Home देश SP Simala Prasad : दंपत्ति की हत्या के मामले में एसपी 2...

SP Simala Prasad : दंपत्ति की हत्या के मामले में एसपी 2 किमी कीचड भरे रास्ते से पैदल चल कर पहुंची घटनास्थल  

आठनेर/भैंसदेही{SP Simala Prasad} – मवेशी चराने का मामूली सा विवाद इतना बढ़ गया कि पति-पत्नी की बेरहमी से हत्या कर दी गई। पत्नी की लाश खेत में मिली और पति की लाश नाले के पास पड़ी मिली है। आज सुबह जब दोनों की लाश मिलने की जानकारी ग्रामीणों को मिली तो क्षेत्र में सनसनी फैल गई और घटना की जानकारी भैंसदेही पुलिस को दी गई। मौक पर पहुंचकर पुलिस ने दोनों शवों के पंचनामा बनाकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी सिमाला प्रसाद 2 की.मी कीचड़ भरे रास्ते पर चल कर घटना स्थल पर पहुंची। 

भैंसदेही थाना प्रभारी सतीष अंधमान ने बताया कि भैंसदेही थाना क्षेत्र के ग्राम रेणुका खापा में भगवतराव इवने उम्र 50 वर्ष और पत्नी कमला इवने 45 वर्ष कल सोमवार दोपहर में मवेशी चराने खेत गये थे लेकिन वापस नहीं आए। आज मंगलवार की सुबह गांव से लगभग एक डेढ़ किलोमीटर दूर मक्का के खेत में पत्नी कमला इवने का शव पड़ा मिला। वहीं पास के ही नाले में पति भगवतराव इवने का भी शव पड़ा  था।

पति-पत्नी के शरीर पर धारदार हथियार के निशान दिख रहे हैं जिससे लगता है कि पति-पत्नी की हत्या कर मौत के घाट उतार दिया गया है। श्री अंधमान ने बताया कि घटना स्थल आठनेर थाना क्षेत्र में आता है और मृतक भैंसदेही थाना क्षेत्र के निवासी हैं इसलिए भैंसदेही पुलिस ने जीरो पर कायमी कर ली है। आगे की जांच के लिए मर्ग डायरी आठनेर पुलिस को सौंप दी जाएगी।

उन्होंने यह भी बताया कि हत्या के पीछे के कारण मवेशी चराने को लेकर हुआ विवाद सामने आया है। यह भी तथ्य सामने आया है कि हत्या में दो लोग शामिल है। जिनकी तलाश के लिए पुलिस टीम भेज दी गई है। मृतक दम्पत्ति के परिवार में चार सदस्य थे अब केवल एक पुत्र और एक पुत्री ही बचे हैं।

कीचड़ भरे रास्ते से घटना स्थल पहुंची एसपी

आदिवासी दम्पत्ति की हत्या की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद को घटना स्थल पर पहुंचने के लिए करीब दो किलोमीटर तक कीचड़ से सने रास्ते से होकर पहुंचना पड़ा। इस दौरान उनके साथ में भैंसदेही थाने का स्टाफ भी मौजूद था। एसपी ने घटना स्थल पर पहुंचकर मातहतों को तत्काल आरोपियों की गिरफ्तारी करने के निर्देश दिए हैं। जिले की एसपी सिमाला प्रसाद की यह कार्यप्रणाली है कि वह हर घटना स्थल का स्वयं मुआयना करती हैं।