HometrendingLakshadweep Tourism - भारत के इस शहर से है लक्षद्वीप की एंट्री...

Lakshadweep Tourism – भारत के इस शहर से है लक्षद्वीप की एंट्री लेनी होती है परमिट 

पीएम ने की लक्षद्वीप में पर्यटन बढ़ाने की अपील 

Lakshadweep Tourismइस समय पूरे देश में पर्यटन की दृष्टि से लक्षद्वीप, दक्षिण-पश्चिम के द्वीप समूह, सबसे अधिक चर्चा में है। छोटे 36 द्वीपों वाले लक्षद्वीप की सुंदरता को अमेरिका के हवाई और मालदीव से अधिक माना जा रहा है। लेकिन देश के सबसे खूबसूरत द्वीप समूह में से एक लक्षद्वीप तक पहुंचना आम लोगों के लिए अभी भी कठिन है। क्योंकि लक्षद्वीप पहुंचने का गेटवे सिर्फ केरल के कोच्चि शहर है, जहां से फ्लाइट और जहाज़ के माध्यम से जाया जा सकता है। घरेलू पर्यटन को बढ़ावा देने वाले विभिन्न संगठनों ने केंद्र सरकार से मांग की है कि अब लक्षद्वीप को दिल्ली सहित मुंबई, कोलकाता और चेन्नई से सीधे जोड़ा जाए। इसके अलावा, लक्षद्वीप पहुंचने की अनुमतियों को भी सरल बनाने की मांग की गई है। केंद्र सरकार और लक्षद्वीप प्रशासन पर्यटन को बढ़ावा देने के सभी संभावनाओं को और बेहतर करने की तैयारी में हैं।

पर्यटन को प्रोत्साहित करने वाली प्रदर्शनी में लक्षद्वीप के बारे में कई लोग सवाल पूछते हैं, पर ज्यादातर लोग अंडमान और निकोबार द्वीप समूह की ओर मुड़ जाते हैं। उनका कहना है कि लक्षद्वीप जाने के लिए केरल के कोच्चि के सिवा कोई भी सीधी फ्लाइट नहीं है। लोग जो लक्षद्वीप जाते हैं, वे पहले केरल आते हैं, फिर कोच्चि से डेढ़ घंटे की फ्लाइट लेकर जाते हैं। लक्षद्वीप में एक ही एयरपोर्ट होने की वजह से बहुत कम फ्लाइट सुविधा है। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए, यहां की अलग-अलग क्षेत्रों को देश के साथ कनेक्ट करना बहुत जरूरी है।

पहले लेनी होनी प्रवेश परमिट | Lakshadweep Tourism

इस आइलैंड पर खूबसूरत दृश्यों को देखने के लिए आपको कुछ आवश्यक दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। हाँ, इस प्रशांत द्वीप पर घूमने के लिए आपको एक प्रवेश परमिट प्राप्त करना होगा। यह परमिट कैसे प्राप्त किया जा सकता है और इसे कहाँ से प्राप्त किया जा सकता है, और इसके लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे किया जा सकता है, इस प्रक्रिया के बारे में शायद आपको पता नहीं होगा।

लक्षद्वीप एंट्री परमिट प्राप्त करने की स्टेप-बाय-स्टेप प्रक्रिया और इस परमिट के लिए पात्र व्यक्तियों की सूची, हम आपको इस बारे में बताने जा रहे हैं।

लक्षद्वीप में निवास करने वाले और सरकारी अधिकारियों को छोड़कर, सभी को एंट्री परमिट की आवश्यकता होती है, चाहे वे भारतीय नागरिक हों या विदेशी। सूचना के अनुसार, हर व्यक्ति को जो लक्षद्वीप के आदिवासी नहीं है, उसे इन द्वीपों में प्रवेश और ठहराव के लिए परमिट लेना जरूरी होता है।

यात्रा के सबूत के रूप में आईडी प्रूफ जैसे आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड इत्यादि,
ट्रैवल प्रूफ के रूप में फ्लाइट टिकट या बोट बुकिंग टिकट,
होटल बुकिंग कन्फर्मेशन,
पासपोर्ट साइज फोटो,
पुलिस क्लियरेंस सर्टिफिकेट।

ऑनलाइन और ऑफलाइन कर सकते हैं अप्लाई 

लक्षद्वीप एंट्री परमिट के लिए आप दो तरीकों से आवेदन कर सकते हैं, ऑनलाइन और ऑफलाइन। आपकी सुविधा के अनुसार आप चुन सकते हैं। हालांकि, ऑनलाइन अप्लाई करना सबसे सरल और तेज़ तरीका है। आप ePermit पोर्टल https://epermit.utl.gov.in/pages/signup पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। वहां आपको ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा और डॉक्यूमेंट्स सबमिट करने होंगे।

इसके बाद, आपको परमिट फीस जमा करनी होगी, जो आपके गएँ हुए स्थान के आधार पर विभिन्न हो सकती है। अगर ऑफलाइन प्रक्रिया को पसंद करते हैं, तो आपको लक्षद्वीप एडमिनिस्ट्रेशन की वेबसाइट http://www.lakshadweeptourism.com/contact.html पर जाकर एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करना होगा या कवरत्ती जिला कलेक्टर ऑफिस से एप्लीकेशन प्राप्त करना होगा। इस फॉर्म में आवश्यक डॉक्यूमेंट्स के साथ फॉर्म को कलेक्टर ऑफिस में जमा करना होगा।

पहले से पूरी रखें तैयारियां | Lakshadweep Tourism 

ऑफलाइन प्रक्रिया में थोड़ा ज्यादा समय लग सकता है, इसलिए आपको पहले ही तैयारियां पूरी कर लेनी चाहिए। भारतीय नागरिकों को अपने स्थानीय पुलिस स्टेशन से क्लियरेंस सर्टिफिकेट जरूरी होगा। परमिट मिलने के बाद, आप अपनी यात्रा की बुकिंग भी कर सकते हैं। यह परमिट 30 दिनों के लिए मान्य होता है और आप चाहें तो ट्रैवल एजेंट से मदद ले सकते हैं।

Source – Internet   
RELATED ARTICLES

Most Popular