होली को लेकर चप्पे-चप्पे पर रहेगी पुलिस की नजर

शराब पीकर वाहन चलाने वालों के खिलाफ होगी कार्यवाही

शांति और सौहाद्र्र पूर्ण त्यौहार मनाने को लेकर की गई तैयारी

बैतूल। होली के पर्व को लेकर जिले भर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। चप्पे-चप्पे पर पुलिस की तैनाती की गई है। सुरक्षा को लेकर भोपाल बटालियन से बल भी आया है। प्रशासन की कोशिश है कि होली का पर्व शांति और सौहाद्र्र पूर्ण तरीके से मनाया जाए। वहीं पुलिस शराब पीकर वाहन चलाने वालों पर भी पैनी नजर रखेगी। इसके अलावा चिकित्सकों ने भी सलाह दी है कि होली पर कैमिकल वाले रंगों से बचे। इसके दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

नाको पर तैनात हुई पुलिस

लोकसभा चुनाव के दौरान होली पर्व को लेकर प्रशासन और पुलिस सुरक्षा के कड़े इंतजाम कर रही है। एडिशनल एसपी कमला जोशी ने बताया कि चुनाव को लेकर नाको पर सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस बल तैनात किया गया है। इसी के साथ ही होली पर्व को लेकर भी कड़ी निगरानी रखी जाएगी। उन्होंने बताया कि होली पर शांति और सौहाद्र्र पूर्ण रूप से मनाई जाए इसको लेकर पुलिस ने कड़े इंतजाम किए हैं। सबडिवीजन स्तर पर पुलिस अधिकारी सुरक्षा के इंतजामों पर पैनी नजर रखेंगे। वहीं जिला मुख्यालय पर होली पर्व को लेकर कड़े इंतजाम किए गए हैं। चौक-चौराहों पर पुलिस बल की तैनाती की जाएगी। वहीं मोबाइल गश्त भी लगातार जारी रहेगी।

बाहर से आया बल

होली पर्व को लेकर स्थानीय पुलि बल के अलावा बाहर से पुलिस बल बुलवाया गया है। भोपाल बटालियन से विशेष रूप से बल बैतूल आया है। होली पर्व में किसी भी तरह की हुड़दंग बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसी को लेकर आसामाजिक तत्वों पर भी पैनी नजर रखी जाएगी। खासतौर पर शराब पीकर वाहन चलाना और स्टंटबाजी पर पुलिस नजर रखेगी। अगर कोई शराब पीकर वाहन चलाते हुए मिला तो उसके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी। प्रशासन और पुलिस ने अपील की है कि होली पर्व को शांति के साथ मनाए।

नुकसानदायक होते हैं कैमिकलयुक्त रंग

होली रंगों का त्योहार है और हर कोई रंगों में डूब जाता है। त्योहार क उत्साह में लोग यह भूल जाते हैं कि कैमिकल वाले रंग उनके लिए नुकसानदायक हो सकते हैं। डॉ. आनंद मालवीय ने सांध्य दैनिक खबरवाणी से चर्चा में बताया कि लोगों को कैमिकल वाले रंगों से बचना चाहिए। क्योंकि इन रंगों से आंखों और त्वचा पर नुकसान होता है। इसके अलावा अस्थमा और एलर्जी वाले लोगों को अस्थमा अटैक आ सकता है। लोग कोशिश करें कि कैमिकल वाले रंग की जगह प्राकृतिक रंगों के साथ ही होली खेले और त्यौहार मनाएं ताकि इससे किसी को भी किसी भी प्रकार की हानि ना हो सके।

यात्री बसें रहेंगी बंद

धुलेंडी के पर्व पर सबसे अधिक रंग-गुलाब की होली खेली जाती है। इस दिन बस परिवहन सेवा भी बंद रहती है। वेदांश बस सर्विस के संचालक रजनीश आर्य ने बताया कि धुलेंडी के दिन यात्री बसें बंद रहती है। क्योंकि स्टाफ छुट्टी पर चला जाता है। और इसके अलावा हुड़दंग करने वाले असामाजिक तत्वों द्वारा कई बार बसों में तोडफ़ोड़ सहित अन्य घटनाएं भी कारित कर दी जाती है जिसकी वजह से प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी धुलेंडी पर यात्री बसों का परिवहन बंद रहेगा। उन्होंने बताया कि सोमवार को यात्री बसों का संचालन शुरू होगा।

📲खबरवाणी के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करें

व्हाट्सएप्प ग्रुप