Saturday, August 13, 2022
spot_img
HometrendingYuvako ke mile shav : मारू नदी में दो युवकों की जल...

Yuvako ke mile shav : मारू नदी में दो युवकों की जल समाधि, मिले शव

छिंदवाड़ा जिले के सिवनी ग्राम के 10 लोग आए थे सालबर्डी, नहाते समय नदी का बहाव तेज होने से हुई दोनों युवकों की मौत

बैतूल{Yuvako ke mile shav} – जिले के भौंरा के पास की तवा नदी में दो मासूम बच्चों के डूबने की घटना को अभी लोग भूला भी नहीं पाए थे कि सालबर्डी की मारू नदी में दो युवकों की जल समाधि होने की खबर आ गई है। दोनों युवकों के गहरे पानी में जाने और नदी का तेज बहाव होने की वजह से बहने से दर्दनाक मौत हो गई। दोनों युवकों के नदी में डूब जाने की सूचना मिलते ही पुलिस और एसडीईआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई थी। एसडीईआरएफ की टीम के पहुंचने के पहले ही स्थानीय लोगों की मदद से दोनों शवों को मारू नदी से बाहर निकाल लिए गए हैं। शव पोस्टमार्टम उपरांत परिजनों को सौंप दिए गए हैं।

सिवनी के रहने वाले हैं दो युवक

आठनेर टीआई अजय सोनी ने पड़ोसी जिले के छिंदवाड़ा के अंतर्गत आने वाले ग्राम सिवनी के 10 लोग सालबर्डी आए हुए थे। इसी दौरान सालबर्डी की मारू नदी में नहाने के लिए ग्राम सिवनी निवासी दुर्योधन(दुर्गेश) पिता लक्ष्मण राउत उम्र 27 वर्ष और गणेश पिता धोंड्याजी चवारे उम्र 26 वर्ष के उतर गए। नहाते समय दोनों युवक गहरे पानी में चले जाने और नदी का बहाव तेज होने से दोनों युवक बह गए थे जिससे दोनों की पानी में डूबने की वजह से मौत हो गई।

एक को बचाने में दूसरा डूबा

थाना प्रभारी श्री सोनी ने बताया कि छिंदवाड़ा जिले के पांढुर्ना थाने के अंतर्गत आने वाले ग्राम सिवनी निवासी मंगलवार की शाम करीब 6 बजे के दरम्यिान सालबर्डी पहुंचे थे। यहां पर शिवधाम सालबर्डी में दर्शन करने के उपरांत दुरू नहाने के लिए नदी में उतर गया। पास ही गणेश भी नहाने के लिए खड़ा था। दुर्योधन उर्फ दुर्गेश को पानी में डूबता देख वह उसे बचाने के लिए गहरे पानी में चला गया और वह भी बह गया था।

एसडीईआरएफ पहुंचने से पहले पुलिस ने निकाले शव

सालबर्डी की मारू नदी में नहाते समय दो युवकों की डूबने की से मौत हो जाने की खबर मिलते ही ग्रामीणों द्वारा पुलिस को दी गई जिसके बाद पुुलिस मौके पर पहुंची और एसडीईआरएफ को भी इसकी सूचना दी थी। पुलिस की सूचना के बाद एसडीईआरएफ की टीम बुधवार दोपहर मारू नदी पर पहुंची लेकिन इसके पूर्व ही पुलिस ने स्थानीय लोगों की मदद से दोनों युवकों के शवों को नदी से बाहर निकाल लिया था।

घटना से पसरा मातम

मारू नदी में गणेश और दुर्योधन उर्फ दुर्गेश के डूब जाने से साथ आए करीब 8 लोगों में मातम पसर गया है। वहीं ग्राम सिवनी से भी ग्रामीण मारू नदी के तट पर पहुंच गए थे जहां पर दोनों युवक नहाते समय बहे थे। नदी का बहाव तेज होने की वजह से सर्च आपरेशन चलाने में भी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा था लेकिन अंतत: टीम को सफलता मिली और बुधवार दोपहर 2 बजे के दरम्यिान दोनों युवकों के शव निकाल लिए गए। आठनेर थाना प्रभारी अजय सोनी ने बताया कि दोनों युवकों के शवों को पोस्टमार्टम उपरांत परिजनों को सौंप दिया गया है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments