spot_img
HometrendingAadivasiyon ka virodh : भाजपा सांसद को झेलना पड़ा आदिवासियों का उग्र...

Aadivasiyon ka virodh : भाजपा सांसद को झेलना पड़ा आदिवासियों का उग्र विरोध, पूछा: जब हम पर अत्याचार होते तो आप कहां जाते

बैतूल{Aadivasiyon ka virodh} – सोशल मीडिया पर एक वीडियो जमकर वायरल हो रहा है जिसमें आदिवासी समाज के लोग भाजपा सांसद दुर्गादास उइके का विरोध करते नजर आ रहे हैं। इस वीडियो को आदिवासियों के लिए कार्य कर रहे डॉ. आनंद राय ने भी अपने ट्वीटर एकाउंट पर शेयर किया है।

उन्होंने लिखा बैतूल सांसद को आदिवासियों का तीव्र विरोध झेलना पड़ा। दरअसल त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर तीसरे चरण का चुनाव होना है जिसको लेकर भाजपा सांसद दुर्गादास उइके जिला पंचायत सदस्य वार्ड क्रमांक 23 के डढारी कुटंगा गांव में जनसम्पर्क कर रहे थे। यहां से भाजपा समर्थित उम्मीदवार अनिल उइके चुनाव लड़ रहे हैं। श्री उइके के साथ पूर्व विधायक महेन्द्र सिंह चौहान और सांसद प्रतिनिधि विजय शुक्ला भी मौजूद थे।

वीडियो में दिख रहा है डढारी कुटंगा गांव में मीटिंग शुरू हुई और जैसे ही सांसद ने बोलना शुरू किया वैसे ही कुछ आदिवासी समाज के युवाओं ने उनकी बात काटते हुए कहा कि आपकी जिम्मेदारी है पहले जनता की बात सुने। सांसद बनने के बाद कितने बार आप भीमपुर आए हैं। आदिवासियों पर अत्याचार होते हैं तो आप कहां जाते हैं। भीमपुर में आदिवासियों के साथ पीटाई होती है तो एक भी आदिवासी नेता आवाज नहीं उठाता है। आप आदिवासियों की वोट से सांसद बनते हैं, आप भाजपा की बात करते हैं। भाजपा ने 75 रूपए का पेट्रोल 120 रूपए पर पहुंचा दिया, भाजपा ने महंगाई बढ़ा दी। भाजपा ने कोई रोजगार नहीं दिया जिसके कारण हम लोग बेरोजगार है। पूरे प्रदेश में आदिवासियों पर अत्याचार हो रहे हैं।

इस उग्र विरोध को देखते हुए सांसद श्री उइके ने बात को सम्भालने की कोशिश की और उन्होंने कहा कि इन युवाओं की समस्या सुनो। साथ ही उन्होंने माहौल को सामान्य करने की कोशिश में कहा कि हमने जो वादा किया है हम पूरा करेंगे, लेकिन आदिवासी युवाओं ने कहा कि अब आपके 6 माह बचे हैं तो क्या करेंगे। इस दौरान पूर्व विधायक महेन्द्र सिंह चौहान ने भी युवाओं को समझाने की कोशिश की।

RELATED ARTICLES

Most Popular