spot_img
HomeUncategorizedKheti Samachar: खेती समाचार आज ही लाल भिंडी उगाएं और कमाएं लाखों...

Kheti Samachar: खेती समाचार आज ही लाल भिंडी उगाएं और कमाएं लाखों रुपए, जानिए कैसे उगाएं

Kheti Samachar: खेती समाचार आज ही लाल भिंडी उगाएं और कमाएं लाखों रुपए, जानिए कैसे उगाएं खेती समाचार तकनीक की मदद से हर क्षेत्र में कई तरह के प्रयोग किए जाते हैं. कृषि क्षेत्र इस विकास में कोई अपवाद नहीं है। देश में किसान अब तकनीक की मदद से पारंपरिक खेती के साथ-साथ कई तरह की नई फसलें उगा सकते हैं। संकर बीज तैयार कर फसलों की नई किस्में तैयार की जा रही हैं। इससे किसानों का रुझान नकदी फसलों की ओर बढ़ा है। ऐसे प्रयोगों से नई तरह की सब्जियां भी तैयार की गईं।

Kheti Samachar: खेती समाचार आज ही लाल भिंडी उगाएं और कमाएं लाखों रुपए, जानिए कैसे उगाएं
Kheti Samachar: खेती समाचार आज ही लाल भिंडी उगाएं और कमाएं लाखों रुपए, जानिए कैसे उगाएं

Kheti Samachar

लाल भिंडी की खेती का चलन बढ़ने लगा है।
वैसे भी, हरी भिंडी बहुत लोकप्रिय है और व्यापक रूप से उगाई भी जाती है। लेकिन अब देश में किसान भी सूरजमुखी की खेती कर रहे हैं। वैज्ञानिकों का मानना ​​है कि लाल भिंडी हरी भिंडी से ज्यादा फायदेमंद होती है। वहीं, बाजार में लाल भिंडी की कीमत हरी भिंडी की तुलना में कई गुना ज्यादा है। इस तरह यह किसानों के लिए एक लाभदायक व्यवसाय भी है।


फसल 45-50 दिनों में तैयार हो जाती है
लाल भिंडी को सबसे पहले उत्तर प्रदेश के वाराणसी में भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान द्वारा विकसित किया गया था, इसलिए लाल भिंडी को काशी का लाल भी कहा जाता है। अब इसके बीज अन्य जगहों पर भी पाए जाते हैं। लाल भिंडी की फसल तैयार होने में 45-50 दिन लगते हैं। यह अब उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, हरियाणा और दिल्ली में उगाया जाता है।
व्यस्त।

इसकी प्रति वर्ष दो फसलें हो सकती हैं
लाल भिंडी उगाना हरे भिंडी को उगाने के समान है। बलुई बलुई मिट्टी इसकी खेती के लिए बेहतर मानी जाती है। इसका पीएच 6.5-7.5 के बीच होना चाहिए। लाल भिंडी की दो फसलें प्रति वर्ष प्राप्त की जा सकती हैं। इसकी एक एकड़ में 20 क्विंटल तक उपज हो सकती है। लाल भिंडी की लंबाई 6-7 इंच होती है। इसे फरवरी से मार्च और जून से जुलाई में बोया जा सकता है। लाल गेरू के पौधों को प्रतिदिन 5-6 घंटे धूप की आवश्यकता होती है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने के लिए उपयोगी
लाल सूरजमुखी में एंथोसिन पाया जाता है। इसमें फाइबर और आयरन की मात्रा अधिक होती है। यह न केवल शरीर को ऊर्जा की आपूर्ति करता है, बल्कि रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भी सहायक है। अपने लाल रंग की वजह से यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। वैज्ञानिक इसे पकाने की बजाय सलाद के रूप में खाने की सलाह देते हैं।

कितनी फायदेमंद है लाल भिंडी की खेती
लाल भिंडी की कीमत हरी भिंडी की तुलना में काफी अधिक होती है। हरी भिंडी भी 40-50 रुपये प्रति किलो के हिसाब से मिल रही है। वहीं लाल भिंडी 500 रुपये किलो तक आसानी से बिक जाती है। कई बार इसकी कीमत 800 रुपये प्रति किलो तक भी पहुंच जाती है।

Kheti Samachar: खेती समाचार आज ही लाल भिंडी उगाएं और कमाएं लाखों रुपए, जानिए कैसे उगाएं

आपको बता दें कि एक एकड़ जमीन से करीब 40 से 50 क्विंटल लाल भिंडी की कटाई की जा सकती है। इसकी खेती में ज्यादा खर्च नहीं आता है। ऐसे में लाल भिंडी की खेती बहुत फायदेमंद होती है और इसकी खेती से अच्छी आमदनी हो सकती है.

RELATED ARTICLES

Most Popular