Saturday, August 13, 2022
spot_img
HomeबैतूलElection : जिपं चुनाव में भाई और दोस्त आमने-सामने

Election : जिपं चुनाव में भाई और दोस्त आमने-सामने

वार्ड क्रमांक 19 से सुखदेव पांसे ने भरा नामांकन, सबकी निगाहे वार्ड क्रमांक 2 पर

बैतूल – नामांकन और जांच के बाद जिला पंचायत के 23 वार्डों में नामांकन प्रक्रिया के बाद स्क्रूटनी का कार्य पूर्ण हो गया है। कुछ नामांकन निरस्त हुए और बताया जा रहा है कि कुछ नामांकन वापस भी हुए हैं। 10 जून तक नाम वापसी का समय है। वैसे तो नाम वापसी के बाद ही जिला पंचायत चुनाव की स्थिति स्पष्ट होगी। लेकिन कई वार्डों में जिस तरह से दावेदारों ने फार्म भरा है उससे ऐसा प्रतीत होता है कि कई जगह भाजपा समर्थित एक से अधिक उम्मीदवार मैदान में रहेंगे। कई मुक्त सीटों पर भी महिलाओं ने नामांकन कर दिया है।

जिला पंचायत अध्यक्ष पद अनारक्षित है और इसलिए इस पद पर आसीन होने की चाह में कई दिग्गज जिप सदस्य बनने के लिए मैदान में उतर रहे हैं। इनमें वरिष्ठ नेता एवं भाजपा की राष्ट्रीय कार्य परिषद के सदस्य रहे दुर्गाचरण किलेदार उर्फ राजा ठाकुर, पूर्व जिपं उपाध्यक्ष राजा पंवार, लंबे समय तक भाजपा में कई जिम्मेदार संभाल चुके सतीष पाठा, कांग्रेस के युवा नेता हर्षवर्धन धोटे एवं भाजपा व्यवसायिक प्रकोष्ठ के नर्मदापुरम संभाग के सहसंयोजक एवं विविएम कालेज के संचालक निर्गुण देशमुख शामिल है।

अभी तक की स्थिति में यह स्पष्ट हो रहा है कि जरूरी नहीं है कि पुरूष वर्ग से ही अध्यक्ष बने। निर्वाचित महिला नेत्री भी अध्यक्ष पद की दावेदार हो सकती है। इनमें मुलताई क्षेत्र के वार्ड क्रं. 11 से मैदान में उतरी वरिष्ठ कांग्रेस नेता बलराम बारंगे की पत्नी एवं क्षेत्र के तीन बार के विधायक रहे स्व. मनीराम बारंगे की बहू सरिता बलराम बारंगे, आठनेर क्षेत्र के वार्ड क्रमांक 20 से चुनाव लड़ रही पूर्व जिपं अध्यक्ष एवं दिग्गज भाजपा नेता रहे स्व. मानिकराव महस्की की बहू लता महस्की एवं इसी वार्ड से कांग्रेस से लड़ रही प्रवीणा खलतकर, वार्ड क्रं. 9 चिचोली क्षेत्र से लड़ रही पूर्व न्यायाधीश सावित्री कुमरे प्रमुख है।

विविएम के दो डायरेक्टर आमने-सामने

जिपं निर्वाचन क्षेत्र क्रं. 2 अनारक्षित मुक्त है और नामांकन भरे जाने की स्थिति तक 12 उम्मीदवारों ने फार्म भरा है। इनमें विविएम कालेज के संचालक एवं कांग्रेस नेता विजय साबले तथा विविएम के ही दूसरे संचालक एवं भाजपा नेता निर्गुण देशमुख शामिल है। देखना यह है कि नाम वापसी तक इनमें से कौन फार्म वापस लेता है या दोनों ही आमने-सामने चुनाव लड़ते हैं।

सिर्फ एक क्षेत्र में ही दो उम्मीदवार

जिले की 23 सीटों में से सिर्फ मुलताई क्षेत्र के निर्वाचन क्रं. 10 से दो उम्मीदवार मैदान में है। इनमें भाजपा के दिग्गज नेता पूर्व जिप उपाध्यक्ष एवं दो बार मुलताई क्षेत्र से विधानसभा चुनाव लड़ चुके राजा पंवार प्रमुख नाम है। वहीं इनके सामने कांग्रेस समर्थित युवा नेता के रूप में हर्षवर्धन धोटे चुनाव लड़ रहे हैं। हर्षवर्धन धोटे पूर्व में दिल्ली में वकालत कर चुके हैं और इनके पिता नारायण धोटे वर्तमान में कांग्रेस के ओबीसी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष हैं।

सुखदेव पांसे भी लड़ रहे जिप चुनाव

जिले के वार्ड क्रं. 19 अनुसूचित जनजाति मुक्त भंैसदेही क्षेत्र से 8 लोगों ने नामांकन भरा है। इनमें पूर्व जिपं सदस्य काशी राम पांसे, सुखदेव पांसे, कमल सिंह धुर्वे, रामचरण इड़पाचे, मनोहर कास्देकर, उर्मिला उइके, जिलेसिंग परते एवं रामराव जानू शामिल है।

सबकी निगाह वार्ड क्रं. 2 पर

बैतूल जिला मुख्यालय से जुड़े हुए जिपं वार्ड क्रं. 2 पर सबकी निगाह लगी हुई है। अनारक्षित मुक्त इस क्षेत्र से कांग्रेस नेता नारायण सरले एवं पूर्व मंत्री स्व. अशोक साबले के भाई विजय साबले ने फार्म भरा है। तो भाजपा विचारधारा के कई प्रमुख नेता भी अभी तक मैदान में दिख रहे हैं। इनमें सतीष पाठा, निर्गुण देशमुख, शैलेंद्र कुंभारे और कमलेश रावत शामिल है। कमलेश रावत की पत्नी को पिछली बार भाजपा ने अपना समर्थक उम्मीदवार घोषित किया था लेकिन उस समय चुनाव रद्द हो गए थे। देखना है कि भाजपा और कांग्रेस किसे अपना समर्थन देती है।

एक ही वार्ड से दो सगे भाईयों ने भरा नामांकन

दो बार रिकार्ड मतों से आमला विधानसभा से भाजपा उम्मीदवार के रूप में चुनाव जीत चुके पूर्व विधायक चैतराम मानेकर के वैसे तो तीन पुत्र हैं जिनमेें से दो पुत्रों ने जिपं के आमला क्षेत्र के वार्ड 14 से नामांकन भरा है। हरीश चैतराम मानेकर एवं हर्षदीप चैतराम मानेकर के अलावा इस वार्ड से 11 अन्य नामांकन भराए हैं। नाम वापसी तक स्थिति स्पष्ट होगी। राजनैतिक समीक्षकों का ऐसा कयास है कि चैतराम मानेकर के दोनों पुत्र चुनाव लड़ेंगे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments