spot_img
HometrendingAspatal Me Nikli Rare Chhipkali : अस्पताल में निकली दुनिया की दुर्लभ...

Aspatal Me Nikli Rare Chhipkali : अस्पताल में निकली दुनिया की दुर्लभ छिपकली लियोपर्ड गेको

अस्पताल के कर्मचारियों में मचा हडक़म्प, सर्पमित्र किया रेस्क्यू

सारणी{Aspatal Me Nikli Rare Chhipkali} – नगर में स्थित मध्य प्रदेश पावर जेनरेटिंग कंपनी के अस्पताल में सोमवार को दुर्लभ छिपकली दिखाई दी। जिससे कि अस्पताल के कर्मचारियों में हडक़ंप मच गया। अस्पताल प्रबंधन द्वारा सर्पमित्र आदिल खान को इसकी सूचना दी गई। आदिल खान ने मौके पर पहुंचकर इस दुर्लभ छिपकली का रेस्क्यू किया।

तेज आवाज निकाल रही थी छिपकली

वन्य प्राणियों और प्रकृति के संरक्षण का कार्य कर रहें सारनी के आदिल खान ने बताया कि उन्हें सारनी के मध्यप्रदेश पावर जनरेटिंग कंपनी अस्पताल से कर्मचारियों का फोन आया था, फोन पर सांप के फुफकारने की सूचना दी गई थी। जब आदिल वहां रेस्क्यू करने पहुंचे तो पाया कि एक दुर्लभ छिपकली अस्पताल परिसर में बैठी तेज़ आवाज़ निकाल रही थी। जिसको सतपुड़ा लियोपर्ड गेको के नाम से जाना जाता हैं। आदिल ने सुझबूझ से छिपकली का सुरक्षित रेस्क्यू किया।

महाराष्ट्र-छत्तीसगढ़ में पाई जाती है प्रजाति

आदिल ने बताया कि यह छिपकली मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र व छत्तीसगढ़ में पायी जाती है। यह स्थानिक (endemic)  हैं, पूरी दुनिया में यहां सिर्फ मध्य भारत के जंगलों में ही पाई जाती है। यह रात के समय एक्टिव होती हैं और कीड़े मकोड़े इनका मुख्य भोजन हैं । आदिल ने बताया दिखने में यह छिपकली बेहद आकर्षक होती हैं, खतरा महसूस होने पर यह छिपकली तेज़ी से भाग जाती हैं या तेज़ आवाज़ निकालती है। यह छिपकली लगभग 20 सेंटीमीटर तक बड़ी हो सकती है। आदिल ने यह भी बताया कि ये छिपकली विषहीन होती हैं और इंसानो को किसी तरह से नुकसान नहीं पहुंचाती, इन्हें विशेष संरक्षण देने की भी आवश्यकता है।

RELATED ARTICLES

Most Popular