Thursday, August 18, 2022
spot_img
HomeदेशKedarnath Yatra : खराब मौसम के कारण केदारनाथ यात्रा पर अगले आदेश...

Kedarnath Yatra : खराब मौसम के कारण केदारनाथ यात्रा पर अगले आदेश तक रोक

नई दिल्ली – लगातार हो रही बारिश के कारण केदारनाथ की यात्रा पर स्थानीय प्रशासन ने अगले आदेश तक रोक लगा दी है। केदारनाथ धाम सहित संपूर्ण रुद्रप्रयाग जनपद में कल सुबह से ही लगातार बारिश हो रही है. लगातार बारिश के बाद जिला प्रशासन ने रुद्रप्रयाग से गौरीकुंड तक यात्रियों को रोक दिया है और गौरीकुंड में यात्रा पर रोक लगा दी है.

श्रद्धालुओं को रोका गया 

जानकारी के अनुसार मौसम विभाग ने दो दिनों तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है और मौसम विभाग की सूचना के बाद केदारनाथ धाम सहित पूरे रुद्रप्रयाग जनपद में बारिश हो रही है. जिसे देखते हुए प्रशासन ने श्रद्धालुओं को सोनप्रयाग, गौरीकुंड, रामपुर, फाटा, सीतापुर और गुप्तकाशी में ही रोक दिया है.

सभी यात्रियों को निर्देश दिया गया है कि जो जहां है वहीं अभी इंतजार करें. गौरीकुंड से रुद्रप्रयाग तक 8 से 10 हजार यात्री जगह-जगह फंसे हुए हैं. केदारनाथ में 3200 के करीब तीर्थ यात्री मौजूद हैं, जबकि गौरीकुंड में भी करीब 3200 तथा सोनप्रयाग में 1500 यात्रियों को रोका गया है.

मौसम पर निर्भर आगे की यात्रा 

रुद्रप्रयाग के सीओ प्रबोध घिल्डियाल ने बताया कि मौसम विभाग के अलर्ट के बाद जिले में सुबह से बारिश हो रही है. केदारनाथ जाने वाले तीर्थ यात्रियों को सुरक्षित स्थानों पर रोका गया है. बारिश के कारण यात्रा को रोका गया है और मौसम के खुलने के बाद ही तीर्थ यात्रियों को केदारनाथ धाम जाने दिया जायेगा. उन्होंने ये भी बताया कि गुप्तकाशी से रुद्रप्रयाग के बीच 5 हजार तीर्थयात्रियों को रोका गया है.

अगले आदेश तक रोकी गई यात्रा 

जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी के मुताबिक मौसम साफ होने के बाद केदारनाथ में फंसे तीर्थयात्रियों को नीचे लाया जाएगा, जबकि गौरीकुंड और सोनप्रयाग में रोके गए तीर्थयात्रियों को ऊपर भेजा जाएगा. उन्होंने बताया कि रुद्रप्रयाग से फाटा तक जगह जगह तीर्थ यात्रियों को सुरक्षित जगहों पर ठहराया गया है.

खराब मौसम की वजह से केदारनाथ के लिए हेलीकॉप्टर सेवा पर भी असर हुआ है. मौसम विभाग ने दो दिनों तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। 

Source – Internet  

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments