spot_img
Homejob alertGovt job: मध्य प्रदेश में होगी इतने पदों पर वन रक्षक...

Govt job: मध्य प्रदेश में होगी इतने पदों पर वन रक्षक भर्ती जाने पूरी डिटेल्स।

Govt job:मध्य प्रदेश में होगी इतने पदों पर वन रक्षक भर्ती जाने पूरी डिटेल्स। मध्यप्रदेश में एक लाख कर्मचारियों की भर्ती की जा रही है। इसी क्रम में वन विभाग में 1772 वन रक्षक, 37 स्टेनो टायपिस्ट, 30 कार्टोग्राफर व 87 सहायक ग्रेड-तीन (लिपिक) की भर्ती की जा रही है. सरकार ने इन पदों को मंजूरी दे दी है। अब इस भर्ती के लिए विज्ञापन जारी किए जाएंगे। दूसरी ओर संविदा, स्थायी कर्मियों व कम्प्यूटर आपरेटरों ने विरोध दर्ज कराया है। मध्य प्रदेश में होगी इतने पदों पर वन रक्षक भर्ती जाने पूरी डिटेल्स। कर्मचारियों का कहना है कि बिना पर्याप्त अवसर दिए सीधी भर्ती से पदों को भरा जा रहा है। मध्य प्रदेश कर्मचारी मंच ने इसे लेकर हाईकोर्ट में याचिका दायर करने की घोषणा की है।

मध्य प्रदेश में होगी इतने पदों पर वन रक्षक भर्ती जाने पूरी डिटेल्स।


बैतूल जिले में सर्वाधिक 191, सागर में 150 तथा बालाघाट में 147 वन रक्षकों की भर्ती की जा रही है। वहीं, ज्यादातर जिलों में क्लर्क के पदों पर भी भर्ती की जाएगी। इसको लेकर कर्मचारी नाराज हैं क्योंकि 10 साल की सेवा के बाद भी उन्हें भर्ती में प्राथमिकता नहीं दी जा रही है.

मध्य प्रदेश में होगी इतने पदों पर वन रक्षक भर्ती जाने पूरी डिटेल्स। अध्यक्ष अशोक पाण्डेय का कहना है कि विभिन्न विभागों में स्थाई कर्मचारी, ठेका कर्मचारी, अंशकालीन कर्मचारी व कम्प्यूटर आपरेटर कार्यरत हैं. इनमें से अधिकतर कर्मचारी 10 साल से अधिक समय से सेवा दे रहे हैं।

मध्य प्रदेश में होगी इतने पदों पर वन रक्षक भर्ती जाने पूरी डिटेल्स।

job


मध्य प्रदेश में होगी इतने पदों पर वन रक्षक भर्ती जाने पूरी डिटेल्स। उन्होंने कहा कि उमा देवी बनाम कर्नाटक सरकार के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 10 अप्रैल 2006 को फैसला सुनाया है कि कलेक्टर रेट पर सरकारी विभागों में कार्यरत दैनिक वेतन भोगियों को 10वीं पूरी करने के बाद रिक्त पदों पर नियमित नियुक्ति दी जाए. सेवा के वर्ष। राज्य सरकार कोर्ट के इस आदेश की अवहेलना कर रही है। विभागों में कार्यरत अनियमित कर्मचारियों के भविष्य से खिलवाड़ करते हुए रिक्त पदों पर सीधी भर्ती की जा रही है. यदि पद नहीं होंगे तो उक्त संवर्ग के संविदा-स्थायी कर्मचारियों को नियमितिकरण का अधिकार प्राप्त नहीं होगा। इसलिए फोरम ने हाईकोर्ट में याचिका दायर करने का फैसला किया है।

यह भी पड़े: Satyendra Jain Video – जेल के अंदर मसाज के बाद अब नया वीडियो हुआ वायरल, AAP मंत्री का वजन भी हुआ कम  

RELATED ARTICLES

Most Popular