New Fraud | मैं क्राइम ब्रांच से बोल रहा हूं….ऐसा फोन आए तो सावधान

नए तरीके का सायबर क्राइम आया सामने, बैतूल में कई लोगों को आ रहे फर्जी फोन

New Fraudबैतूल मैं क्राइम ब्रांच से बोल रहा हूं। आपके बेटे को गिरफ्तार कर लिया है। उसने चार लडक़ों के साथ मिलकर एक अपराध किया है। अगर ऐसा फोन आपको आ रहा है तो आप सावधान हो जाए। अब नए तरीके का सायबर क्राइम सामने आया है। जिसमें ठग क्राइम ब्रांच के नाम का उपयोग कर लोगों को ठगने की कोशिश कर रहे हैं। पिछले दिनों बैतूल के कई लोगों को इस तरह के फोन आए हैं जिसमें कुछ लोगों ने पुलिस में शिकायत भी दर्ज कराई है। किसी को उनकी बेटी तो किसी को उनके बेटे के गिरफ्तार होने की बात कहकर ठगने की कोशिश की गई लेकिन उनकी जागरूकता के चलते वे ठगी से बच गए।

शिक्षिका को आया फोन | New Fraud

एमएलबी स्कूल में पदस्थ शिक्षिका अभिलाषा बाथरी ने कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज कराई है कि कल उनको एक फोन आया जिसमें सामने से आवाज आई कि वो क्राइम ब्रांच से बोल रहे हैं और उनके बेटे ने चार लडक़ों के साथ मिलकर अपराध किया है। और उनका बेटा फोन करने वालों के पास है। इसके बाद एक लडक़े की भी आवाज फोन पर सुनाई गई जो उनके लडक़े के जैसे ही थी। अभिलाषा बाथरी फोन पर बात सुनकर घबरा गई और उन्होंने अपने बेटे को फोन लगाया तो पता चला कि उनका बेटा भोपाल जा रहा था और इटारसी तक पहुंच गया था और इसके बाद वह संतुष्ट हुई। लेकिन पुन: ठगों का फोन आया और उन्होंने कहा कि आप समझौता करना चाहती हैं तो 40 हजार रुपए हमारे बताए नंबर पर डाल दे तो उनके बेटे को छोड़ देंगे। वरना उसे कोर्ट ले जाएंगे। इस पूरे मामले की उन्होंने पुलिस ने शिकायत दर्ज कराई है और कड़ी कार्यवाही करने की मांग की है।

उपयंत्री को भी की ठगने की कोशिश

नगर पालिका बैतूल में पदस्थ उपयंत्री नागेंद्र वागद्रे को भी कल इसी तरह का फोन आया। हालांकि उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस में दर्ज नहीं कराई। सांध्य दैनिक खबरवाणी से चर्चा में उन्होंने बताया कि उनकी बेटी भोपाल में पढ़ रही है। उसी को लेकर फोन आया था लेकिन फोन पर आवाज सुनते ही मैं समझ गया कि यह ठगी का मामला है। हालांकि फोन आने के बाद बेटी से बात की तो वो सुरक्षित थी और ऐसी कोई बात नहीं थी। श्री वागद्रे ने भी लोगों से अपील की है कि इस तरह के फोन आने पर लोग सावधानी बरते।

इस पर ज्यादा ध्यान न दे: एसपी | New Fraud

फर्जी काल को लेकर सांध्य दैनिक खबरवाणी ने बैतूल एसपी निश्चल झारिया ने चर्चा की तो उन्होंने कहा कि इस प्रकार के फोन पर लोग ध्यान ना दें। और जिन परिजनों के बारे में बात की जा रही है तत्काल उनसे बात कर ले। यह नए टाइप का साइबर क्राइम है। मेरे भी कई परिचितों को ऐसे फोन आ रहे हैं। एक बात का ध्यान रखें कि ऐसे फोन आने पर किसी भी रूप में रुपए ना डाले। और सभी को यह बताए कि फोन आने पर तत्काल नजदीकी थाने में जाकर शिकायत दर्ज कराए।

कहां से मिलता है ठगों को डाटा?

साइबर क्राइम में एक सबसे महत्वपूर्ण बात यह सामने आ रही है कि जो फर्जी फोन आते हैं उनके पास संबंधित व्यक्ति की पूरी जानकारी होती है। जैसे क्राइम ब्रांच के मामले में बच्चों के नाम, पिता का नाम और नंबर ठगो के पास रहता है और जब वह संबंधित को नाम से संबंोधित करते हैं तो साधारण व्यक्ति उनकी जाल में फंस जाते हैं। सबसे बड़ा सवाल यह है कि इन ठगों के पास लोगों का डाटा कहां से पहुंचता है। यह भी एक जांच का विषय है और डाटा बेचने वालों के खिलाफ भी कार्यवाही होनी चाहिए।

कॉलर आईडी का करें इस्तेमाल | New Fraud

इस तरह के स्पैम से बचने के लिए आप अपने फोन में कॉलर आईडी एक्टिवेट कर सकते हैं। जिससे की फोन लगाने वाले व्यक्ति का नाम स्क्रीन पर आ जाता है। साथ ही अगर वो स्पैमर है या फ्राड है तो वो भी इसके माध्यम से पता चल जाता है। इसके अलावा आप अपने फोन पर थर्ड पार्टी एप टू्र कॉलर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

1 thought on “New Fraud | मैं क्राइम ब्रांच से बोल रहा हूं….ऐसा फोन आए तो सावधान”

Comments are closed.