Betul News – फोटो विवाद पर फटा गणतंत्र दिवस की शुभकामनाओं का फ्लैक्स

घोड़ाडोंगरी नगर परिषद बन रही है राजनीति का अखाड़ा

Betul Newsबैतूल घोड़ाडोंगरी नगर परिषद में लगातार विवाद सामने आ रहे हैं। ताजा विवाद उस समय सामने आया जब नगर परिषद के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और पार्षदगणों की ओर से गणतंत्र दिवस की शुभकामनाओं का फ्लैक्स लगाया गया था जिसे फाड़ दिया गया है। इस फ्लैक्स के विवाद में नप अध्यक्ष सहित उपाध्यक्ष और पार्षदगणों ने पुलिस चौकी घोड़ाडोंगरी में शिकायत दर्ज कराई है। दिए गए आवेदन में सीएमओ पर भी गंभीर आरोप लगाए गए हैं।

क्या है शिकायत

घोड़ाडोंगरी पुलिस चौकी में की गई शिकायत में नगर परिषद अध्यक्ष मीरावंती उइके, उपाध्यक्ष हरप्रीत सिंह खनूजा एवं अन्य ने उल्लेख किया है कि 26 जनवरी 2024 गणतंत्र दिवस राष्ट्रीय पर्व उत्सव का बैनर/फ्लेक्स मेरे एवं समस्त नगर परिषद के अध्यक्ष उपाध्यक्ष पाषर्दगण के फोटो सहित दुर्गा चौक घोड़ाडोंगरी में लगाया गया था। 27 जनवरी को उक्त फ्लेक्स को फाडक़र अपमानित करने का काम किया गया है। जाकर देखा तो फ्लेक्स फटे हुए थे। जिसका सोशल मीडिया पर वीडियो भी वायरल हो रहा है। उन्होंने बताया कि दो व्यक्ति उस बैनर को फाड़ कर समेटे हुए हैं। दोनों व्यक्ति की पहचान करी तो पता चला पहला व्यक्ति अजय लंगोटे एवं दूसरा व्यक्ति अमर बंसोड़ है। अध्यक्ष ने कहा कि इस तरह से मुझे मानसिक रूप से प्रताडि़त करने का प्रयास जानबुझकर किया गया है।

अध्यक्ष ने अपमानित करने का लगाया आरोप | Betul News

नगर परिषद अध्यक्ष श्रीमती मीरावंती उईके ने सीएमओ पर आरोप लगाया है क वे आदिवासी समाज से हैं और नगर परिषद की अध्यक्ष हैं। इसलिए नगर परिषद मुख्य नगर परिषद अधिकारी ऋ षिकांत यादव द्वारा मुझे नगर परिषद मीटिंग के दौरान एवं कार्यालय में अपमानित किया जाता है जिससे मेरा सार्वजानिक रूप से अपमान होता है। इससे मैं मानसिक रूप से आहत हूं। उन्होंने कहा कि इस तरह से राष्ट्रीय पर्व का फ्लैक्स फाडऩा निंदनीय है।

इन्होंने की शिकायत

शिकायत करने वालों में नगर परिषद की अध्यक्ष श्रीमती मीरावंती उइके, उपाध्यक्ष हरप्रीत सिंह खनूजा, पार्षदगण कविता महाले, निशा धुर्वे, सोना राजपूत, राहुल इवने, योगेंद्र कवड़े शामिल हैं। इस मामले में उपाध्यक्ष हरप्रीत सिंह खनूजा ने कहा कि इस मामले की जांच हो और सीएमओ सहित जो दो व्यक्ति वीडियो में दिखाई दे रहे हैं उनके खिलाफ एफआईआर की जाए। यह सीधे अपमानित करने का मामला है। इस तरह से जनप्रतिनिधियों का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

यहां से शुरू हुआ था विवाद | Betul News

27 जनवरी को घोड़ाडोंगरी में राजस्व अभियान शिविर आयोजित किया गया था जिसमें विधायक श्रीमती गंगाबाई उइके भी शामिल हुई थी। इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं ने नाराजगी जताते हुए कहा कि इस शिविर की किसी को भी सूचना दी गई और ना ही मुनादी कराई गई। जिससे लोगों को शिविर की जानकारी ही नहीं मिली। इसी दौरान पूर्व संसदीय सचिव रामजीलाल उइके ने विधायक को अवगत कराया कि नगर परिषद ने जो फ्लैक्स लगाया है उसमें अध्यक्ष-उपाध्यक्ष की तो फोटो लगी है लेकिन मुख्यमंत्री और विधायक की फोटो नहीं लगी है। इसको लेकर विधायक श्रीमती उइके ने भी कहा कि भाजपा के जनप्रतिनिधियों की लगातार अवहेलना हो रही है। यह मामला मीडिया की सुर्खियों में आया और इसी के बाद फ्लैक्स का फटने से मामला और अधिक गर्माया गया है। अब कांग्रेस ने भी सीएमओ के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

इनका कहना…

इस बारे में मुझे कुछ नहीं कहना है, गणतंत्र दिवस का कार्यक्रम होने के बाद फ्लैक्स निकलवा दिया है।

ऋषिकांत यादव, सीएमओ नगर परिषद घोड़ाडोंगरी