spot_img
HomeबैतूलFood Poisoning Update:272 लोग हुए थे बीमार,मीठे में गड़बड़ी की बात आई...

Food Poisoning Update:272 लोग हुए थे बीमार,मीठे में गड़बड़ी की बात आई सामने

मुलताई-बोरदेही थाना क्षेत्र के पिंडरई गांव में रघुवंशी परिवार में आयोजित तिलक समारोह में शामिल हुए लोगों कि खाना खाने के बाद तबीयत बिगड़ गई ।

इन सभी को तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया । इस मामले में 272 लोग फूड प्वाइजनिंग के शिकार हो गए थे । जिनमे इलाज के बाद अधिकांश लोगों की तबियत सुधरने पर उन्हें छुट्टी दे दी गई । कुछ लोगो का इलाज जारी है ।

कार्यक्रम में शामिल हुए स्थानीय लोगों का कहना है कि इस कार्यक्रम में लड़की और लड़के पक्ष की तरफ से लगभग 600 लोग शामिल हुए थे । बताया जा रहा है कि 400 लोगों ने खाना खाया था और खाना खाने के आधे घंटे बाद उन्हें उल्टी और पेट दर्द की शिकायत हुई थी ,इनमें दुल्हन भी शामिल थी । खाने में रखी गई मिठाई खाने से लोगो की तबियत बिगड़ी है ।

निजी अस्पताल में भी कराए भर्ती

जबलपुर से वापस आ रहे सीएमएचओ डॉ एके तिवारी को जब इस मामले की जानकारी मिली तो उन्होंने रास्ते में ही मोर्चा संभाल लिया और जिले भर के सरकारी डाक्टरों से बात की डॉ तिवारी ने बताया कि
बीमार लोगो को तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मुलताई लाया गया । सरकारी अस्पताल में जगह कम पड़ने के कारण मुलताई के दो निजी अस्पतालों से बात की और उनसे मदद ली। 161 लोगो का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और एक निजी अस्पताल में 75 और एक निजी अस्पताल में 36 लोगो का इलाज किया गया । इलाज के लिए जिले के अन्य स्थानों से 8 डॉक्टर बुलाये गए ।

कलेक्टर अमनबीर सिंह बैस पहुचे मुलताई

मामले की जानकारी मिलने पर बैतूल कलेक्टर अमनबीर सिंह बैस भी मुलताई पहुंचे और उन्होंने मरीजों से चर्चा की और डॉक्टरों को बेहतर इलाज करने के निर्देश दिए । अमनबीर सिंह बैंस का कहना है कि तिलक समारोह में खाना खाने से लोग फूड प्वाइजनिंग के शिकार हुए हैं । मरीजों से चर्चा हुई है जिसमें उन्होंने बताया कि कोई मिठाई खाने से तबीयत खराब हुई है । उन्होंने बताया कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है और कई लोगों की तबीयत ठीक होने पर उन्हें छुट्टी दे दी गई है । कुछ लोगों को ऑब्जर्वेशन में रखा गया है । 3 लोगों को हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल बैतूल भी रेफर किया गया था ।

रात में ही लिए गए सेम्पल

कलेक्टर अमनबीर सिंह बैस के निर्देश पर फूड एंड ड्रग की टीम रात में ही पिंडरई गांव पहुंच गई । खाद्य सुरक्षा अधिकारी संदीप पाटिल ने बताया कि रात में ही पिंडरई गांव पहुंचकर सैंपल लिए हैं । मेहमानों के लिए जो खाना बना था उसमें दाल ,चावल ,कढ़ी पूरी ,जलेबी ,रबड़ी और जो भी मेहमानों को खिलाया पिलाया गया सभी का सैंपल लिया गया है । खाने के सैंपल जांच के लिए प्रयोगशाला भेजे जाएंगे । रिपोर्ट आने के बाद पता चलेगा कि खाने में क्या गड़बड़ी थी जिसके कारण लोग फूड प्वाइजनिंग के शिकार हुए ।

RELATED ARTICLES

Most Popular