त्रिकोणीय प्रेम प्रसंग में बाल अपचारी ने की थी महिला की हत्या

सोनाघाटी में हुए महिला हत्याकाण्ड का पुलिस ने किया पर्दाफाश

बैतूल। सोनाघाटी में एक महिला की गला कटी हुई मिली लाश का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। दरअसल महिला की हत्या त्रिकोणीय प्रेम प्रसंग के चलते की गई थी। इस हत्या को अंजाम बाल अपचारी प्रेमी ने दिया था। बाल अपचारी ने पहले महिला को ब्लैकमेल करते हुए उसके साथ अवैध संबंध बनाए और उसके बाद विवाद होने पर उसकी शराब की बोतल तोड़कर गला काटकर हत्या कर दी थी। पुलिस कंट्रोल रूम में रविवार को आयोजित पत्रकारवार्ता में अंधे कत्ल का खुलासा किया गया।

18 मार्च को मिला था शव

एसडीओपी शालिनी परस्ते ने बताया कि थाना कोतवाली पुलिस को 18 मार्च को सोनाघाटी क्षेत्रातर्गत सतपुडा वैली पब्लिक स्कूल के सामने सोनी के खाली खेत में अज्ञात महिला का शव मिलने की सूचना 100 डॉयल पर प्राप्त होने पर कोतवाली पुलिस द्वारा मौके पर जाकर घटना स्थल सुरक्षित कर घटना की जानकारी वरिष्ठ अधिकारियो को दी गई एवं प्रारंभिक कार्यवाही की गयी। विवेचना के दौरान अज्ञात शव की शिनाख्त निवासी सोनाघाटी के रूप में होने पर अपराध दर्ज कर पीएम कराया गया।
दो संदेहियों को किया था गिरफ्तार
प्रकरण की विवेचना के दौरान वैज्ञानिक एव भौतिक साक्ष्य के आधार पर मुखबिर के सहयोग से संदेही व्यक्तियो को अभिरक्षा में लेकर 23 मार्च को सूक्षमता से पूछताछ की गयी। पूछताछ में पाया गया कि महिला की हत्या बाल अपचारी प्रेमी ने की थी। क्योंकि वह नहीं चाहता था कि महिला उसके दूसरे प्रेमी से मिले।

पहले किया विवाद

एसडीओपी शालिनी परस्ते ने बताया कि प्रकरण में विवेचना में पाया गया कि मृतिका का प्रेम सबध एक व्यक्ति चादू मिस्त्री व विधि विरूध्द बालक से था। 17 मार्च को की रात्रि करीबन सवा ग्यारह बजे के आसपास वह अपने प्रेमी चांदू मिस्त्री जिसके साथ वह मजदूरी करती थी। मोबाईल पर बात करते हुये मिलने जा रही थी। तभी रास्ते पर ग्राऊंड घटना स्थल पर विधि विरुध्द बालक शराब पी रहा था जहां मृतिका के अकेले रात्री में जाने का कारण पता होने पर वह आक्रोशित हो गया। जिससे मृतिका और विधि विरूध्द बालक के मध्य विवाद हुआ।

हत्या कर मिटाए साक्ष्य

विधि विरूध्द बालक ने महिला के घर में उक्त बात बताने की धमकी दी और बदले में शारीरिक संबंध बनाया जिसके बाद पुन: विधि विरूध्द बालक के साथ मृतिका का उसके प्रेमी चादू मिस्त्री को लेकर विवाद हुआ। विधि विरूध्द बालक ने उसी समय शराब की बाटल तोड़कर मृतिका के गले में बार कर हत्या कर दिया। उक्त घटना के बाद विधि विरूध्द बालक ने एक अन्य अपने साथी विधि विरूध्द बालक को फोन लगाकर पानी बुलाकर साक्ष्य को नष्ट करने का प्रयास किया है। दोनो विधि विरूध्द बालको को अभिरक्षा में लिया जाकर न्यायालय पेश किया जा रहा है।

इनकी रही विशेष भूमिका

उक्त अन्धे कत्ल के खुलासा व कार्यवाही में एसडीओपी बैतूल शालिनी परस्ते, थाना प्रभारी कोतवाली बैतूल निरीक्षक देवकरण डेहरिया, एसआई दिनेश कुमरे, एसआई आबिद अंसारी एफएसएल अधिकारी, एएसआई जगदीश रायकवार, एएसआई दिलदार सिंह, एएसआई अरुण यादव प्रधान आरक्षक 238 कामता प्रसाद, प्रधान आरक्षक 393 महेंद्र पवार, आरक्षकों में 132 नवनीत वर्मा, थाना यातायात, आरक्षक 650 उज्जवल दुबे, आरक्षक 432 दुर्गेश वर्मा, आरक्षक 102 दिनेश धुर्वे, आरक्षक 347 विष्णु चौहान, आरक्षक 227 राजकुमार, आरक्षक 56 नितिन चौहान एवं आरक्षक 369 शिव कुमार, गंज थाना के आरक्षक 581 अनिरुद्ध यादव (आरक्षक राजेंद्र धाड़से, बलराम राजपूत, दीपेंद्र सायबर सेल) की विशेष भूमिका रही।

📲खबरवाणी के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

व्हाट्सएप्प ग्रुप