Betul News | खण्डेलवाल समाज की महिलाओं ने मनाया गणगौर पर्व

पूजा के साथ हुई प्रतियोगिता में महिलाओं ने लिया हिस्सा

Betul Newsबैतूल खण्डेलवाल समाज की महिलाओं ने गणगौर पर्व धूमधाम से मनाया। इस दौरान पूजा पाठ के बाद प्रतियोगिता भी आयोजत की गई जिसमें महिलाओं ने बढ़चढक़र हिस्सा लिया और विजयी महिलाओं को पुरस्कार भी वितरित किए गए। गौरतलब है कि खण्डेलवाल समाज की महिलाओं के द्वारा प्रतिवर्ष गणगौर पर्व मनाया जाता है और इसकी तैयारियां भी पहले से की जाती हैं।

कल सिविल लाइन्स स्थित गार्डन में गणगौर पर्व को लेकर कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें महिलाओं ने उत्साहपूर्वक भाग लेते हुए बिंदोरा निकाला। गणगौर पर्व को लेकर बताया जाता है कि गण मतलब भगवान शिव और गौर मतलब माता पार्वती इन दोनों को मिलाकर गणगौर शब्द बनता है। इसे इसर और गौरा भी कहा जाता है। इस पर्व में कुंवारी लड़कियां मनपसंद वर पाने के लिए कामना करती हैं वहीं विवाह महिलाएं चैत्र शुक्ल तृतीया को गणगौर पूजन तथा व्रत कर अपने पति की दीर्घायु की कामना करती हैं। होलिका दहन के दूसरे दिन चैत्र कृष्ण प्रतिपदा से चैत्र शुक्ल तृतीया तक 18 दिनों तक गणगौर पर्व चलता है। गणगौर व्रत गौरी तृतीया के दिन यानी चैत्र शुक्ल तृतीया को किया जाता है। इस व्रत का राजस्थान में बड़ा महत्व है।

गणगौर व्रत करने वाली महिलाओं का कहना है कि शादी के उपरांत नवविवाहिता पहली बार गणगौर अपने मायके में मनाती हैं। बाद में प्रतिवर्ष वो अपने ससुराल में ही गणगौर का पूजन करती हैं। चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को गणगौर तीज मनाई जाती है। यह तिथि चैत्र मास की नवरात्रि में आती है और इसे अखण्ड सोहाग का पर्व माना जाता है। खण्डेलवाल समाज की महिलाओं के द्वारा मनाए गए गणगौर पर्व के दौरान पूजा, पाठ होने के पश्चात महिलाओं के बीच प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया और उन्हें पुरस्कार वितरित किए गए। साथ ही प्रसादी वितरित भी की गई।

1 thought on “Betul News | खण्डेलवाल समाज की महिलाओं ने मनाया गणगौर पर्व”

Comments are closed.