Betul Ganj Marg – राहगिरों के लिए मुसीबत बना गंज का मार्ग

17 साल बाद भी सडक़ के गड्डे भरने की नपा ने नहीं ली सुध

Betul Ganj Marg – बैतूल – प्रदेश सरकार प्रदेश में विकास यात्रा निकाल रही है और भाजपा के जनप्रतिनिधि शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्र तक सरकार के विकास कार्यों को पहुंचा रही है। ऐसे ही विकास की पोल गंज का वह मार्ग खोल रहा है जहां 17 साल पहले डिवाईडर के लिए छोड़ी गई जगह भरने की जहमत तक नहीं उठाई गई। यह मार्ग राहगिरों के लिए मुसीबत बन गया है। प्रतिदिन यहां चार से पांच एक्सीडेंट होते हैं। इसके बाद भी बैतूल नगर पालिका इस मार्ग की सुध नहीं ले रही है।

आए दिन हो रहे लोग घायल | Betul Ganj Marg

गंज के तुलसी होटल के सामने लगभग 17 साल पहले सीसी रोड नगर पालिका ने बनाई थी। इस रोड को नगर पालिका ने मॉडल रोड के रूप में बनाने के लिए बीचों बीच डिवाईडर बनाने की भी योजना बनाई थी। इस योजना के तहत सीसी रोड के बीच में जगह छोड़ी गई थी जो वर्तमान में गड्ढे के रूप में तब्दील हो गई है।

Also Read – FASTag Latest News – सरकार के इस फैसले से नहीं पड़ेगी फास्टैग की जरुरत, शुरू होगी ये सुविधा!  

स्थिति यह है कि यहां से निकलने वाले दोपहिया चालक इस गड्ढे में स्लिीप होकर गिर जाते हैँ और घायल हो जाते हैं। लाखों रुपए की लागत से बनाई गई इस सडक़ से क्षेत्र के जनप्रतिनिधि और भाजपा नेता भी निकलते हैं लेकिन उनकी भी नजर सडक़ के इस गड्ढे पर नहीं पड़ रही है जिसका खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है।

नपा की उदासीनता से हो रहे घायल | Betul Ganj Marg

जानकार बताते हैं कि सडक़ बनने के समय डिवाईडर बनाकर उसके बीच में पौधे लगाकर इस मार्ग का सौंदर्यीकरण करने की योजना थी। साथ ही बीच में स्ट्रीट लाइट लगाई जानी थी। नगर पालिका ने स्ट्रीट लाइट तो लगा दी लेकिन डिवाईडर नहीं बनाए इसके पीछे कारण बताया जा रहा है कि सडक़ के दोनों तरफ कुछ गुमठी अतिक्रमण कर रख दी गईं थी। जिसे हटवाने के असफल प्रयास किए गए। जब गुमठी नहीं हटी तो इस सडक़ से नगर पालिका का ध्यान हट गया और सडक़ को वैसे ही छोड़ दिया गया।

Also Read – Royal Enfield Bill In 1986 – बुलेट की कीमत थी इतनी कम, 37 साल पुराना बिल हुआ Viral  

व्यापारियों में है नाराजगी | Betul Ganj Marg

व्यवसायिक क्षेत्र गंज में जिले भर से लोग आते हैं। तुलसी होटल के सामने वाला यह मार्ग वर्तमान में कार्मिशियल मार्ग हो गया है यहां पर बड़े-बड़े शोरूम, बैंक, कपड़े, खाद, बीज की दुकान के अलावा शहर की प्रसिद्ध राधाकृष्ण धर्मशाला है जहां पर आए दिन बड़े-बड़े कार्यक्रम होते हैं। और बड़ी संख्या में लोगों का इस मार्ग पर आना-जाना होता है।

इस मार्ग के दोनों तरफ स्थित दुकानों के व्यापारी खुलकर अपनी नाराजगी व्यक्त कर रहे हैं क्योंकि उनके यहां आने वाले कई ग्राहक गिरकर घायल हो रहे हैं।

Leave a Comment