spot_img
HometrendingDAP Rate Today :किसानों के लिए आई बड़ी खुशखबरी, यूरिया खाद की...

DAP Rate Today :किसानों के लिए आई बड़ी खुशखबरी, यूरिया खाद की एक बोरी मिल रही है सिर्फ इतने में

DAP Rate Today :किसानों के लिए आई बड़ी खुशखबरी, यूरिया खाद की एक बोरी मिल रही है सिर्फ इतने में किसानों के लिए बड़ी खबर, डीएपी और यूरिया के नए रेट, पता नहीं इतनी मात्रा में मिलेगी बोरी यूरिया खाद? अब इसी दर पर मिलेंगे डीएपी बैग, अंतरराष्ट्रीय बाजार में यूरिया के कच्चे माल के दाम बढ़ने और कच्चे माल के आयात में कमी के कारण देश में यूरिया खाद की कमी है जो मांग को पूरा करने में सक्षम नहीं है. जबकि रबी सीजन और रवि सीजन अभी शुरू नहीं हुआ है, यूरिया खाद की ज्यादा जरूरतें पढ़ी जा रही हैं।

DAP Rate Today :किसानों के लिए आई बड़ी खुशखबरी, यूरिया खाद की एक बोरी मिल रही है सिर्फ इतने में
DAP Rate Today :किसानों के लिए आई बड़ी खुशखबरी, यूरिया खाद की एक बोरी मिल रही है सिर्फ इतने में

DAP Rate Today

ऐसे में पहले से ही अंदेशा जताया जा रहा है कि रबी सीजन में किसानों को यूरिया खाद को लेकर कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। इधर, औसत से अधिक बारिश के बाद इस साल रबी की बोआई का रकबा बढ़ेगा। ऐसे में पिछले साल के मुकाबले इस साल ज्यादा यूरिया खाद की जरूरत होगी।

मार्फेड भोपाल ने एफपीओ को खाद देना बंद कर दिया है। इससे एफपीओ से जुड़े किसानों में रोष है। किसानों को खाद उपलब्ध कराने के लिए किसानों ने कलेक्टर को ज्ञापन भी सौंपा है। वर्तमान में यूरिया खाद सेवा सहकारी समितियों तक ही पहुंचता है, लेकिन वह भी पर्याप्त नहीं है। इस वजह से किसान आज से 400 से 500 रुपये में बोरी यूरिया खाद खरीदने को विवश हैं।

यूरिया की कीमत केंद्र सरकार ने तय की थी। सरकार ने किसानों को यूरिया और अन्य उर्वरकों के दाम में राहत दी है लेकिन कालाबाजारी के कारण यह राहत नगण्य है क्योंकि सरकार की ओर से किसानों को खाद उपलब्ध नहीं होने के कारण किसानों को कालाबाजारी से खाद खरीदने के लिए मजबूर किया जा रहा है। उच्च कीमतों पर। निर्भर करता है। ये हैं यूरिया, डीएपी और एनपीके के नए दाम। भारत की इफको (इफको) ने इस साल के खरीफ सीजन के लिए नई खाद और खाद की कीमतें प्रकाशित की हैं।

किसानों को अलग-अलग बोरा के अलग-अलग दाम मिले
यूरिया- 266.50 रुपये प्रति बैग (45 किलो)
एमओपी – 1,700 रुपये प्रति बैग (50 किलो)
डीएपी- 1,350 रुपये प्रति बैग (50 किलो)
एनपीके- 1,470 रुपये प्रति बैग (50 किलो)

ये कीमतें बिना सब्सिडी के रहेंगी
यूरिया- 2,450 रुपये प्रति बैग (45 किलो)
एनपीके- 3,291 रुपये प्रति बैग (50 किलो)
एमओपी- 2,654 रुपये प्रति बैग (50 किलो)
डीएपी- 4,073 रुपये प्रति बैग (50 किलो)

भूमि में कितनी खाद/उर्वरक की आवश्यकता है?
खरीफ और रबी मौसम में विभिन्न प्रकार की फसलों के लिए विभिन्न प्रकार की खाद/उर्वरक की आवश्यकता होती है। देश में किसान कृषि में अधिक उत्पादन के लिए यूरिया का अधिकतम उपयोग करते हैं। देश में कितनी खाद की जरूरत है।

पिछले साल के हिसाब से हम जान सकते हैं कि देश में कितनी खाद/उर्वरक की जरूरत है। पिछले साल के हिसाब से देश में यूरिया की जरूरत 350.51 लाख टन, NPK की 125.82 लाख टन, MOP की 34.32 लाख टन और DAP की 119.18 लाख टन थी.

DAP Rate Today :किसानों के लिए आई बड़ी खुशखबरी, यूरिया खाद की एक बोरी मिल रही है सिर्फ इतने में

किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी,
डीएपी और यूरिया के नए रेट जारी, पता नहीं इतनी मात्रा में बोरी यूरिया खाद मिल पाएगी या नहीं?
यूरिया की कीमत केंद्र सरकार ने तय की थी। सरकार ने किसानों को यूरिया और अन्य उर्वरकों के दाम में राहत दी है लेकिन कालाबाजारी के कारण यह राहत नगण्य है क्योंकि सरकार की ओर से किसानों को खाद उपलब्ध नहीं होने के कारण किसानों को कालाबाजारी से खाद खरीदने के लिए मजबूर किया जा रहा है। उच्च कीमतों पर। निर्भर करता है। ये हैं यूरिया, डीएपी और एनपीके के नए दाम। भारत की इफको (इफको) ने इस साल के खरीफ सीजन के लिए नई खाद और खाद की कीमतें प्रकाशित की हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular