HometrendingLumpy Disease - बेहड़े से पानी भरने और सिर पर लकड़ी का...

Lumpy Disease – बेहड़े से पानी भरने और सिर पर लकड़ी का गट्ठा प्रतिबंधित

लंपी वायरस की रोकथाम करने ग्रामीणों ने बनाए सख्त नियम, नियमों का उल्लंघन करने वाले ग्रामीण पर लगेगा 10 हजार जुर्माना

बैतूल – Lumpy Disease – जिले के सभी ब्लाकों में लंपी बीमारी बेहताशा मवेशियों को संक्रमित कर जान लेने रही है। ऐसे में ग्रामीण बीमारी को दैवीय प्रकोप मानते हुए इससे छुटकारा पाने के लिए अपने स्तर पर नियम बनाने लगे हैं। बैतूल ब्लाक के ग्राम जूनावानी के ग्रामीणों ने भी लंपी के प्रकोप को खत्म करने के लिए सख्त नियम बना लिए हैं जिनका सभी ग्रामीणों को 5 दिनों तक पालन करना अनिवार्य है। नियमों का उल्लंघन करने पर 10 हजार रुपए का जुर्माना भी रखा गया है।

यह बनाए नियम(Lumpy Disease)

गांव के मुखिया श्यामू धुर्वे और उपमुखिया समेश उइके ने बताया कि लंपी बीमारी से पशुओं की बीमार होने के बाद मौत हो रही है। यही वजह है कि पशु पालक सहित ग्रामीण बुरी तरह से परेशान हो गए हैं। उन्होंने बताया कि सभी इसे दैवीय प्रकोप मान रहे हैं इसी के चलते बीमारी का प्रकोप खत्म करने के लिए पांच दिवसीय नियम बनाए गए हैं जिन्हें सभी को मानना अनिवार्य है। इसमें किसी भी घर में तेल से बघार नहीं लगाया जाएगा। कोई भी महिला अथवा पुरूष लकड़ी का गट्ठा सिर पर नहीं रखेगा और ना ही महिलाएं कुंए, हैण्डपंप से डबल गुंडी (बेहड़े) से पानी भरेंगी, गांव में कोई भी मांस मदिरा का सेवन नहीं करेगा।  

किया जाएगा पूजन(Lumpy Disease)

आदिवासी बाहुल्य ग्राम पंचायत बोदी जुनावानी के ग्रामीणों ने लंपी बीमारी से सप्ताह भर में दर्जन भर मवेशियों की मौत के बाद इस बीमारी को दैविक प्रकोप मानते हुए गांव में अनोखे निर्णय लिए है ताकि बीमारी से निजात मिल सके। ग्राम के मुखिया श्यामू धुर्वे ने बताया कि उन्होंने ग्राम के सिवाने पर ग्रामीणों के साथ पूजन कर यह निर्णय लिया है कि जब तक मवेशियों पर आयी लंपी बीमारी ठीक नहीं हो जाती कोई भी ग्रामीण मदिरा मांस का सेवन नहीं करेगा। इन सभी नियमो का पालन नहीं करने वालो पर पंचायत 10 हजार रूपये का जुर्माना करेगी। इन नियमो का ग्रामीण कड़ाई से पालन कर रहे है।

RELATED ARTICLES

Most Popular