Camel Khata Hai Cobra | यहां ऊँट के मुँह में जीरा नहीं बल्कि रखा जाता है Saanp 

अरब देशों में खिलाया जाता है कोबरा 

Camel Khata Hai Cobra – ऊंट को सांप खिलाने की यह जानकारी काफी अजीब लगती है। यह वास्तव में चौंका देने वाला है कि क्यों ऐसा किया जाता है। वास्तव में, हम सभी जानते हैं कि ऊंट एक शाकाहारी जानवर होता है और वह बिना पानी पिए भी कई दिनों तक तपती रेत में चल सकता है। परंतु यह सोचने वाली बात है कि ऊंट को किंग कोबरा जिंदा खिलाया जाता है।

खतरनाक बीमारी का शिकार हो जाता है ऊंट | Camel Khata Hai Cobra  

यह सब इसलिए होता है क्योंकि ऊंट एक खतरनाक बीमारी का शिकार हो जाता है, जिसे वह बचाने के लिए ऐसा किया जाता है। इस बीमारी का नाम हयाम है, जिससे ऊंट अपनी जान गंवा सकते हैं। इस बीमारी का इलाज विशेष तरीके से किया जाता है, जैसे कि यदि किसी ऊंट को यह बीमारी हो जाती है तो उसका मुंह खोलकर जिंदा कोबरा सांप उसके मुंह में छोड़ दिया जाता है।

हयाम नामक बीमारी का संक्रमण

जब ऊंट को हयाम नामक बीमारी का संक्रमण होता है, तो वे अपना खाना-पीना छोड़ देते हैं और उनका शरीर अकड़ने लगता है। इसके अलावा, उन्हें सुस्ती, सूजन, बुखार, और एनीमिया जैसे कई लक्षण होते हैं। अरब देशों या मध्य पूर्व में मान्यता है कि अगर ऊंट को ऐसी बीमारी हो, तो उसे जहरीला सांप खिलाना चाहिए। इस बीमारी का उपचार भी इसी तरीके से होता है। इसे ठीक करने के लिए, ऊंट के मुंह को खोलकर उसमें सांप डाला जाता है। इसके बाद पानी डाला जाता है ताकि सांप ऊंट के पेट में पहुंच सके। इससे सांप का जहर ऊंट के शरीर में फैल जाता है। जब इसका प्रभाव कम होता है, तो ऊंट की स्थिति में सुधार होता है। कुछ दिनों में, ऊंट पूरी तरह से स्वस्थ हो जाता है।

मुख्य रूप से ऊंट का आहार | Camel Khata Hai Cobra

ऊंट का आहार मुख्य रूप से पेड़, पत्ते, फल, और फूल आदि से होता है। उनके शरीर का सबसे महत्वपूर्ण भाग उनका कूबड़ होता है, जिसमें वे अपनी चर्बी जमा करके रखते हैं। जब तेज धूप में भोजन और पानी की कमी होती है, तो वे इसी चर्बी के भरोसे जीवित रहते हैं। इसी गुण के कारण उन्हें ‘रेगिस्तान का जहाज’ कहा जाता है। वे कई दिनों तक बिना पानी के जी सकते हैं, और जब वे पानी पीते हैं, तो वे एक बार में 100 से 150 लीटर पानी पी जाते हैं। सामान्य तौर पर ऊंट की ऊंचाई सात फीट तक होती है।

Source Internet  

1 thought on “Camel Khata Hai Cobra | यहां ऊँट के मुँह में जीरा नहीं बल्कि रखा जाता है Saanp ”

Comments are closed.