spot_img
HometrendingHostle Me Dance : छात्रावास में...चिकनी चमेली गाने पर डांस महंगा पड़ा,दो...

Hostle Me Dance : छात्रावास में…चिकनी चमेली गाने पर डांस महंगा पड़ा,दो सस्पेंड,FIR की हुई मांग

बैतूल – Hostle Me Dance – जिले में आदिवासी विकास विकास विभाग के कन्या छात्रावास परिसर में देर रात तक पार्टी और डीजे की धुन पर बाहरी लोगों के थिरकने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस मामले में एक अधीक्षक और एक अधीक्षिका को कलेक्टर ने सस्पेंड कर दिया है ।

बैतूल कलेक्टर अमनबीर सिंह बैस ने सोमवार को एकलव्य आवासीय विद्यालय शाहपुर के बालक छात्रावास में रात्रि में सामूहिक भोजन के साथ नाच गाने के आयोजन को लेकर डीजे बजा कर कार्यक्रम करने कार्यक्रम में बालिका छात्रावास शाहपुर की छात्राओं को भी सम्मिलित किए जाने एवं शाहपुर के नगर के व्यक्तियों को शामिल किए जाने को लेकर अधीक्षक इंद्रमोहन तिवारी और एकलव्य आवासीय छात्रावास की अध्यक्षता श्रीमती दीपा डोंगरे को सस्पेंड कर दिया है ।

दरअसल शाहपुर में स्थित एकलव्य बालक, बालिका छात्रावास परिसर में देर रात्रि तक लोग धमाल मचाते रहे। 19 अगस्त की रात्रि जन्माष्टमी के बहाने आदिवासी बालक एवं बालिका छात्रावास जहां शाम पांच बजे के बाद बाहरी लोगों का प्रवेश निषेध होता है वहां पर पालकों के स्थान पर शाहपुर नगर के कई लोग शामिल हुए। देर रात्रि तक डीजे पर चिकनी चमेली जैसे गानों की धुन पर लोगों को थिरकते हुए शहर के लोगों ने जब देखा तो वे हैरत में पड़ गए।

बालक– बालिका आवासीय एक ही परिसर में है। इस परिसर में धमाल का जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है उसमें ऐसा लग रहा है की मानो किसी शादी समारोह का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। शाहपुर स्थित एकलव्य बालक छात्रावास परिसर में आयोजित रंगारंग कार्यक्रम में देर रात तक बाहरी लोग डीजे पर बजते गानों की धुन पर थिरकते रहे और जिम्मेदार भी इसमें शामिल हुए।

जानकारों की मानें तो कन्या छात्रावास परिसर में तो ऐसी कोई भी गतिविधि हो ही नहीं सकती है। बाहरी लोगों को तो शामिल ही नहीं किया जा सकता है। मामला सामने आने के बाद जिम्मेदार यह तर्क दे रहे हैं कि जन्माष्टमी के साथ चार छात्राओं का जन्मदिन मनाया गया। इस मौके पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इसमें कुछ ही बाहरी लोग शामिल हुए थे।

एफआईआर की मांग

इधर गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने बैतूल पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपकर इस मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है । ज्ञापन में मांग की गई है कि आवासीय विद्यालय में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं के कथन उनके पालकों के समक्ष लेकर दोषियों पर प्रकरण दर्ज किया जाए ।

धरना प्रदर्शन की दी चेतावनी

शाहपुर एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय में गैर शैक्षणिक कार्यक्रम से उपजे विवाद के बाद इसमें नया मोड़ आ गया है। यहां अध्ययनरत सैकड़ों विद्यार्थियों ने अधीक्षक के खिलाफ किसी भी प्रकार की कार्यवाही करने पर धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी है। गौरतलब है कि जहां एक ओर विभिन्न संगठनों द्वारा आवासीय विद्यालय में गैरकानूनी तरीके से अश्लील गाने बजाने एवं अन्य गंभीर आरोप लगाए जा रहे हैं, वहीं इन विद्यार्थियों ने अधीक्षक के पक्ष में आकर इन आरोपों को खारिज कर दिया है। विद्यार्थियों का तो यहां तक कहना है कि छात्रावास अधीक्षक हमारी माता पिता भाई बहन की तरह सेवा करते है, ऐसे अधीक्षक नहीं मिलेंगे। विद्यार्थियों का आरोप है कि गलत वीडियो बनाकर माहौल खराब किया जा रहा है। 

RELATED ARTICLES

Most Popular