यह फल्ली साल मे 2 बार देती उत्पादन किसनो को कर देती है माला मॉल लाखो का करवाती है मुनाफा

इस फल्ली की खेती से होता है बम्पर मुनाफा, साल में देती है दो बार उत्पादन, होंगी लाखो की कमाई। आज कल किसान पारम्परिक खेती छोड़ कर उन्नत खेती की ओर भी ध्यान दे रहे है ऐसे में बता दे की सहजन की खेती भी मुनाफे वाली हो सकती है और तो अलग-अलग समय में इसकी कीमत 80 से 200 रुपये प्रत‍ि क‍िलो तक के आसपास रहती है.

यह फल्ली साल मे 2 बार देती उत्पादन किसनो को कर देती है माला मॉल लाखो का करवाती है मुनाफा

दाम और गुणों की वजह से पिछले कुछ सालों से सहजन की खेती की लोकप्रियता किसानों के बीच बहुत तेजी से बढ़ी है. क्योंकि यह कम लागत में किसानों को अच्छी खासी कमाई करा देता है. इसकी जितनी मांग सब्जी के रूप में है, उतनी ही औषधीय इस्तेमाल के लिए भी है. तो आज जानते है इसकी उन्नत किस्मो के बारे में.

कोयम्बटूर 2 सहजन की किस्म

इस किस्म के बारे में बात करे तो फली का रंग गहरा हरा और स्वादिष्ट होता है. वही पौधा लगभग तीन से चार साल तक उपज देता है. अगर पौधे से उपज सही समय पर नहीं लिया जाए, तो इसका बाजार मूल्य कम हो जाता है.

यह भी पढ़े : Realme 11x 5G – 64MP कैमरा और 16GB के साथ Realme के लांच किया धाकड़ स्मार्टफोन, जानें कीमत,

पीकेएम 1 सहजन की किस्म

पीकेएम-1 किस्म के बारे में बताये तो सहजन की एक बहुत उन्नत किस्म है. अन्य किस्मों की तुलना में इसकी फली का स्वाद काफी बेहतर होता है. वही इस किस्म के पौधों से लगातार चार साल तक फली प्राप्त होती रहती है. पौधों में 90 से 100 दिनों बाद फूल आना शुरू हो जाता है. इसकी फली की लंबाई लगभग 45 से 75 सेंटीमीटर की होती है. साथ ही इस किस्म से साल में लगभग चार बार फली की प्राप्ति होती है. यही वजह है की इसकी खेती किसानों के फायदेमंद है.

साल में दो बार लगती है सहजन में फलियां

आपको बता दे की सहजन की खेती को नकदी और व्यावसायिक लाभ देने वाली फसल भी माना जाता है. बाजार में सहजन के फूल और छोटे-छोटे सहजन से लेकर बड़े सहजन के फलों का अच्छा दाम मिलता है. इसके अलावा सहजन के बीजों से तेल निकाल कर उसे भी उपयोग में लाया जाता है. इसकी फलियां साल में दो बार लगती हैं. इसका पौधा लगाने के दस महीने बाद फल देने लगता है और अगले चार साल तक उत्‍पादन देता रहता है.  सहजन के पौधों की मुख्य विशेषता यह हैं कि इसके एक बार बुवाई कर देने के बाद यह चार साल तक उपज देता हैं. इसके पौधों को अधिक जमीन की आवश्यकता नहीं होती इसे घर के बगल में भी लगा सकते हैं. इसके पेड़ को न ही ज्यादा पानी की आवश्यकता होती हैं और न ही इसका ज्यादा रखरखाव करना पड़ता है.

सहजन से मुनाफा

जैसा की आप जानते ही है की बाज़ार में सहजन के फल, फूल और पत्तियों की मांग हमेशा रहती है. एक हेक्टेयर में सहजन के लगभग 400 से 500 पेड़ लगाए जा सकते हैं इसकी प्रति हेक्टेयर लागत 70-75 हज़ार रुपये बैठती है. सहजान के एक पेड़ से एक सीज़न में औसतन 200 से 300 फलियाँ प्राप्त होती हैं. इनका वजन 40 से 50 किलो तक होता है. इससे प्रति हेक्टेयर 1600 से 2000 किलो तक सहजन पैदा होता है, जो बाज़ार में एक से दो लाख रुपये तक बिकता है. लेकिन सहजन की उपज साल में दो बार मिलती है और इसकी किस्में कम से कम पाँच साल तक उपज देती हैं, लिहाज़ा सहजन की खेती कम लागत में शानदार मुनाफ़ा किसानों को मिलता हैं. 

यह फल्ली साल मे 2 बार देती उत्पादन किसनो को कर देती है माला मॉल लाखो का करवाती है मुनाफा

यह भी पढ़े : कृषि समाचार : सोयाबीन में लग रहे है इस प्रकार के पिले घातक रोग तो किसान इस प्रकार करे रोक थाम सोयाबीन होगी हरी भरी पड़े उपाय

Leave a Comment