Dragon Fruit Kheti |  किसान भाई करें इस फल की खेती झटपट हो जाएंगे मालामाल 

अब भारत में भी ये फल उगाने की नई संभावना

Dragon Fruit Kheti – ड्रैगन फ्रूट – जिसे “कमलम” भी कहा जाता है – एक अनोखा फल है जो अपनी चमकदार गुलाबी त्वचा और काले बीजों के लिए जाना जाता है। यह फल न केवल स्वादिष्ट होता है, बल्कि इसमें कई पोषक तत्व भी होते हैं, जैसे कि विटामिन C, एंटीऑक्सीडेंट और फाइबर।

हाल के वर्षों में, भारत में ड्रैगन फ्रूट की खेती में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। यह वृद्धि कई कारकों के कारण है, जिनमें शामिल हैं:

वृद्धि इन कारकों के कारण | Dragon Fruit Kheti  

बढ़ती मांग: ड्रैगन फ्रूट की लोकप्रियता बढ़ रही है, जिसके कारण इसकी मांग भी बढ़ रही है।
अनुकूल जलवायु: भारत के कई राज्यों में ड्रैगन फ्रूट की खेती के लिए अनुकूल जलवायु है।
सरकारी सहायता: सरकार किसानों को ड्रैगन फ्रूट की खेती के लिए प्रोत्साहित कर रही है।

ड्रैगन फ्रूट की खेती के फायदे:

लाभदायक: ड्रैगन फ्रूट एक लाभदायक फसल है, जिससे किसानों को अच्छी आय हो सकती है।
कम रखरखाव: ड्रैगन फ्रूट की खेती में कम रखरखाव की आवश्यकता होती है, जिससे यह किसानों के लिए एक आसान विकल्प बन जाता है।
रोग प्रतिरोधी: ड्रैगन फ्रूट रोगों के प्रति प्रतिरोधी होता है, जिससे किसानों को फसल के नुकसान का कम खतरा होता है।

ड्रैगन फ्रूट की खेती कैसे करें | Dragon Fruit Kheti

जलवायु और मिट्टी: ड्रैगन फ्रूट गर्म और शुष्क जलवायु में अच्छी तरह से उगता है। इसे अच्छी जल निकासी वाली रेतीली-दोमट मिट्टी की आवश्यकता होती है।
बुवाई: ड्रैगन फ्रूट को बीज या कलमों से उगाया जा सकता है।
देखभाल: ड्रैगन फ्रूट को नियमित रूप से सिंचाई, निराई और खाद की आवश्यकता होती है।
फसल: ड्रैगन फ्रूट बुवाई के 18-24 महीने बाद फल देने लगता है।

निष्कर्ष:

ड्रैगन फ्रूट भारत में फल उगाने की एक नई संभावना है। यह किसानों के लिए एक लाभदायक और कम रखरखाव वाली फसल है, और यह उपभोक्ताओं के लिए एक स्वादिष्ट और पौष्टिक फल है।

Source Internet 

2 thoughts on “Dragon Fruit Kheti |  किसान भाई करें इस फल की खेती झटपट हो जाएंगे मालामाल ”

Comments are closed.