अयोध्या राम मंदिर के पुजारियों की सैलरी तय! मोबाइल फ़ोन ले जाने पर कोई पाबंदी नहीं

By
Last updated:
Follow Us

अयोध्या राम मंदिर के पुजारियों की सैलरी तय! मोबाइल फ़ोन ले जाने पर कोई पाबंदी नहीं, श्री रामजन्मभूमि में रामलला की सेवा और पूजा करने वाले अष्टयाम सेवा के 20 नव नियुक्त पुजारियों का वेतन तय हो गया है. हालांकि, वेतन सार्वजनिक नहीं किया गया है. लेकिन, पुजारियों को इसकी जानकारी दे दी गई है. इसके अलावा, ट्रस्ट बोर्ड ने तीर्थ क्षेत्र के स्थायी पुजारियों को मिलने वाली अनुमन्य सुविधाएं देने के बारे में भी बताया है.

ये भी पढ़े- रेलवे स्टेशनों के बोर्ड पर क्यों लिखी हुई होती है ‘समुद्र तल से ऊंचाई’! जाने इसके पीछे की वजह…

बता दें कि प्रशिक्षण अवधि के दौरान इन पुजारियों को दो हजार रुपये प्रति माह मानदेय दिया जा रहा था. वहीं, जुलाई महीने के अंत में सीधे उनके खाते में तयशुदा वेतन राशि ट्रांसफर कर दी जाएगी.

इससे पहले, अक्टूबर 2023 में राम मंदिर के मुख्य पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास शास्त्री के अलावा चार सहायक पुजारी अशोक उपाध्याय, संतोष कुमार तिवारी, प्रदीप दास और प्रेम कुमार तिवारी, कोठारी और भंडारी और एक सहायक का वेतन बढ़ाया गया था. साथ ही कई तरह की सुविधाएं देने की भी घोषणा की गई थी. ये सभी सुविधाएं अब इन नए पुजारियों को भी मिलेंगी.

फिलहाल, प्रशिक्षण अवधि पूरी होने के बाद नव नियुक्त पुजारियों को तीर्थ क्षेत्र के कार्यालय से अलग रहने का प्रबंध स्वयं करना होगा क्योंकि जब दूसरे बैच का प्रशिक्षण शुरू होगा तो यहां संबंधित बैच के प्रशिक्षुओं को रहने की व्यवस्था कराई जाएगी.

ये भी पढ़े- रेलवे स्टेशन पर प्लेटफॉर्म टिकट लेकर भी लग सकता है जुर्माना, जानें ये जरूरी नियम!

एंड्रॉयड फोन पर कोई पाबंदी नहीं, गर्भगृह में मोबाइल नहीं ले जा सकेंगे

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने पुजारियों द्वारा राम मंदिर में एंड्रॉयड फोन के इस्तेमाल पर रोक लगाने के फैसले को वापस ले लिया है. पुजारी मंदिर परिसर में एंड्रॉयड फोन ले तो सकेंगे लेकिन गर्भगृह में मोबाइल का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे. पुजारी गर्भगृह में प्रवेश करने से पहले मोबाइल को लॉकर में जमा कर देंगे. जरूरत पड़ने पर मंदिर के बाहर निकालकर बात की जा सकेगी.

पुजारियों की बैठक में ये भी बताया गया कि समय के अनुसार VIPs या श्रद्धालुओं को तिलक-चंदन लगाने पर कोई रोक नहीं है, लेकिन कोई भी पुजारी श्रद्धालुओं द्वारा दी गई दान राशि स्वीकार नहीं करेगा, बल्कि उन्हें दान राशि दानपात्र में डालने का निर्देश देगा.

रामजन्मभूमि परिसर में बनाया गया सेल्फी पॉइंट

श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने राम मंदिर में सेल्फी लेने के इच्छुक श्रद्धालुओं के लिए एक सेल्फी पॉइंट बनाया है. ये सेल्फी पॉइंट परिसर के अंदर बैगेज स्कैनर के सामने और यात्री सुविधा केंद्र के बीच पंडाल के कोने में बनाया गया है. यहां रामलला की प्रतिकृति तैयार की गई है. कोई भी श्रद्धालु यहां खड़े होकर सेल्फी ले सकता है. दरअसल, श्रद्धालुओं को मोबाइल फोन इसी स्थान तक ले जाने की अनुमति है. दर्शन मार्ग पर आगे जाने से पहले श्रद्धालुओं को अपना मोबाइल फोन लॉकर में जमा करना होगा. अगर श्रद्धालु चाहें तो रामलला के दर्शन से पहले या वापस आने के बाद सेल्फी ले सकते हैं.

Deepak Vishwkarma

मैं एक अनुभवी कंटेंट राइटर हूँ। मुझे कंटेंट राइटिंग में लगभग 3 साल का अनुभव है। मैं अपने अनुभव के आधार पर रिसर्च करके ऑटोमोबाइल, टेक्नोलॉजी, वायरल वीडियो, क्रिकेट और ट्रेंडिंग से जुड़े आर्टिकल लिखता हूँ।

1 thought on “अयोध्या राम मंदिर के पुजारियों की सैलरी तय! मोबाइल फ़ोन ले जाने पर कोई पाबंदी नहीं”

Comments are closed.