Home trending Bhopal – Nagpur Highway : बारिश के कारण नागपुर-भोपाल नेशनल हाइवे बंद...

Bhopal – Nagpur Highway : बारिश के कारण नागपुर-भोपाल नेशनल हाइवे बंद ,शाहपुर में माचना नदी उफान पर

शाहपुर{Bhopal – Nagpur Highway} – लगातार हो रही बारिश मुसीबत बन रही है । बारिश के चलते नदी नाले उफान पर है । शनिवार की दोपहर नागपुर भोपाल हाईवे 69 पांचवी बार बंद हो गया है । शनिवार की दोपहर से माचना नदी का पानी पुल के ऊपर से बह रहा है । नेशनल हाईवे का यातायात प्रभावित हुआ है शाहपुर में माचना नदी के दोनों किनारे वाहन खड़े हुए हैं ।

बारिश से नदी नाले उफान पर हैं नेशनल हाईवे 69 पर स्थित शाहपुर में माचना नदी का पानी पुल के ऊपर से बह रहा है । नदी नालों में बाढ़ के कारण कई स्थानों पर मिट्टी का कटाव हो रहा है । बाढ़ की स्थिति को देखते हुए प्रशासन चिन्हित स्थानों पर पैनी नजर रखे हुए हैं ।

जिले में 30 और बैतूल में हुई 25 इंच बारिश

बैतूल। जिले में शुक्रवार सुबह से शाम तक बारिश से राहत मिली थी लेकिन शुक्रवार मध्य रात्रि से शुरू हुआ बारिश का सिलसिला शनिवार दोपहर तक चलते रहा। शुक्रवार रात्रि से शनिवार सुबह तक एक इंच बारिश दर्ज की गई है। जिले में औसत बारिश का आंकड़ा जहां 30 इंच पूरा हो चुका है वहीं बैतूल ब्लाक में 25 इंच बारिश दर्ज की गई है। बारिश का यदि यही क्रम चलते रहा तो निश्चित रूप से जुलाई के अंत तक औसत बारिश का आंकड़ा 40 इंच पर पहुंच जाएगा। बहरहाल बेहताशा हो रही बारिश से सबसे अधिक नुकसान फसलों को होना प्रारंभ हो गया है। खेतों में पानी निकासी नहीं होने से फसलें पीली पडऩे लगी है और उनमें सडऩ होने का खतरा मंडराने लगा है। किसानों का कहना है कि कम से कम एक से दो सप्ताह तक अब बतर की आवश्यकता है वरना किसानों को बड़ा नुकसान उठाना पड़ेगा।

नदी-नाले आए उफान पर

जिले में एक बार फिर धुआंधार और मूसलाधार बारिश शुरू हो गई है। रात से ही जिले भर में भारी बारिश हो रही है। इसके चलते जिले की प्रमुख माचना सहित अन्य नदी और नाले उफान पर हैं। भारी बारिश के चलते लोग घरों में कैद होकर रह गए हैं। बारिश ने जनजीवन को खासा प्रभावित कर रखा है। इसी के साथ अन्य नदी-नाले भी उफान पर आ गए हैं।

शुक्रवार दिन भर मिली थी राहत

शुक्रवार को कई दिनों बाद मौसम थोड़ा खुला था। हालांकि हलकी फुहारें कल भी बरसी थीं, लेकिन इससे कोई काम-काज प्रभावित नहीं हुआ। मौसम के तेवर देख लोगों को लग रहा था कि अब थोड़ी राहत मिलेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। शुक्रवार की रात होते ही बारिश एक बार फिर शुरू हो गई। रात से जिले के सभी क्षेत्रों में एक जैसी मूसलाधार बारिश हो रही है।

करबला में बाढ़ से बंद हुआ यातायात

रात से हो रही मूसलाधार बारिश ने आज सुबह से ही जिले के अधिकांश रास्ते बंद कर रखे हैं। जिला मुख्यालय पर माचना नदी भी उफान पर है। इसके चलते करबला नदी के पुल के ऊपर से पानी जा रहा है। यही कारण है कि बैतूल-इंदौर नेशनल हाईवे सुबह से बंद है। हालांकि हाईवे तक पहुंचने के अन्य रास्ते होने के कारण इससे आवाजाही पूरी तरह से ठप नहीं पड़ी है।

घरों में कैद हुए लोग

अभी शाहपुर में माचना नदी के पुल तक तो पानी नहीं पहुंचा है, लेकिन इसी तरह बारिश होती रही तो जल्द ही पुल के ऊपर पानी आ जाएगा। ऐसे में वहां हाईवे से आवाजाही बंद हो सकती है। इसके अलावा जिले के अन्य क्षेत्रों में भी नदी-नाले उफान पर हैं। ऐसे में जहां पुल की व्यवस्था नहीं है वहां आवाजाही ठप है। भारी बारिश के चलते लोग घरों से निकल ही नहीं पा रहे हैं।

बारिश तोड़ रही पुराने रिकार्ड

इस साल जिले में बारिश के लगभग सभी रिकॉर्ड टूट चुके हैं। शुक्रवार की सुबह तक जिले में औसत एक इंच बारिश हो चुकी है। इसके साथ ही इस सीजन में अभी तक 30 इंच बारिश हो चुकी है। अभी बारिश का सीजन 2 माह से अधिक का बाकी है। पिछले साल आज तक की स्थिति में लगभग 19 इंच बारिश ही हुई थी। अगर ऐसे ही बारिश का सिलसिला चलते रहा तो निश्चित रूप से बारिश सभी पुराने रिकार्ड इस बार तोड़ देगी।

नहीं सूख पा रहे हैं कपड़े

लगातार हो रही बारिश से स्थिति यह हो गई कि कपड़े भी नही सूख पा रहे हैं वहीं घरों में सीलन होने लगी है। कपड़े नहीं सूखने से जहां लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है वहीं घरों में सीलन आ जाने से दुर्गंध भी आने लगी है। नागरिकों का कहना है कि अब तो बारिश का सिलसिला थमना चाहिए और कम से कम एक सप्ताह तक तेज धूप खिलना चाहिए ताकि नमी दूर हो सकें वहीं फसलों को भी इसका लाभ मिल सके।

आठनेर-मासोद मार्ग बंद, डेम के खोले 7 गेट

पुलिस से मिली जानकारी अनुसार बारिश से आठनेर- मासोद मार्ग बंद हो गया है। इसके अलावा सतपुड़ा जलाशय के जलस्तर को मेंटेन करने के लिए शनिवार दोपहर 12 बजे के दरम्यिान सात गेट 6-6 फीट खोल दिए गए हैं। सतपुड़ा जलाशय के गेट खोल दिए जाने से नदियों में बाढ़ की स्थिति बन सकती है।

अंडर ब्रिज हुआ लबालब

बीती रात्रि से जारी बारिश के कारण माचना नदी में भी बाढ़ आ गई है। इसके अलावा हो रही तेज बारिश से अंडर ब्रिज भी लबालब हो गया है। वहीं हाथी नाले का पुल भी आधे से अधिक भरा हुआ चल रहा है। बारिश के कारण पूरी तरह से जन जीवन अस्त-व्यस्त हो चुका है। शहर से रामनगर जाने वाले लोगों को स्टेशन होते हुए या फिर सदर ब्रिज से होकर जाने को मजबूर होना पड़ा।