Betul News | तेंदू पत्ता तोडऩे को लेकर मचा बवाल

घोघरा समिति ने रोका ग्रामीणों का रास्ता

Betul Newsभीमपुरब्लॉक के ग्राम रातामाटी घोघरा में घाट ताप्ती नदी के समीप वन समिति ने तेंदूपत्ता तोडऩे गए ग्रामीणों को तेंदू पत्ता तोडऩे से मना कर दिया। बताया गया कि दक्षिण वन मंडल क्षेत्र के ग्रामीण जनता की किनारे घोघरा घाट पश्चिमी वन मंडल क्षेत्र में जाने के लिए जो वन समिति बनाई गई है उनके द्वारा मना किया जा रहा है। वही वन विभाग के कर्मचारियों ने बताया की जो घोघरा वन समिति बनी है समिति का कहना है कि हमें जो जंगल सुरक्षा के लिए दिया गया है उन जंगलों में दूसरे लोग पत्ता नहीं तोडेंग़े। अपने जंगलों में जाकर तेंदूपत्ता तोड़ो हमारे इस क्षेत्र में क्यों आए हो। इसको लेकर लगभग 100 से 150 ग्रामीणजन ताप्ती नदी के समीप मेन रोड पर समिति और कुछ फॉरेस्ट कर्मचारियों के बीच नोक झोंक हो गई।

इस बात को लेकर वन समिति और ग्रामीणों मे ंबड़ा विवाद हो सकता था इसके पहले मौके पर वन विभाग की कर्मचारियों ने मोर्चा संभाला और सभी ग्रामीणों को समझाईश दी कि सभी अपने-अपने बताए गए क्षेत्र में पत्ते की तुड़ाई करें। समिति का टारगेट पूरा हो जाता है उसके बाद आप पश्चिमी वन मंडल क्षेत्र में भी आ सकते हो।

पश्चिम वनमंडल क्षेत्र की रेंजर शैलेंद्र चौरसिया का कहना है कि घोघरा समिति वालों ने विरोध किया था कि बाहर के लोग आकर तेंदुपत्ता तोड़ रहे हैं। जो कि चांदू और गोलाढाना तरफ के लोग हैं। जंगल का ऐरिया समिति को अलॉट किया जाता है। उसकी सुरक्षा समिति करती है और रिसोर्स का उपयोग भी वही लोग कर सकते हैं। दूसरी समिति के लोग नहीं कर सकते हैं। पहला अधिकार उन्हीं का रहता है। समिति के विरोध पर स्टाफ को भेजा गया था। श्री चौरसिया ने बताया कि जब तक फड़ चालू है तब तक वो ही लोग तेंदूपत्ता तोड़ सकते हैं, यह लोग नहीं जा सकते हैं। इनकी जो समिति होगी वहां पर यह लोग पत्ता तोड़े। समिति का टारगेट होता है, अगर बाहर के लोग पत्ता तोड़ेंगे तो उस पर असर पड़ता है।

2 thoughts on “Betul News | तेंदू पत्ता तोडऩे को लेकर मचा बवाल”

Comments are closed.