Mahatma Gandhi – 90 वर्ष पूर्व 1500 लोगों के साथ खेड़ी पहुंचे थे महात्मा गांधी

स्वर्णिम गौरव दिवस पर के रूप में दर्ज है 30 नवम्बर का दिन

मनोहर अग्रवाल(खेड़ी सवलीगढ़)

Mahatma Gandhi Aaye The Betul – खेडीसावलीगढ़ मनोहर अग्रवाल जिला मुख्यालय से सटे ग्राम खेडीसावलीगढ़ का इतिहास(history) बड़ा ही स्वर्णिम हैइस स्वर्णिम इतिहास में आज से 90 वर्ष पूर्व 30 नवम्बर 1933 में कड़कड़ाती ठंड में राष्ट्र पिता महात्मा गांधी खेडी के गांधी चौक में पधारे थे सभी जानते है।

महात्मा गांधी एक युगपुरुष थे।वे समाज में एकता और समानता के साथ साथ जन जन की खुशहाली के लिए जीवन भर कार्य करते रहे उनके इन्ही सिधान्तो का पालन विश्व के अनेक देश करते रहे है।और विकास के शिखर तक पहुँच रहे है।महात्मा गांधी जी देश के उन लाखो गावो में से चुनिदा गावो में से जिन गावो में गये थे उनमे ग्राम खेडी सावली गढ़ का भी है ।

Mahatma Gandhi – 90 वर्ष पूर्व 1500 लोगों के साथ खेड़ी पहुंचे थे महात्मा गांधी

हमारे लिए गौरव का विषय है।यह एक ऐतिहासिक(Historical) दिन है।जो इतिहास(History) के पन्नो में दर्ज है।इतिहास बया कर रहा है।आज ही के दिन 30 नवम्बर 1933 को अल सुबह साढ़े छह बजे गांधी जी लगभग 1500 लोगो के साथ खेडी आये थे।अपनी खेडी यात्रा के बाद वे पुण्य सलिला सूर्यपुत्री ताप्ति नदी(Tapti River) के तट बारालिंग पँहुचे वहाँ उन्होंने ताप्ति किनारे झोपडी बनाकर रह रही ।

Mahatma Gandhi – 90 वर्ष पूर्व 1500 लोगों के साथ खेड़ी पहुंचे थे महात्मा गांधी

अंग्रेज महिला मीराबेन से मुलाकात की और बारालिंग मंदिर के महंत रंगराव महाराज से मुलाकात की और उनसे पूछा यहाँ मंदिर में सभी को प्रवेश दिया जाता है।तो रंगराव महाराज ने कहा यहाँ किसी भी जाती के लोगो से भेदभाव बिलकुल नही है।सभी को मंदिर में प्रवेश दिया जाता है बारालिंग से रवाना होने के बाद गांधी जी ने खेडी सरपंच सुन्दर लाल ठाकरे से मुलाकात की और अपने साथियों के साथ गांधी स्टेडियम(Stadium) में बैठक लेकर बैतुल के लिए प्रस्थान किया जहाँ उन्होंने बिरदीचंद गोठी के घर में निवास किया

Leave a Comment