Govinda In 1999 – मशहूर एक्ट्रेस की वजह से नहीं किया इस फिल्म में काम 

इसी के बाद आया एक्टर का बुरा वक़्त 

Govinda In 199990 के दशक में, गोविंदा बॉलीवुड के एक प्रमुख अभिनेता थे जिनकी फिल्में उत्साह से लोकप्रियता प्राप्त करती थीं। उन्होंने अपने करियर में विविध फिल्मों में अभिनय किया और कई चर्चित फिल्में प्रस्तुत की। चाहे वह कॉमेडी दिखाएं, एक्शन करें, या भावनात्मक रूप से प्रस्तुति दें, उनका अभिनय प्रत्येक पात्र में उत्कृष्ट था। लेकिन धीरे-धीरे, उनका करियर स्थिरता की दिशा में बदल गया और अब वे फिल्म जगत से अलग हो गए हैं।

एक समय ऐसा आया था जब गोविंदा बॉलीवुड के प्रमुख कलाकारों में गिना जाता था। वह एक प्रतिष्ठित सुपरस्टार थे, और उनकी फिल्मों का इंतजार था। उनका अभिनय स्तर अद्भुत था। आज हम आपसे इस बारे में विस्तृत रूप में चर्चा करेंगे कि कैसे गोविंदा की फिल्मों का जमाना बदल गया।

गोविंदा के लिए विशेष रूप में किया गया था लेखन | Govinda In 1999  

1999 के समय की बात है, जब ‘बीवी नं 1’ नामक फिल्म सिनेमा हॉल में प्रदर्शित हुई थी। संवादिक अनुसंधान के अनुसार, इस फिल्म का लेखन गोविंदा के लिए विशेष रूप में किया गया था। उस समय, करिश्मा कपूर के साथ गोविंदा की जोड़ी बहुत प्रसिद्ध थी और उनकी मिलनसर फिल्में अधिकतर हिट होती थीं।

सुष्मिता सेन के साथ मिलकर काम नहीं करना था

गोविंदा इस फिल्म में भाग लेने को तैयार थे, परंतु उन्हें सुष्मिता सेन के साथ मिलकर काम नहीं करना था। जब यह बात फिल्म निर्माताओं तक पहुंची, उन्होंने सुष्मिता को फिल्म से हटाने का निर्णय लिया और इस परिणामस्वरूप, गोविंदा भी फिल्म में भाग नहीं लेने का फैसला किया।

वास्तविकता यह थी कि गोविंदा सुष्मिता सेन के साथ साझा अभिनय नहीं करना चाहते थे। जब उन्होंने भाग लेने से इंकार किया, तो यह फिल्म सलमान खान की दिशा में परिवर्तित हो गई। आखिरकार, इस फिल्म को सलमान खान के साथ प्रस्तुत किया गया, जिसमें करिश्मा कपूर और सुष्मिता सेन भी प्रमुख भूमिकाओं में थीं।

बॉक्स ऑफिस पर धमाल | Govinda In 1999 

जब इस फिल्म ने प्रदर्शन किया, तो वह बॉक्स ऑफिस पर धमाल मचा दिया, जिससे सलमान खान का प्रतिष्ठान और बढ़ गया। लेकिन इसी वक्त, गोविंदा के करियर को एक बड़ा झटका पहुंचा। जब उन्होंने इस फिल्म के प्रस्ताव को इनकार किया, उसके बाद से उनकी करियर में गिरावट आनी शुरू हो गई।

बॉक्स ऑफिस इंडिया की रिपोर्ट्स के अनुसार, 1999 के बाद सिर्फ दो सफल फिल्में और कुछ मध्यम प्रदर्शित फिल्मों के अलावा, गोविंदा की अधिकतर फिल्में नाकामयाब रहीं। इसके परिणामस्वरूप, गोविंदा के फिल्म जगत में उनकी उपस्थिति कम होने लगी।

165 से अधिक हिंदी और पंजाबी फिल्मों में योगदान

यह जानकर आपको आश्चर्य होगा कि गोविंदा ने 165 से अधिक हिंदी और पंजाबी फिल्मों में अपना योगदान दिया है और उन्हें भारत में शीर्ष अभिनेताओं में स्थान दिया गया है। उनके अद्वितीय अभिनय और डांस कौशल के लिए वे विख्यात हैं।

Source Internet