सफर करते समय अगर गलती से खो जाये या फट जाये ट्रैन का टिकट! तो क्या करे? जाने

सफर करते समय अगर गलती से खो जाये या फट जाये ट्रैन का टिकट! तो क्या करे? जाने , भारतीय रेलवे को भारत की जीवन रेखा माना जाता है. हर रोज करोड़ों यात्री रेलवे के जरिए सफर करते हैं और अपने गंतव्य तक पहुंचते हैं. रेलवे द्वारा हर दिन लगभग 13 हजार ट्रेनों का संचालन किया जाता है. भारत में पहली ट्रेन 1853 में चली थी, जिसे साहिब, सुल्तान और सिंध नाम के लोकोमोटिव से खींचा गया था. यानी, भारतीय रेलवे 160 साल से भी ज्यादा पुरानी है. आपने भी कभी न कभी से जरूर सफर किया होगा. लेकिन इस दौरान अगर आपकी टिकट खो जाए तो क्या करेंगे? घबराने की जरूरत नहीं है. इस लेख में दी गई जानकारी से आप इस समस्या का समाधान निकाल सकते हैं.

ये भी पढ़े- ‘रूखी सूखी रोटी’ गाने पर छोटी सी बच्ची ने किया सुन्दर सा डांस, वीडियो देख आप भी हो जाओगे फैन

सफर करते समय अगर गलती से खो जाये या फट जाये ट्रैन का टिकट! तो क्या करे? जाने

ट्रेन में यात्रा कर रहे हैं और आपकी टिकट खो गई है, तो घबराने की जरूरत नहीं है. आपको इस बारे में ट्रेन के टीटीई (TTE) को सूचित करना होगा, इसके बाद टीटीई आपको डुप्लीकेट टिकट जारी करेगा. यह टिकट मूल टिकट के जैसा ही होता है. हालांकि, इस टिकट को मूल टिकट से अलग पहचानना आसान होता है. इस टिकट के जरिए आप अपने गंतव्य तक यात्रा कर सकते हैं.

डुप्लीकेट टिकट पर लगेगा शुल्क

यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि अगर टीटीई द्वारा आपको डुप्लीकेट टिकट जारी किया जाता है, तो यह टिकट फ्री नहीं होगा, बल्कि इसके लिए आपको भारतीय रेलवे को शुल्क देना होगा. हालांकि, इसके लिए रेलवे द्वारा एक सीमित राशि तय की गई है. बदले में आपको रेलवे द्वारा एक शुल्क पर्ची भी दी जाएगी.

कितना देना होगा शुल्क

अब सवाल है कि टीटीई आपसे डुप्लीकेट टिकट के लिए कितना शुल्क ले सकता है, तो बता दें कि इसके लिए आपको ज्यादा भुगतान नहीं करना पड़ेगा. अगर आप स्लीपर क्लास या सेकेंड क्लास में यात्रा कर रहे हैं, तो आपको 50 रुपये में डुप्लीकेट टिकट मिल जाएगा. हालांकि, अन्य श्रेणियों के लिए यह शुल्क अलग है.

ये भी पढ़े- देसी दारू का कमाल! शराब के नशे में धुत शख्स जा बैठा अड़ियल बैल पर फिर जो हुआ…देखे वायरल वीडियो

दूसरी श्रेणी के लिए शुल्क

भारतीय रेलवे द्वारा अलग-अलग श्रेणियों के लिए अलग-अलग डुप्लीकेट टिकट राशि तय की गई है. अगर आप स्लीपर और सेकेंड क्लास के अलावा किसी अन्य श्रेणी में यात्रा कर रहे हैं और आपकी टिकट खो जाती है, तो इसके लिए आपको 100 रुपये का भुगतान करना होगा, इसके बाद टीटीई द्वारा आपको डुप्लीकेट टिकट जारी कर दिया जाएगा. सफर करते समय अगर गलती से खो जाये या फट जाये ट्रैन का टिकट! तो क्या करे? जाने

टिकट फट जाने पर क्या करें

भारतीय रेलवे में यात्रा के दौरान कई बार ऐसा होता है कि मूल टिकट किसी कारण से फट जाता है या बच्चों द्वारा खराब कर दिया जाता है. अगर आप ट्रेन में यात्रा कर रहे हैं और आपके साथ भी ऐसा हुआ है, तो आप अपनी यात्रा किराए का 25 प्रतिशत भुगतान करके डुप्लीकेट टिकट प्राप्त कर सकते हैं. हालांकि, यहां ध्यान देने वाली बात ये है कि अगर आपके पास वेटिंग टिकट है, तो आपको डुप्लीकेट टिकट लेने की जरूरत नहीं है. आप इस बारे में अपनी ट्रेन के टीटीई को सूचित कर सकते हैं. क्योंकि, वेटिंग टिकट में आपको सीट नहीं मिलती है. ऐसे में आप सिर्फ ट्रेन की बोगी में ही सफर कर सकते हैं. वहीं, डुप्लीकेट टिकट आपको सिर्फ कन्फर्म टिकट फटने पर ही मिल सकता है.