Wednesday, August 17, 2022
spot_img
Homeमध्यप्रदेशEnrollment : जानिये आखिर क्यों चर्चा में है इस युवक का नामांकन,...

Enrollment : जानिये आखिर क्यों चर्चा में है इस युवक का नामांकन, देख कर हो जाएंगे हैरान

छिंदवाड़ा(कुंजबिहारी शर्मा) – त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव का बिगुल बजने के बाद नामांकन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है । रोजाना पंचायत चुनाव में अपना भाग्य आजमाने वाले प्रत्याशी पर्चे दाखिल करने के लिए आरओ केंद्र पहुंच रहे हैं। पांढुर्ना के अंबाडा पंचायत में पंच पद का एक प्रत्याशी आज अनूठे ढंग से अपना पर्चा दाखिल करने के लिए पहुंचा। जिसे देखकर हर कोई अचंभित हो गए।

दरअसल ग्राम पंचायत अंबाडा के ग्राम रायबासा में रहने वाला रोशन पांसे पंच का चुनाव लड़ने के लिए अपना पर्चा दाखिल करने बैल बक्खर पर सवार होकर आर ओ केंद्र पंहुचा और अपना नामांकन दाखिल किया।

इस दौरान उसने जानकारी देते हुए बताया कि जिस गांव में रहता है वहां तक आवागमन के लिए पक्की सड़क नहीं है वह मूल रूप से किसान है इसलिए बाइक और साइकिल की बजाए वह बैल बक्खर पर सवार होकर अपना पर्चा दाखिल करने यहां पहुंचा है।

स्ट्रीट लाइट और पेयजल समस्या से जूझ रहा गांव

अनूठे ढंग से नामांकन दाखिल करने पहुंचे रोशन पांसे ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि अंबाडा पंचायत के अंतर्गत आने वाले उसके गांव रायवासा में न तो खंभों पर स्ट्रीट लाइट लगी है और ना ही पेयजल की कोई व्यवस्था पंचायत के द्वारा बनाई गई है इन्हीं प्रमुख मुद्दों को लेकर वह इस बार पंच का चुनाव लड़ रहा है ताकि गांव की समस्या का समाधान कर सके।

किसान की 10 एकड़ है जमीन

बैल बक्खर पर सवार होकर नामांकन दाखिल करने पहुंचे युवा किसान रोशन पांसे के पास 10 एकड़ जमीन है, मूलतः किसानी कर रहे इस शख्स ने गांव की समस्या को लेकर किसानी के साथ अब पंच बनने की ठानी है जिसके कारण आज है नामांकन दाखिल करने पहुंचा तो था वह है पंच पद का प्रत्याशी बन गया।

गांव में जाने के लिए नहीं पक्की सड़क

रायवासा से अंबाडा की दूरी लगभग 4 किलोमीटर है ऐसे में आज तक इस गांव में पक्की सड़क नहीं बनी है जिसके कारण भी ग्रामीणों को कच्ची पगडंडी के सहारे ही मुख्य मार्ग तक आना पड़ रहा है। नदी पर एक पुल बना दिया गया है जो पूरी तरह से टूट चुका है जिसके कारण भी लोगों को बारिश के दिनों में काफी परेशानी होती है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments