HometrendingMultai Nagar Palika - वर्षा गढ़ेकर ने ग्रहण की नपाध्यक्ष की कुर्सी

Multai Nagar Palika – वर्षा गढ़ेकर ने ग्रहण की नपाध्यक्ष की कुर्सी

दो बार नीतू परमार भी रह चुकी हैं नपाध्यक्ष

Multai Nagar Palikaमुलताई नगर पालिका मुलताई में डेढ़ साल में अध्यक्ष के चार बार पदभार ग्रहण हो चुके हैं। दो बार श्रीमती नीतू परमार और दो बार श्रीमती वर्षा गढ़ेकर ने पदभार ग्रहण किया है जिससे लग रहा है कि मुलताई नगर पालिका का अध्यक्ष पद फुटबाल बन गया है। अब देखना यह है कि श्रीमती वर्षा गढ़ेकर के पास अध्यक्ष पद कब तक रहता है क्योंकि एडीजे कोर्ट के आदेश में कलेक्टर को चुनाव कराने के निर्देश दिए गए थे। व्यवस्था बनाने के लिए नगरीय प्रशासन विभाग ने नीतू परमार के हटने पर श्रीमती वर्षा गढ़ेकर को पहली बार अध्यक्ष मनोनीत किया था। उसी मनोनयन के चलते उन्हें दूसरी बार मौका मिला है।

ग्रहण किया पदभार | Multai Nagar Palika

आज मुलताई नगर पालिका के सीएमओ राजकुमार इवनाती ने भाजपा पार्षद श्रीमती वर्षा गढ़ेकर को अध्यक्ष पद का पदभार ग्रहण करवाया। इस मौके पर श्रीमती गढ़ेकर के साथ भाजपा पार्षद वर्षा गडेकर के अध्यक्ष पद का पदभार ग्रहण करते समय पार्षद अजय यादव, पंजाबराव चिकाने, रितेश विश्वकर्मा, कुसुम पवांर, शिल्पा शर्मा, महेन्द्र पिल्लू जैन , मुख्य नगर पालिका अधिकारी राजकुमार इवनाती, नगर मंडल भाजपा अध्यक्ष गणेश साहू, जिला उपाध्यक्ष मनीष माथनकर आदि मौजूद रहे उनके द्वारा पदभार ग्रहण करने के तुरंत बाद कर्मचारियों की बैठक ली गई मौजूद भाजपा कार्यकर्ताओं ने ने ताप्ती माँ के जयकारे के साथ खुशी का इजहार किया। श्रीमती गढ़ेकर ने पदभार ग्रहण करने के बाद कहा कि मुझे दूसरी बार मौका मिला है इसके लिए भाजपा के सभी वरिष्ठ नेताओं का आभार और कलेक्टर श्री सूर्यवंशी का भी धन्यवाद। उन्होंने कहा कि मेरी प्राथमिकता रहेगी कि नगर में पेयजल, साफ सफाई और नागरिकों की समस्याओं का निराकरण हो।

दो बार अध्यक्ष बनी नीतू परमार

मुलताई नगर पालिका चुनाव में 15 में से 9 पार्षद भाजपा के और 6 पार्षद कांग्रेस के जीते थे। भाजपा ने श्रीमती वर्षा गढ़ेकर को अध्यक्ष पद का प्रत्याशी घोषित किया था। वहीं दूसरी दावेदार के रूप में भाजपा पार्षद के रूप में चुनाव जीती श्रीमती नीतू परमार भी अध्यक्ष बनना चाह रही थी और जब पार्टी ने उन्हें प्रत्याशी नहीं बनाया तो बगावत करते हुए भाजपा के बागी और कांग्रेस पार्षदों से नपाध्यक्ष पद का चुनाव जीत गई थीं और नपाध्यक्ष की कुर्सी पर बैठ गई थीं। इसके बाद वर्षा गढ़ेकर ने इस चुनाव को चुनौती देते हुए न्यायालय में याचिका दायिर की थी। न्यायालय ने 12 जून 2023 को नपाध्यक्ष का चुनाव शून्य घोषित कर पुन: चुनाव कराने के कलेक्टर को आदेश दिए थे। इस दौरान राज्य शासन ने वर्षा गढ़ेकर को अध्यक्ष मनोनीत किया था। श्रीमती नीतू परमार ने एडीजे कोर्ट मुलताई के फैसले को चुनौती देते हुए हाईकोर्ट की शरण ली जहां से उन्हें स्टे मिल गया था। और 15 जुलाई 2023 को वे पुन: नपाध्यक्ष की कुर्सी पर काबिज हो गई थी।

दूसरी बार फिर वर्षा को मिला मौका | Multai Nagar Palika

हाईकोर्ट से स्टे मिलने के बाद भाजपा पार्षद श्रीमती वर्षा गढ़ेकर सर्वोच्च न्यायालय की शरण ली और इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में एडीजे कोर्ट मुलताई के आदेश को यथावत रखते हुए उसके पालन के निर्देश दिए थे। सुप्रीम कोर्ट का आदेश आने के बाद श्रीमती नीतू परमार ने 15 दिसम्बर से नपा जाना बंद कर दिया था। अध्यक्ष पद की कुर्सी खाली होने पर मुलताई सीएमओ राजकुमार इवनाती ने राज्य शासन से मार्गदर्शन मांगा था। इस पर राज्य शासन द्वारा पूर्व में नपाध्यक्ष पद के लिए मनोनीत की गई थी श्रीमती वर्षा गढ़ेकर को पुन: नपाध्यक्ष के लिए मनोनीत कर दिया गया है।

RELATED ARTICLES

Most Popular