LML करने जा रहा है जोरदार 3 इलेक्ट्रिक स्कूटर लांच

80 के दशक में भारत में थी लोकप्रिय, कई सालों बाद फिर लेगी टू-व्हीलर बाजार में एंट्री 

LML एक समय की बहोत बढ़िया गाड़ी है आज फिर मार्केट अपना राज करने आ रही है नए अवतार में जमाने में भारत के लोगों के दिलों में राज करने वाली एलएमएल कंपनी की फिर से देश में एंट्री होने वाली है। ये वह कंपनी है, जो 80 और 90 के दशक में भारत में काफी लोकप्रिय थी और हर भारतीय इस कंपनी के वाहन खरीदने के लिए बेताब रहता था। लेकिन टू व्हीलर बाजार में बढ़ती प्रतिस्पर्धा के चलते ये कंपनी कई दशक तक गुम रही। काफी लंबे समय के बाद ये कंपनी फिर से भारतीय बाजार में अपना नाम स्थापित करने के लिए एक बार फिर प्रयास कर रही है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार एलएमएल कंपनी एक बार फिर से भारतीय मार्केट में एंट्री लेने जा रही है। 29 सितंबर 2022 को कंपनी तीन नए इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर के साथ भारतीय बाजार में कदम रखेगी। शुरुआती दौर में कंपनी का फोकस ई-हाइपरबाइक, ई-बाइक और ई-स्कूटर पर होगा। एलएमएल इलेक्ट्रिक के एमडी और सीईओ डॉ. योगेश भाटिया ने कहा है कि वह भारतीय बाजार को लेकर बेहद उत्साहित हैं वह चाहते हैं कि जैसे 80-90 के दशक में कंपनी ग्राहकों की पहली पसंद हुआ करती थी। हमारा प्रयास हैं कि कंपनी को वापिस उसी मुकाम पर पहुंचाया जाए।

29 सितंबर को होगा इन तीन इलेक्ट्रिक वाहनों का अनावरण

उन्होंने बताया कि हमारे पहले 3 इलेक्ट्रिक वाहनों का 29 सितंबर 2022 को अनावरण किया जाएगा। जहां हम ये सुनिश्चित करेंगे कि इलेक्ट्रिक वाहनों का भविष्य कैसा होने वाला है और इसे हाई क्लास टेक्नोलॉजी की मदद से कैसे बेहतर बनाया जा सकता है। हमें उम्मीद है कि हमारी गाड़ी भारतीय बाजार में सर्वाधिक पसंद की जाने वाली वाहनों की लिस्ट में शीघ्र शामिल होगी।

शानदार डिजाइन और नया लुक देने की कोशिश

कंपनी की ओर से ये दावा किया जा रहा है कि कंपनी ने इलेक्ट्रिक वाहनों को बनाने में उन्नत किस्म की इंजीनियरिंग तकनीक का उपयोग किया है। इसी के साथ ही कंपनी ने व्हीकल के डिजाइन को शानदार लुक देने की कोशिश है। कंपनी अपने यूएसपी को मजबूत करने की दिशा में भी कार्य कर रही है। 

इलैक्ट्रिक वाहनों पर सरकार देती है सब्सिडी

केंद्र सरकार की ओर से इलेक्ट्रिक गाडिय़ों पर सब्सिडी दी जा रही है। इसके पीछे सरकार का मकसद भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों के चलन को बढ़ावा देना है। पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के बीच भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों की संख्या में इजाफा हुआ है। वहीं आए दिन नई कंपनियां भारत में इलेक्ट्रिक वाहन लांन्च कर रही है। इस तरह देखा जाए तो भारत इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए हब बन गया है। दुनिया की सभी छोटी-बड़ी कंपनियां भारत में व्यापार करना चाह रही है। 

किसी जमाने में भारतीय सडक़ों की शान थीं एलएमएल की ये गाडिय़ां

1980 और 90 के दशक में कई एलएमएल की गाडिय़ां भारतीय सडक़ों शान रहीं। इनकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इस कंपनी की गाड़ी मार्केट में आने के साथ ही बुक हो जाया करती थीं। हर कोई एलएमएल की गाडिय़ां खरीदने को बेताब रहता था। बीते जमाने में एलएमएल की Star Euro 150, Star Euro 200, Select 4, Freedom LS, NV 2-stroke, Adreno, Graptor, Beamer, Freedom Prima 125, Energy आदि स्कूटर और मोटर साइकिल की काफी डिमांड थी। एक बार फिर कंपनी नए व्हीकल के साथ भारतीय बाजार में उतर रही है, देखना है कि क्या एलएमएल फिर से भारतीय बाजार में वहीं 1980 वाला जलवा कायम करने में सफल रहती है या नहीं।

एलएमएल कंपनी के बारे में खास बातें

एलएमएल कंपनी (पूर्व में लोहिया मशीनरी लिमिटेड) की स्थापना 1972 में हुई थी। यह एक प्रमुख भारतीय दोपहिया निर्माता है जो स्कूटर, मोटरसाइकिल, मोपेड के साथ-साथ पुर्जों और सहायक उपकरण के निर्माण और बिक्री के व्यवसाय में लगी हुई है। इस कंपनी का मुख्यालय कानपुर में स्थित है। कंपनी अपने विनिर्मित उत्पादों को अमेरिका, अफ्रीका, लैटिन अमेरिका, न्यूजीलैंड समेत अन्य देशों में निर्यात करती है। लोहिया मशीनरी (एलएमएल) ने 1983 में इटली की पियाजियो (वेस्पा) से हाथ मिलाया था। इस साझेदारी में कंपनी ने कई जबरदस्त और लोकप्रिय स्कूटर लॉन्च किए। 80-90 के दशक में कंपनी की भारतीय बाजार में काफी लोकप्रियता थी। लेकिन बाजार की बदलती परिस्थितियों के कारण कंपनी ने उत्पादन बंद कर दिया था। इसके बाद एक बार फिर कंपनी भारत में प्रोडक्शन शुरू करने को लेकर उत्साहित है।

यह भी पढ़े: आपको मुंग की दाल है पसंद तो ये 3 तड़के आपके टेस्ट को कर देंगे 4 गुना अच्छा बस ऐसा लगाना है तड़का

Leave a Comment