Friday, August 12, 2022
spot_img
HomeदेशCM Shivraj : शिवराज कैबिनेट की चिंतन बैठक मे लिए गए ये...

CM Shivraj : शिवराज कैबिनेट की चिंतन बैठक मे लिए गए ये बड़े फैसले, इतने लोगो को होगा लाभ

भोपाल – मध्यप्रदेश में 18 अप्रैल से एक बार फिर तीर्थ दर्शन योजना शुरू होगी। पचमढ़ी में शिवराज कैबिनेट की चिंतन बैठक में ये फैसला लिया गया है।

इसके साथ ही कन्या विवाह योजना की राशि 51 हजार से बढ़ाकर 55 हजार रुपए की गई है। वहीं सामान्य बीमारियों के इलाज के लिए मुख्यमंत्री संजीवनी क्लिनिक सभी नगरीय निकायों में स्थापित किये जाएंगे। 22 अप्रैल से ये क्लिनिक कुछ स्थानों पर प्रारंभ हो जाएंगे। 2 मई को लाडली लक्ष्मी योजना 2.0 का शुभारंभ होगा। 2 मई से 11 मई तक पूरे राज्य में लाडली लक्ष्मी उत्सव मनाया जाएगा।

सीएम राइज स्कूल के मापदंडों के आधार पर 13 जून से कुछ विद्यालयों में पढ़ाई शुरू होगी। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना और मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना के तहत गरीब परिवारों को और अगले 6 महीने तक निशुल्क राशन वितरित किया जाएगा।

बता दें कि हिल स्टेशन पचमढ़ी में शिवराज कैबिनेट की चिंतन बैठक का आज दूसरा और आखिरी था। दोपहर में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बैठक के फैसलों की जानकारी दी है।

शिवराज कैबिनेट की चिंतन बैठक के फैसले

  • 2 मई को लाडली लक्ष्मी योजना 2.0 का शुभारंभ होगा। हर साल 2 मई को लाडली लक्ष्मी दिवस मनाया जाएगा। 2 मई से 11 मई तक पूरे राज्य में लाडली लक्ष्मी उत्सव मनाएंगे।
  • 18 अप्रैल को फिर से मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना शुरू होगी। 18 अप्रैल को काशी विश्वनाथ के लिए ट्रेन रवाना की जाएगी।
  • 21 अप्रैल से कन्या विवाह योजना नए स्वरूप में शुरू होगी। आयोजन की राशि बढ़ाकर 51 हजार रुपए से बढ़ाकर 55 हजार रुपए की गई है। योजना के अंतर्गत बेटियों को गृहस्थी का सामान भेंट स्वरूप प्रदान किया जाएगा।
  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना और मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना के तहत प्रदेश के गरीब परिवारों को और अगले 6 महीने तक प्रति सदस्य 5-5 किलो यानी 10 किलो निशुल्क राशन वितरित किया जाएगा।
  • सीएम राइज स्कूल के मापदंडों के आधार पर 13 जून से कुछ विद्यालयों में पढ़ाई शुरू होगी। सीएम राइज स्कूलों का निर्माण पूरा होने पर इन्हें शिफ्ट किया जाएगा।
  • शहरों में लगभग 25 हजार की आबादी पर एक मुख्यमंत्री संजीवनी क्लीनिक खोला जाएगा। 22 अप्रैल से इसकी शुरुआत होगी। एक साल में सभी नगरीय निकायों में इसकी शुरुआत हो जाएगी।
  • प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों से जुड़े हॉस्पिटल को सुपर स्पेशलिटी के रूप में विकसित करेंगे।
  • प्रदेश में MBBS की पढ़ाई हिंदी में कराई जाएगी। इस साल से इसकी शुरुआत होगी।
  • जल जीवन मिशन के तहत गांवों में पाइप लाइन के जरिए घरों तक पेयजल उपलब्ध कराया जाएगा।
  • अगले महीने ग्रामीण परिवहन की नीति लाएंगे। ग्रामीण क्षेत्र में सरकारी बसें चलाकर लोगों को आवागमन की ठीक से सुविधाएं दी जाएगी।
  • साइबर तहसील की शुरुआत की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी संपत्ति की रजिस्ट्री आदि होने पर इसकी जानकारी ऑनलाइन पता चल जाएगी। इससे संपत्तियों के दस्तावेज ऑनलाइन उपलब्ध रहेंगे। जो मामले विवादित हैं, उनके लिए बाद में व्यवस्था करेंगे।
  • ‘मां तुझे प्रणाम योजना’ फिर से शुरू की जाएगी। प्रदेश के युवा अपने गांव की मिट्टी लेकर देश की सीमाओं पर जाएंगे। इससे उनके अंदर राष्ट्र की सेवा और देशभक्ति की भावना सुदृढ़ होगी।
  • बिजली बिलों में सुधार के लिए अप्रैल-मई में विशेष अभियान चलाया जाएगा।
  • गांव में मनरेगा के अंतर्गत खेल मैदान विकसित किए जाएंगे।
  • मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पचमढ़ी को इंटरनेशनल पर्यटन स्थल के तौर पर विकसित किया जा सकता है। इसके लिए संयुक्त प्रयास आवश्यक हैं। पचमढ़ी के पर्यटन विकास के लिए शासन, प्रशासन और आम जन के साथ जनप्रतिनिधियों की महत्वपूर्ण भूमिका है।

(साभार)

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

Recent Comments