कद्दू की उन्नत खेती : कद्दू की खेती से किसानो को होगा फायदा,इस तरह करे किसान कद्दू की खेती पड़े पूरी कद्दू की खेती की जानकारी।

कद्दू की यह उन्नत किस्मे बना देंगी किसानो को मालामाल, कम समय में ज्यादा मुनाफा कमाने में सहायक होगी ये किस्मे, आप भी अगर काफी समय से सोच रहे हैं कि ऐसी कौन सी फसल उगाई जाए जिसमें निवेश भी कम हो और अच्छी आमदनी भी हो। आपको बता दे हलवा कद्दू के उत्पादन में भारत दूसरे स्थान पर है। यहां के किसान बड़े पैमाने पर कद्दू की खेती कर बेहतर मुनाफा कमा रहे हैं. अगर आप भी कद्दू की खेती से अधिक मुनाफा कमाना चाहते हैं तो आज हम आपको हलवा कद्दू की पीपीएच-2 किस्म के बारे में बताने जा रहे हैं, जो एक एकड़ खेत में 222 क्विंटल तक उत्पादन देती है. आइए जानते हैं इसकी खेती के बारे में

किसान कद्दू की खेती से हो सकता माला मॉल

आपको बता दें कि (पीपीएच-2) कद्दू की बहुत जल्दी पकने वाली किस्म है. इसकी बेल ऊंचाई में छोटी और पत्तियां गहरे हरे रंग की होती हैं। इसके फल छोटे और गोल आकार के होते हैं। इसके फल कच्चे होने पर हरे रंग के होते हैं, जो पकने पर मुलायम और भूरे रंग के हो जाते हैं। फल का गूदा सुनहरे पीले रंग का होता है। अगर आप इसकी अच्छी तरह से खेती करते हैं तो यह एक एकड़ में लगभग 222 क्विंटल का उत्पादन देती है. जिससे किसानों की आय बढ़ाने में मदद मिलती है।

यह भी पढ़े : Optical Illusion: झाड़ियों के बीच छुपे खरगोश को ढूंढ के बताओ 5 सेकंड में दिमाग वाला ही इसे देख सकता है।

 कद्दु की खेती की जानकारी

जानकारी के लिए आपको बता दें कि (PPH-2) कद्दू की खेती के लिए बलुई दोमट मिट्टी सबसे उपयुक्त होती है, अगर आप कद्दू की फसल उगाना चाहते हैं तो सबसे पहले खेतों को अच्छे से तैयार कर लें। सबसे पहले खेतों की अच्छे से जुताई कर लें, फिर खेतों में खाद डालकर कद्दू के बीज बोने के लिए क्यारियां तैयार कर लें. इसके बीजों को अधिकतर हाथ से लगाने की सलाह दी जाती है। आमतौर पर इस फसल को सिंचाई की अधिक आवश्यकता होती है. कद्दू की अच्छी पैदावार के लिए गर्मी के दिनों में हर पांचवे दिन पर सिंचाई करते रहें।

इस (PPH-2) कद्दु की खेती से होंगी लाखो रुपयों की कमाई

इस किस्म (PPH-2) के कद्दू की फसल से होने वाले मुनाफे की बात करें तो इस किस्म (PPH-2) के पौधे 90 से 100 दिनों के अंदर पैदावार देने के लिए तैयार हो जाते हैं. आपको बता दें कि कद्दू एक आम फसल है, जिसकी खेती में लागत अधिक नहीं आती है.आपको बता दें कि पीपीएच-2 एक एकड़ जमीन में 222 क्विंटल तक उत्पादन करता है, इसलिए आप एक सीजन में इसकी फसल से लगभग 3 से 4 लाख रुपये आसानी से कमा सकते हैं।