Tuesday, August 16, 2022
spot_img
Homeमध्यप्रदेशCorona : देश के 7 राज्यों में बढ़ते कोरोना के केस डराता...

Corona : देश के 7 राज्यों में बढ़ते कोरोना के केस डराता कोरोना, मंडरा रहा चौथी लहर का खतरा…!!  

एक बार फिर से भारत समेत दुनियाभर में कोरोना केस बढ़ने लगे हैं। दिल्ली, गुरुग्राम और मुंबई में कोरोना के नए मरीजों के मिलने का सिलसिला बढ़ रहा है। ऐसे में एक बार फिर कोरोना की चौथी लहर का खतरा बन गया है।

देश के कुल 734 जिलों में से 29 ऐसे हैं, जहां वीकली पॉजिटिविटी रेट 5% से ज्यादा है। यानी WHO के मुताबिक इन जिलों में संक्रमण अभी बेकाबू है। इनमें से 23 में हाल और खराब है। इन 23 जिलों में पॉजिटिविटी रेट 10% से ज्यादा है, जबकि 8 जिले ऐसे हैं जहां पॉजिटिविटी रेट 20% से ज्यादा है। पॉजिटिविटी रेट का मतलब है कि हर 100 टेस्ट होने पर कितने कोरोना मरीज मिल रहे हैं।

देश में अभी क्या है कोरोना की स्थिति ?

  • देश में कोरोना मरीजों के मिलने का सिलसिला फिर बढ़ रहा है। देश में मंगलवार और बुधवार को कोरोना के 1 हजार से ज्यादा नए मरीज मिले। जबकि, पिछले कुछ दिनों से देश में 700 से 800 के करीब कोरोना के केस आ रहे थे।
  • पिछले दो महीने बाद ऐसा पहली बार हुआ है जब कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या नए मिलने वाले मरीजों से कम है। मंगलवार को 1081 लोग ही कोरोना से ठीक हुए हैं।
  • देश में अब तक 4.30 करोड़ से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। देश में अब तक कुल 5.21 लाख मौतें हो चुकी हैं। एक्टिव केस की संख्या भी बढ़ कर 11 हजार से ज्यादा हो गई है।
  • दिल्ली में भी एक बार फिर कोरोना केस तेजी से बढ़ रहे हैं। यहां 2 महीने बाद कोरोना पॉजिटिविटी रेट 2.70% हो गया है। इससे पहले 5 फरवरी को पॉजिटिविटी रेट 2.87 था। दिल्ली में इस समय रोजाना कोरोना के करीब 100 से 200 नए मरीज मिल रहे हैं। बुधवार को दिल्ली में कोरोना के 299 नए केस मिले थे, इससे पहले मंगलवार को 202 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। यानी पिछले दिन से 50% ज्यादा मामले सामने आए।
  • दिल्ली से सटे हरियाणा के गुरुग्राम में हालात तेजी से बिगड़ रहे हैं। यहां बुधवार को कोरोना के 148 मरीज मिले। पिछले 40 दिनों में यह सबसे ज्यादा है। वहीं पिछले महीने के अंत तक 30 से कम केस मिल रहे थे।
  • देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में भी कोरोना केस बढ़ने लगे हैं। मुंबई में बुधवार को 73 नए मरीज मिले। यह 17 मार्च के बाद सबसे ज्यादा है। एक्सपर्ट का कहना है कि चौथी लहर के लिए यह अलार्मिंग सिचुएशन है। हमें बेहद सतर्कता बरतने की जरूरत है।

Source – Internet 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments