Thursday, August 18, 2022
spot_img
HometrendingBhopal-Nagpur Highway :बाढ़ ने बंद किया नेशनल हाईवे, उफान पर चल रही...

Bhopal-Nagpur Highway :बाढ़ ने बंद किया नेशनल हाईवे, उफान पर चल रही माचना और बीजासनी नदी

पुल पर पानी होने से भोपाल-नागपुर का संपर्क टूटा

बैतूल{Bhopal-Nagpur Highway} – जिले में जारी झमाझम बारिश से नदी नाले बुधवार को सुबह फिर एक उफान पर आ गए। माचना नदी शाहरी और बीजासनी नदी भौंरा में पुल के ऊपर से पानी बहने से भोपाल-नागपुर का संपर्क टूट गया है। यहां पर दोनों ही पुलों के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लग गई। वाहन चालक सहित यात्री बाढ़ का पानी उतरने का इंतजार करते रहे।

24 घंटे में दूसरी बार बंद हुआ हाईवे

बैतूल में लगातार हो रही बारिश मुसीबत बन रही है। पिछले 24 घंटे में नागपुर भोपाल हाईवे 69 दूसरी बार बंद हो गया है । बुधवार की सुबह माचना नदी का पानी पुल के ऊपर से बह रहा है। नेशनल हाईवे का यातायात प्रभावित हुआ है। शाहपुर में माचना नदी के दोनों किनारे वाहन खड़े हुए हैं। वहीं बीजासनी नदी भौंरा भी उफान पर चलने के कारण यहां भी पुल के दोनों ओर लंबा जाम लगा हुआ है।

24 घंटे में घोड़ाडोंगरी में हुई 10 इंच बारिश

बैतूल में पिछले 3 दिनों से बारिश जारी है पिछले 24 घंटे में बैतूल के घोड़ाडोंगरी विकासखंड में 10 इंच बारिश हुई है । इसके अलावा चिचोली में 9 इंच, शाहपुर में 7 इंच और बैतूल में 5 इंच बारिश हुई है जिले की 24 घंटे में औसत बारिश 4 इंच से ज्यादा हो गई है। नदी नालों में बाढ़ के कारण कई स्थानों पर मिट्टी का कटाव हो रहा है । बाढ़ की स्थिति को देखते हुए प्रशासन चिन्हित स्थानों पर पैनी नजर रखे हुए हैं

क्षतिग्रस्त हुआ तवा पुल

बारिश के चलते नदी में आई बाढ़ से भौंरा-धपाड़ा मार्ग पर तवा नदी पर पुल क्षतिग्रस्त हो गया है। यह पुल आज सुबह आई बाढ़ में बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया है। इस पुल के एक कॉलम का टॉप बाढ़ में बह गया है। किनारे की ओर स्थित इस कॉलम में करीब 5 से 6 फीट गहरा गड्ढा हो गया है। इसके चलते बाढ़ उतरने के बाद भी इस पुल से आवाजाही नहीं हो सकेगी। पुल की मरम्मत के बाद ही इससे यातायात शुरू हो सकेगी। गौरतलब है कि तवा नदी पूरे उफान पर थी और बेहद ऊँचे इस पुल के ऊपर से बाढ़ जा रही थी।

बैतूल-बुरहानपुर मार्ग हुआ बंद

बैतूल-बुरहानपुर मार्ग सुबह से बंद है। इस मार्ग पर धामदेही की गाड़ाघाट नदी के पुल से पानी जा रहा है। इसके चलते उमरघाट से भैंसदेही जा रही संजरी बस और गुलाई से बैतूल जा रही गायत्री बस भी नहीं निकल पाई है। यात्री बाढ़ के उतरने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। हालांकि जल्द बाढ़ उतरने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। उधर देसली बेहड़ा का घोकडा नाला भी उफान पर है।

इंदौर-आशापुर-बैतूल स्टेट हाईवे भी बंद

इससे इंदौर-आशापुर-बैतूल स्टेट हाईवे भी सुबह 7 बजे से बंद है। बताया जाता है कि इसका पानी लगातार बढ़ रहा है। इसके चलते यहां भी जल्द मार्ग शुरू होने के आसार नहीं दिख रहे हैं। इस मार्ग पर भी बड़ी संख्या में वाहनों की कतार पुलिया के दोनों ओर लगी है। दरअसल मंगलवार को सुबह हुई झमाझम बारिश के बाद मंगलवार-बुधवार की रात्रि में भी जमकर बारिश हुई जिससे नदी-नाले उफान पर आ गए हैं। यही वजह है कि पुल-पुलियाओं के जलमग्र होने की वजह से मार्ग बंद हो गए हैं।

पानी-पानी हुआ जिला

बैतूल जिले में झमाझम बारिश लगातार जारी है। रात भर से जिले भर में तेज बारिश हो रही है। जिसके चलते नदी-नाले फिर उफान पर हैं। माचना नदी में बाढ़ के चलते रात एक बजे से फिर बैतूल-भोपाल नेशनल हाईवे पर यातायात ठप है। खतरनाक बाढ़ से माचना नदी में कटाव भी होने लगा है। बीते 24 घंटे में जिले में 114.9 बारिश हुई है। वहीं घोड़ाडोंगरी और चिचोली ब्लॉक में बारिश के सारे रिकॉर्ड टूट रहे हैं। जिले में इंद्रदेव इतने अधिक मेहरबान हो गए हैं कि पूरा जिला पानी-पानी हो गया है।

शौचालय बहा, अंडरब्रिज लबालब

शाहपुर में माचना नदी लगातार रौद्र रूप दिखा रही है। दो दिनों से चल रही भीषण बाढ़ के कारण नदी में कटाव भी होने लगा है। यही कारण है कि शाहपुर में नदी किनारे रहने वाले संजय जांगड़ेे के मकान के पीछे बना शौचालय कटाव की चपेट में आकर बह गया है। बाढ़ इसी तरह बनी रही तो और भी लोगों का नुकसान होने से इंकार नहीं किया जा सकता। वहीं शाहपुर के कुंडी में आवागमन के लिए बनाए गए अंडरब्रिज में फिर पानी भर गया है। यह पूरी तरह से जलमग्र हो गया है। अंडरब्रिज की दीवार भी ढह गई है। इसके चलते लोग कार्य की गुणवत्ता पर भी सवाल खड़े कर रहे हैं।

अब तक आधी हो गई बारिश

लगातार हो रही बारिश के मिजाज से ऐसा लग रहा है कि जुलाई के महीने में ही पूरे मौसम का कोटा पूरा हो जाएगा। आज सुबह तक ही जिले में 490.5 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है। यह जिले की कुल बारिश की लगभग आधी है। पिछले साल आज तक केवल 268.8 मिलीमीटर बारिश हुई थी। जिले की औसत सामान्य बारिश 1083.9 मिलीमीटर है। विगत 24 घंटे में घोड़ाडोंगरी में 250 और चिचोली में 232.5 मिलीमीटर बारिश हुई है। भीमपुर, शाहपुर और बैतूल में भी अच्छी बारिश हुई।

चुनाव पर पड़ेेगा खासा असर

आज जिले के 4 नगरीय निकायों में दूसरे चरण के चुनाव हो रहे हैं। इसी तरह बारिश जारी रही तो मतदान के प्रतिशत पर खासा असर पड़ेगा। लोगों को बारिश से अपने मकान और सामान को बचाने की चिंता ज्यादा सता रही है। ऐसी कोई स्थिति नहीं हो तो भी बरसते पानी में लोगों को घर से निकाल कर मतदान केंद्र तक लाना बड़ा मुश्किल काम होगा।

दो घंटे में 14.17 प्रतिशत मतदान

जिले के 4 नगरीय निकायों में सुबह के शुरूआती 2 घंटों में 14.17 प्रतिशत मतदान हुआ है। नगर परिषद बैतूल बाजार, भैंसदेही, घोड़ाडोंगरी और नगर पालिका मुलताई में चुनाव हो रहे हैं। सुबह 7 से 9 बजे तक बैतूल बाजार में 15.86 प्रतिशत, भैंसदेही में 11.43 प्रतिशत, घोड़ाडोंगरी में 25.59 प्रतिशत और मुलताई में 11.56 प्रतिशत मतदान हुआ है। इन निकायों में 80 मतदान केंद्रों पर मतदान प्रक्रिया संपन्न हो रही है।

जिले में बारिश की स्थिति

विकासखंड आज अभी तक पिछले साल

बैतूल 140.2 452.2 270.0
घो?ाडोंगरी 250.0 895.5 362.5
चिचोली 232.5 571.9 240.2
शाहपुर 183.0 576.5 368.2
मुलताई 14.2 422.4 216.6
प्रभातपट्टन 29.3 336.3 140.8
आमला 43.0 431.0 183.0
भैंसदेही 47.0 398.0 402.0
आठनेर 14.3 266.0 253.6
भीमपुर 195.0 555.0 251.0
जिले की औसत 114.9 490.5 268.8

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments