MP Election – नेताओं की आंखों में कटेगी आज की रात

कल शाम से आना शुरू हो जाएंगे रूझान

MP Electionबैतूल मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग 17 नवंबर को हो चुकी है। अब सभी को बड़ी बेसब्री से परिणामों का इंतजार है। हालांकि मतगणना 3 दिसम्बर को होनी है लेकिन कल शाम 5 बजे से रूझान आना प्रारंभ हो जाएंगे। रूझान किसके पक्ष में आएंगे और प्रदेश में किसकी सरकार बनेगी इसको लेकर नेताओं की बेचैनी बढऩे लगी है। नेताओं की इसी के कारण आज की रात आंखों में ही कटेगी।

कल से आएंगे एक्जिट पोल | MP Election

कल शाम पांच बजे से न्यूज चैनलों सहित विभिन्न कंपनियों द्वारा किए गए सर्वे के एक्जिट पोल आना प्रारंभ हो जाएंगे। एक्जिट पोल को लेकर कोई कुछ भी कहे लेकिन काफी हद तक बताए जाने वाले रूझान करीब-करीब स्थिति तो स्पष्ट कर ही देते हैं कि किस प्रदेश में जनता ने किसे पसंद किया है और किसे नकार दिया है। कहीं-कहीं पर मिलाजुला असर भी दिखाई देता है। वैसे तो कई बार मतदाताओं ने टीवी चैनल के एक्जिट पोलों को नकारा भी है लेकिन अधिकांश बार चुनाव परिणाम इन एक्जिट पोलों के आसपास भी रहे हैं।

कांटे का माना जा रहा मुकाबला

कांग्रेस, बीजेपी, सपा, बसपा, आप, गोंगपा, जयस सहित कई अन्य पार्टियों ने भी अपने उम्मीदवार इस चुनाव में उतारे है। हर बार की तरह इस बार भी मुख्य मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच ही बेहद कांटे का माना जा रहा है। कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टियों के नेता अपनी-अपनी जीत का दावा कर रहे हैं, क्योंकि इस बार बंपर वोटिंग हुई है। 2018 में 75 प्रतिशत मतदान हुआ था और इस बार बढक़र 77.15 प्रतिशत मतदान हुआ है। कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही पार्टियां इस बढ़े हुए मतदान को अपने फेवर में बता रहे हैं।

न्यूज चैनलों ने बड़े स्तर पर की तैयारी | MP Election

कल 30 नवम्बर को तेलंगाना में अंतिम चरण का मतदान संपन्न होगा। मतदान का समय 5 बजे तक रखा गया है। इसके बाद से न्यूज चैनलों द्वारा व्यापक स्तर पर एक्जिट पोल का प्रसारण किया जाएगा। यह एक्जिट पोल कितने सही और कितने गलत होते हैं यह बात अलग है लेकिन यह तो तय है कि 5 से 10 प्रतिशत को छोड़ दें तो एक्जिट पोल सटीक साबित अभी तक होते आए हैं। यही वजह है कि न्यूज चैनलों के एक्जिट पोल का हर वर्ग को इंतजार रहता है।

इसी के साथ ही एक अनुमान भी लग जाता है कि प्रदेश में सरकार किसकी बन रही है। चूंकि पूर्व में चुनाव प्रचार के पहले और बीच में भी एक्जिट पोल का प्रसारण होता रहा है जिस पर चुनाव आयोग संज्ञान लेते हुए यह माना है कि मतदान के पूर्व यदि एक्जिट पोल आते हैं तो मतदाता प्रभावित भी हो सकता है। मिली जानकारी के अनुसार इसी को देखते हुए चुनाव आयोग ने निर्देश जारी किए थे कि अब मतदान संपूर्ण होने के बाद ही ऐसे पोल प्रसारित किए जाएं।

कोई मानेगा तो कोई नकारेगा

कल शाम 5 बजे से आने वाल एक्टिज पोल में जिस पार्टी को कम सीटें मिलती दिखाई जाएगी वह इस एक्जिट पोल को मानने से इंकार करते हुए 3 दिसम्बर को होने वाली मतगणना का इंतजार करने की बात कहेंगे। जबकि जिस पार्टी को एक्जिट पोल में बहुमत मिलता बताया जाएगा वह इसे जनता का आशीर्वाद बताते हुए इसे उत्साह से स्वीकार करेंगे। बरहाल मध्यप्रदेश में वास्तविक स्थिति तो 3 दिसम्बर को ही स्पष्ट हो सकेगी लेकिन कल बताए जाने वाले एक्जिट पोल किसके पक्ष में बताए जाते हैं यह देखना दिलचस्प होगा। कुल मिलाकर आज की रात नेताओं के आंखों में कटने वाली है इतना तो लगभग तय है।