देंगे जिनमें आपको Book a Cylinder पर जाना है।
यहां आपको भारत गैस, इंडेन या एचपी गैस जैसी गैस प्रदाता कंपनी का चयन करना होगा और बुक सिलेंडर पर क्लिक करना होगा।
फिर अपना पंजीकृत मोबाइल फोन नंबर या एलपीजी आईडी दर्ज करें।
अब आपको एलपीजी आईडी, उपभोक्ता का नाम और एजेंसी का नाम दिखाई देगा, चेक करें और जारी रखें।
गैस सिलेंडर की कीमत चुकानी होगी।
जब एलपीजी सिलेंडर डिलीवर हो जाएगा, तो आपको पेटीएम वॉलेट में रिफंड मिलेगा।

भारत में एलपीजी उपभोक्ताओं की स्थिति
भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा एलजीपी गैस उपभोक्ता देश है। देश में एलपीजी की मांग 2025 तक 34% बढ़ने की उम्मीद है। एलपीजी उपभोक्ताओं की संख्या में हर साल 15 प्रतिशत की वृद्धि हो रही है। एलपीजी उपभोक्ताओं की संख्या, जो 2014-15 में 148 मिलियन थी, 2017-18 में बढ़कर 224 मिलियन हो गई। जनसंख्या में तेजी से वृद्धि और ग्रामीण क्षेत्रों में एलपीजी की बढ़ती पहुंच के कारण एलपीजी की खपत में औसतन 8.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इसके साथ, भारत 22.5 मिलियन टन के साथ दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा एलपीजी उपभोक्ता बन गया। पेट्रोलियम मंत्रालय के अनुमान के मुताबिक 2025 में रसोई गैस की खपत बढ़कर 303 मिलियन टन हो जाएगी। 2040 में यह आंकड़ा 40.6 मिलियन टन हो जाएगा।

भारत में एलपीजी उपभोक्ताओं की स्थिति
भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा एलजीपी गैस उपभोक्ता देश है। देश में एलपीजी की मांग 2025 तक 34% बढ़ने की उम्मीद है। एलपीजी उपभोक्ताओं की संख्या में हर साल 15 प्रतिशत की वृद्धि हो रही है। एलपीजी उपभोक्ताओं की संख्या, जो 2014-15 में 148 मिलियन थी, 2017-18 में बढ़कर 224 मिलियन हो गई। जनसंख्या में तेजी से वृद्धि और ग्रामीण क्षेत्रों में एलपीजी की बढ़ती पहुंच के कारण एलपीजी की खपत में औसतन 8.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इसके साथ, भारत 22.5 मिलियन टन के साथ दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा एलपीजी उपभोक्ता बन गया। पेट्रोलियम मंत्रालय के अनुमान के मुताबिक 2025 में रसोई गैस की खपत बढ़कर 303 मिलियन टन हो जाएगी। 2040 में यह आंकड़ा 40.6 मिलियन टन हो जाएगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments