MP Politics | विस में कांग्रेस और लोस में जीतती आई भाजपा

कमलनाथ के दावे पर कांग्रेसियों की राय

MP Politicsबैतूलकांग्रेस के दिग्गज नेता, 35 साल सांसद रहे, 15 माह मुख्यमंत्री, 10 साल केंद्रीय मंत्री एवं 6 साल प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रहे कमलनाथ ने 2024 के आगामी चुनाव में मध्यप्रदेश की कुल 29 लोकसभा सीटों में से 16-17 लोकसभा सीटों पर कांग्रेस की हार स्वीकार कर ली है। क्योंकि उज्जैन में आयोजित पत्रकारवार्ता में उन्होंने यह स्पष्ट दावा कर दिया है कि 2024 के इस लोकसभा चुनाव में मध्यप्रदेश में कांग्रेस 12 से 13 सीटें जीतेगी और इसी दावों को पकड?र राजनैतिक समीक्षकों ने इसका अर्थ यह निकाला है कि कांगे्रस प्रदेश में कुल 29 सीटों में से 16-17 सीटें हार रही है। इस दावे पर खबरवाणी ने आज बैतूल जिले के प्रमुख कांग्रेस पदाधिकारी एवं कमलनाथ के कट्टर समर्थक माने जाने वाले कुछ नेताओं से बात की।

जिले के कांग्रेसी तो खबरवाणी के इस प्रश्र पर कांग्रेस की जीत का दावा करेंगे लेकिन इस जीत में कितना दम है वह इसी तथ्य से स्पष्ट हो रहा है कि 1996 से हुए 8 चुनाव में कांग्रेस को हमेशा हार मिली है। और इस 2024 के दौर में जिस तरह से देश में मोदी लहर चल रही है उसके अनुसार इस बार भी बैतूल सीट से कांग्रेस उम्मीदवार का जीतना टेड़ी खीर माना जा रहा है।

2018 में कांग्रेस के बने चार एमएलए, लोस हारे | MP Politics

2018 के विधानसभा चुनाव में जिले की पांच विधानसभा सीटों में से चार सीटों पर कांग्रेस के चार उम्मीदवार बैतूल से निलय डागा, मुलताई से सुखदेव पांसे, घोड़ाडोंगरी से ब्रम्हा भलावी एवं भैंसदेही से धरमूसिंह बड़े अंतर से चुनाव जीते थे। एकमात्र सीट आमला भाजपा के डॉ. योगेश पंडाग्रे को मिली थी। इस विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 435918 वोट मिले थे। और भाजपा को पूरे जिले में 367413 वोट मिले थे। इस तरह से कांग्रेस को भाजपा से 68505 वोट अधिक मिले थे। लेकिन विधानसभा चुनाव के 6 माह बाद ही हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा के डीडी उईके ने पूरे संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस के रामू टेकाम को 3 लाख 60 हजार 241 वोटों से पराजित किया जिसमें बैतूल जिले की भी लीड लगभग डेढ़ लाख वोटों से अधिक की रही।

2023 में कांग्रेस के पांचों उम्मीदवार हारे

2023 के विधानसभा चुनाव में जिले की पांचों विधानसभा सीटों पर कांग्रेस उम्मीदवारों को करारी हार का सामना करना पड़ा। भाजपा को इन पांचों सीटों पर 4 लाख 93 हजार 623 वोट प्राप्त हुए। वहीं कांग्रेस उम्मीदवारों को 4 लाख 38 हजार 687 मत प्राप्त हुए। जब बैतूल जिले से ही विधानसभा चुनाव में कांग्रेस भाजपा से 54936 वोटों से पीछे रही है तो इस विधानसभा चुनाव के पांच माह बाद हो रहे लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के उम्मीदवार की क्या स्थिति रहेगी इसे समझा जा सकता है। इसके बावजूद जिले के कांग्रेस नेता बैतूल लोकसभा सीट को अभी भी जीतने की बात कर रहे हैं। यह समझ से परे हैं।

बैतूल सीट जीतेगी कांग्रेस | MP Politics

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के बयान को लेकर बैतूल जिला कांग्रेस ग्रामीण के अध्यक्ष हेमंत वागद्रे से सांध्य दैनिक खबरवाणी ने चर्चा कि बैतूल सीट आप किस श्रेणी में रखते हैं इसको लेकर उन्होंने कहा कि कांग्रेस एकजुट होकर चुनाव लड़ रही है और हम इस बार लोकसभा सीट जीतेंगे। हरदा और टिमरनी में इस बार कांग्रेस के दो विधायक है वहां भी कांग्रेस की स्थिति मजबूत है। जिला कांग्रेस शहर अध्यक्ष सुनील शर्मा से चर्चा की तो उन्होंने कहा कि कोई विधायक रहे या ना रहे कार्यकर्ता चुनाव लड़ते हैं, हम मेहनत करेंगे और बैतूल लोकसभा सीट जीतेंगे।

1 thought on “MP Politics | विस में कांग्रेस और लोस में जीतती आई भाजपा”

Comments are closed.