HomeबैतूलPanchayat Chunav : महिलाओं के निर्विरोध निर्वाचन पर मिलेगा 15 लाख का...

Panchayat Chunav : महिलाओं के निर्विरोध निर्वाचन पर मिलेगा 15 लाख का इनाम

जैसे ही पंचायत और निकाय चुनाव की घोषणा हुईं है अलग अलग पार्टी अपने कार्यकर्ताओं और उम्मीदवारों को नए नए प्रोत्साहन देने लगे हैं। इस बार पार्टी किसी भी तरह की रिस्क नहीं लेना चाहती है इसीलिए वो नए नए फॉर्मूले तैयार कर रही है इसी कड़ी में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने समरस पंचायतों एवं उनके विकास की दृष्टि से आदर्श ग्राम पंचायतों के प्रोत्साहन हेतु पुरस्कार की घोषणाएं की हैं। ऐसी ग्राम पंचायतें जहां निर्विरोध निर्वाचन और सर्वसम्मति से चुनाव संपन्न होंगे, उन्हें पुरस्कृत किया जाएगा। सरपंच निर्विरोध चुने जाने पर पंचायत को 5 लाख, दूसरी बार निर्विरोध होने पर 7 लाख, पूरी पंचायत में महिलाओं के निर्विरोध होने पर 15 लाख रुपए की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी।

भाजपा की नई रणनीति नए चहरों को मिलेगा मौका

निकाय चुनाव में प्रत्याशी चयन के लिए भाजपा ने प्रारंभिक तौर पर मापदंड (क्राइटेरिया) तय कर लिए हैं। इस बार भाजपा प्रयास में है कि नगर निगम, पालिका और परिषदों में 80 फीसदी चेहरों को बदल दिया जाए। ऐसा करने के लिए थ्री-लेयर व्यवस्था की गई है। सबसे पहले जिले में प्रभारी मंत्री के साथ चर्चा के बाद सूची बनेगी। यह संभाग स्तरीय चुनाव समिति में जाएगी और फिर प्रदेश संगठन से उस पर मुहर लगेगी।

इस तरह होगा प्रत्याशी चयन

  • निकाय चुनाव में इस बार 50 फीसदी रहेगी महिला उम्मीदवार

इस चुनाव में परिवारवाद से दूरी बनाने की कोशिश करेगी पार्टी

दो – तीन बार से पार्षद बन रहे नेताओं के लिए अब बढ़ सकती हैं मुश्किलें

केंद्रीय नेतृत्व के निर्देशों के बाद प्रदेश संगठन के बीच इस गाइडलाइन पर सहमति बनती भी दिख रही है। इस बार निकाय और पंचायत चुनाव में पार्टी किसी भी प्रकार का रिस्क नहीं लेगी। नए युवाओं को चुनाव मैदान में उतारा जाएगा। पार्षदों के टिकट में डॉक्टर, प्रोफेसर, सीए, एडवोकेट, सामाजिक और सार्वजनिक क्षेत्र में काम करने वालों को प्राथमिकता दी जाएगी। आधे टिकट महिलाओं को मिलेंगे।

परिवारवाद पर ये रहेगी स्थिति

अगर एक परिवार से पति पार्षद हैं और वह सीट महिला हो गई है तो पत्नी-बेटी या सगे-संबंधियों को टिकट नहीं मिलेगा। साथ ही यदि कोई मंडल अध्यक्ष, मंडल महामंत्री या जिले का पदाधिकारी है और चुनाव लड़ना चाहता है तो उसे वह पद छोड़ना पड़ सकता है।

Source – Internet

RELATED ARTICLES

Most Popular