MP News | 85 लाख नहीं 96 हजार किसान ही थे पात्र

कर्ज माफी के आंकड़े भूल गए कमलनाथ

MP Newsबैतूल2018 के विधानसभा चुनाव में किसान कर्ज माफी ने ही कांग्रेस की सरकार बनवाई थी। और सरकार बनते ही प्रदेश के किसानों को कर्जा माफ करने की प्रक्रिया शुरू हुई थी। कांग्रेस इसी कर्जा माफी को 2023 के विधानसभा चुनाव और 2024 के लोकसभा चुनाव में भुनाने की कोशिश कर रही है। यही कारण है कि कांग्रेस के नेता मध्यप्रदेश में हो रही आमसभाओं में कर्जा माफी का उल्लेख करना नहीं भूलते हैं। लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ खुद ही किसान कर्जा माफी के आंकड़े भूल गए हैं।

यह बात इसलिए सामने आई कि कल आमला के चुटकी गांव में आयोजित आमसभा को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि हमारी सरकार ने प्रदेश के 27 लाख किसानों का और बैतूल जिले के 85 लाख किसानों का कर्जा माफ किया था। अब इसे जुबान का फिसलना माने या फिर उनको दिए गए आंकड़े की जानकारी गलत माने यह बात कांग्रेस ही जानती है लेकिन भाजपा को यह एक मुद्दा मिल गया है।

जिले में 96 हजार कृषक थे पात्र | MP News

2018 में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत कर्ज माफी की प्रक्रिया शुरू की गई। इंटरनेट सोर्स से मिली जानकारी के मुताबिक 31 मार्च 2019 तक बैतूल जिले में 96 हजार 854 कृषक कर्ज माफी के लिए पात्र पाए गए थे। इसके बाद इन किसानों की एमपी ऑनलाइन पोर्टल पर एंट्री शुरू की गई जिसमें 88 हजार 855 किसानों की एंट्री हुई थी। पहले फेज में 50 हजार रुपए तक का कर्ज माफ किया गया। इसके बाद 1 लाख का कर्जा माफ करने की प्रक्रिया शुरू हुई जिसमें जानकार बताते हैं कि भैंसदेही, मुलताई और बैतूल ब्लाक के किसानों का 1-1 लाख रुपए का कर्ज माफ किया गया। यह कर्ज पूरे किसानों का भी माफ नहीं हो पाया था।

2 लाख रु. तक कर्ज नहीं हुए माफ | MP News

एक तरफ कांग्रेस कर्ज माफी का क्रेडिट लेने के लिए हमेशा कर्ज माफी को हाईलाइट करती है और खासतौर पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ अपनी आमसभाओं में यह कहना नहीं भूलते कि जब हमारी सरकार बनी थी तो हमने प्रदेश के किसानों का कर्जा माफ किया था। वहीं दूसरी तरफ भाजपा नेता कर्ज माफी को लेकर कांग्रेस पर आक्रमण करते हुए दिखाई देते हैं। उनका कहना है कि कुछ किसानों का ही कर्ज माफ हुआ है बाकि किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ जिनमें 1 लाख से ऊपर वाले किसानों का तो कर्ज माफ ही नहीं हुआ है।

भाजपा को एक मौका और मिल गया जब कांग्रेस प्रत्याशी रामू टेकाम के पक्ष में आमसभा को संबोधित करने के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कर्ज माफी को लेकर गलत आंकड़ा दे दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 27 लाख किसानों का कर्जा माफ किया है और बैतूल जिले के 85 लाख किसानों का कर्जा माफ किया है। इसको लेकर भाजपा के नेता तंज कसते हुए दिखाई दे रहे हैं।

भाजपा किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष महेश्वर चंदेल ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की याददाश्त कमजोर हो गई है जिसके कारण वे किसान कर्ज माफी के आंकड़े गलत बता रहे हैं। उन्हें आंकड़ों की जांच कर लेना चाहिए कि कितने किसानों का कर्जा माफ हुआ है।