HometrendingMP Congress - हाईकमान से ऊपर है कमलनाथ-नकुलनाथ?

MP Congress – हाईकमान से ऊपर है कमलनाथ-नकुलनाथ?

543 लोकसभा सीटों में पहली सीट स्वघोषित , उम्मीदवारी की घोषणा पर कांग्रेस का उल्लेख नहीं

MP Congressभोपाल(ब्यूरो) 2023 के विधानसभा चुनाव के दौरान मध्यप्रदेश की 230 विधानसभा सीटों में से सबसे पहले छिंदवाड़ा जिले की 7 विधानसभा सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा हुई थी। लेकिन यह घोषणा कांग्रेस हाईकमान या कांग्रेस की चुनाव समिति के द्वारा नहीं हुई थी। छिंदवाड़ा के कांग्रेस सांसद एवं मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के पुत्र नकुल नाथ ने छिंदवाड़ा जिले के विभिन्न क्षेत्रों की आमसभाओं में संबंधित विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस उम्मीदवार की सार्वजनिक मंच से घोषणा की थी और इस घोषणा के बाद में कांग्रेस की अधिकृत सूची ेमें भी यही नाम पाए गए थे। अब लोकसभा चुनाव में भी ऐसा ही हो रहा है। कल नकुल नाथ ने सार्वजनिक रूप से यह स्पष्ट कर दिया है कि वे ही छिंदवाड़ा से उम्मीदवार होंगे लेकिन उनके भाषण में पार्टी का नाम स्पष्ट नहीं हुआ। वहीं आज कमलनाथ ने नकुलनाथ की कल की घोषणा पर मुहर लगा दी।

कल यह कहा था नकुल नाथ ने

2019 में पहली बार चुनाव लडक़र कांग्रेस की टिकट पर सांसद बने नकुलनाथ ने कल छिंदवाड़ा लोकसभा सीट के अंतर्गत आने वाले परासिया शहर में एक आभार सभा के दौरान कमलनाथ के सामने नकुलनाथ ने कहा था कि इस बार भी लोकसभा चुनाव के लिए मैं आप लोगों का उम्मीदवार रहूंगा। ये अफवाहें चल रही हैं कि कमलनाथ चुनाव लड़ेंगे या नकुलनाथ लड़ेंगे। तो मैं ये स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि कमलनाथ जी नहीं लड़ेंगे, मैं लड़ूंगा। कमलनाथ जी का पूरा सहयोग रहेगा, पूरा सपोर्ट रहेगा, पूरा मार्गदर्शन रहेगा। नकुलनाथ ने कहा- मुझे आप सभी से यही उम्मीद है कि 42 साल आपने कमलनाथ परिवार का साथ दिया है। अपना प्यार और आशीर्वाद दिया है। मुझे पूरी उम्मीद है कि आने वाले लोकसभा चुनाव में आप वही प्यार, वही विश्वास और वही आशीर्वाद नाथ परिवार को देंगे। पिछले चुनाव में नकुलनाथ ने बीजेपी प्रत्याशी नत्थन शाह को 37500 मतों से हराया था।

आज कमलनाथ ने भी कर दिया स्पष्ट

आज पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि छिंदवाड़ा से लोकसभा चुनाव उनके बेटे मौजूदा सांसद नकुलनाथ ही लड़ेंगे। इमलीखेड़ा हवाई पट्टी पर मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि जैसे ही एआईसीसी नाम घोषित करती है तो छिंदवाड़ा से नकुलनाथ उम्मीदवार होंगे। एक सवाल के जवाब में उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया है कि कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव की तैयारी शुरू कर दी है और मैं हमेशा की तरह प्रचार करुंगा।

कांग्रेस हाईकमान से ऊपर है नाथ परिवार?

कमलनाथ और नकुलनाथ द्वारा लोकसभा के लिए नकुलनाथ की उम्मीदवारी घोषित करने को लेकर राजनैतिक हल्को में यह चर्चा हो रही है कि क्या नाथ परिवार कांग्रेस हाईकमान के ऊपर है। लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक होने के पहले ही देश के 543 लोकसभा सीटों में से छिंदवाड़ा सीट पर स्वयं नाथ परिवार द्वारा उम्मीदवार घोषित करने को लेकर इस चर्चा ने और जोर पकड़ लिया है क्योंकि विधानसभा चुनाव के दौरान भी छिंदवाड़ा जिले की विधानसभा सीटों पर स्वयं नकुल नाथ ने ही प्रदेश चुनाव समिति की बैठक के पूर्व ही कांग्रेस उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर दी थी और उन्हीं को टिकट प्राप्त हुई थी। जिले की सभी सातों विधानसभा सीटों पर कांग्रेस उम्मीदवारों को ही सफलता मिली थी।

नाथ परिवार की घोषणा के दो अर्थ

नकुलनाथ द्वारा स्वयं अपनी उम्मीदवारी घोषित करना और कमलनाथ द्वारा अप्रत्यक्ष रूप से छिंदवाड़ा लोकसभा सीट से चुनाव लडऩे को लेकर इंकार करने को लेकर मध्यप्रदेश के उपमुख्यमंत्री राजेंद्र शुक्ला ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि कांग्रेस में न तो अनुशासन है और न ही पार्लियामेंट्री बोर्ड की कोई अहमीयत है। इसलिए चुनाव लडऩे वाले लोग खुद ही अपना नाम डिक्लेयर कर रहे हैं।

दिग्गज नेता छोड़ रहे चुनाव मैदान

एक तरफ कांग्रेस की मध्यप्रदेश पर्यवेक्षक रजनी पाटिल यह स्पष्ट कर रही हैं कि प्रदेश की आधी सीटों पर युवा उम्मीदवार एवं आधी सीटों पर वरिष्ठ नेताओं को लोकसभा चुनाव में मैदान में उतारने की तैयारी हो रही है। वहीं कांग्रेस के प्रदेश के नामचीन नेता चुनाव नहीं लडऩे की बात कर रहे हैं। मीडिया की माने तो पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री अरूण यादव, पूर्व मंत्री एवं वर्तमान में विधायक अजय सिंह राहुल और अब पूर्व केंद्रीय मंत्री, पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा छिंदवाड़ा से अपने पुत्र की स्वयं उम्मीदवारी घोषित करने से राजनैतिक हल्को में यह स्पष्ट हो गया है कि कमलनाथ भी लोकसभा चुनाव के परिदृश्य से बाहर रहेंगे।

RELATED ARTICLES

Most Popular