HometrendingHospital News - 15 जनवरी तक शुरू हो जाएगा मेटरनिटी हॉस्पिटल -...

Hospital News – 15 जनवरी तक शुरू हो जाएगा मेटरनिटी हॉस्पिटल – खण्डेलवाल

सांसद उइके और विधायक पंडाग्रे के साथ किया निरीक्षण

Hospital Newsबैतूलविधानसभा चुनाव 2023 में निर्वाचित होने के बाद विधायक हेमंत खण्डेलवाल ने अपनी प्राथमिकता पर काम शुरू कर दिया है। जिलेवासियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिले और जल्द ही मेडिकल कालेज शुरू हो इसको लेकर उन्होंने आज जिला अस्पताल परिसर में स्थित मेटरनिटी एवं शिशु रोग हास्पिटल के नवीन भवन का सांसद दुर्गादास उइके, आमला विधायक डॉ. योगेश पंडाग्रे और नगर पालिका अध्यक्ष पार्वती बाई बारस्कर के साथ निरीक्षण किया। इस दौरान सीएमएचओ डॉ. रविकांत उइके, सीएस डॉ. अशोक बारंगा, आरएमओ डॉ. रानू वर्मा के अलावा पीआईयू के अधिकारी भी मौजूद थे।

मेडिकल के लिए जरूरी है 500 बिस्तर | Hospital News

निरीक्षण के बाद मीडिया से बात करते हुए विधायक हेमंत खण्डेलवाल ने कहा कि मेटरनिटी और शिशु रोग बिल्डिंग का कार्य डेढ़ वर्ष पहले हो जाना चाहिए था। लेकिन हुआ नहीं। पीआईयू ने बिल्डिंग का काम पूरा करके हैंडओव्हर कर दिया है। अभी जिला अस्पताल 300 बिस्तर का अस्पताल है।

इसे 500 बिस्तर का करना है। उसके लिए क्या-क्या आवश्यकताएं हैं? स्टाफ की कमी या इंफ्रास्ट्रक्चर की जरूरत उसको लेकर पीआईयू, सीएमएचओ, सिविल सर्जन के साथ दौरा किया है। जो-जो कमियां यहां से दूर होंगी। वो यहां से करेंगे, जो राज्य स्तर की हैं वो वहां से दूर करेंगे। अगर केंद्र से राशि की जरूरत पड़ेगी तो सांसद के माध्यम से पूरी करेंगे।

जिले को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिले

श्री खण्डेलवाल ने बताया कि शिवराज सिंह सरकार के दौरान बैतूल में मेडिकल कालेज की स्वीकृति हो गई थी। अब जमीन तलाशने का काम प्रशासन कर रहा है। मेडिकल कालेज कहीं और बनेगा लेकिन मेडिकल सुविधा को लेकर राज्य स्तर के जिलों के बराबर या उससे ऊपर का जिला अस्पताल रहेगा जिससे जिले के गरीब मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं यहां मिल सकेंगी। उन्होंने बताया कि निरीक्षण में जो कमियां पाई गई हैं उन्हें दूर करने के लिए उस समय तक जो भी स्वास्थ्य मंत्री बनेगा उनसे चर्चा की जाएगी या स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव से चर्चा कर कमियों को दूर करने का प्रयास करेंगे।

क्या है कमियां? | Hospital News

केंद्र सरकार के ट्रायवल विभाग से स्वीकृत हुए मेटरनिटी और शिशु रोग का हास्पिटल 150 बिस्तर का है। इसमें 100 बिस्तर मेटरनिटी के लिए हैं और 50 बिस्तर शिशु रोग के मरीजों के लिए हैं। इस हास्पिटल का शुभारंभ पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के द्वारा किया जा चुका है। शुभारंभ के बाद कमियों के चलते यह अस्पताल शुरू नहीं हो पाया।

स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सबसे बड़ी कमी आपरेशन थियेटर की थी। इसका काम बिल्डिंग के टैंडर के साथ नहीं होने के कारण नहीं हो पाया था। बाद में टैंडर हुआ और अब जल्द ही आपरेशन थियेटर बनाया जा रहा है। इसके अलावा इस अस्पताल के लिए आया बाई, वार्ड ब्वाय, सफाईकर्मी और सुरक्षा गार्ड की जरूरत पड़ेगी। निरीक्षण के दौरान चिकित्सकों ने जनप्रतिनिधियों को कमियां बताई जिन्हें पूर्ण करने का आश्वासन दिया गया है।

RELATED ARTICLES

Most Popular