Gyanvapi Survey – मंदिर के प्रमाण मिलने का दावा, सामने आई सर्वे रिपोर्ट 

हिन्दू पक्ष के अनुसार मंदिर होने के मिले 32 सबूत

Gyanvapi Surveyवाराणसी में ज्ञानवापी परिसर के बारे में एएसआई सर्वे की रिपोर्ट को गुरुवार रात सार्वजनिक कर दिया गया है। इस 839 पृष्ठों की रिपोर्ट को हिंदू-मुस्लिम पक्ष को सौंपा गया है। इसके बाद हिंदू पक्ष के वकील विष्णु शंकर जैन ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की है। उन्होंने दावा किया है कि रिपोर्ट में मंदिर होने के 32 सबूत मिले हैं। दीवारों पर कन्नड़, तेलुगु, देवनागरी और ग्रंथा भाषाओं में लेखनी मिली है।

मंदिर होने के सबूत | Gyanvapi Survey

उन्होंने बताया- भगवान शिव के तीन नाम भी हैं। वे हैं- जनार्दन, रुद्र, और ओमेश्वर। मस्जिद के सभी स्तंभ पहले मंदिर के थे, जिन्हें संशोधित करके मस्जिद में उपयोग किया गया है। मस्जिद की पश्चिमी दीवार से स्पष्ट होता है कि यह मंदिर की दीवार है। यह दीवार 5 हजार साल पहले नागर शैली में निर्मित हुई थी। इस दीवार के नीचे 1 हजार साल पुराने अवशेष भी मिले हैं। हालांकि, मुस्लिम पक्ष कहता है कि वे रिपोर्ट पढ़ने के बाद ही कुछ कह सकेंगे।

क्या कुछ है रिपोर्ट में 

विष्णु शंकर जैन ने कहा, “मस्जिद का गुंबद सिर्फ 350 साल पहले बना था। हनुमान और गणेश की टूटी हुई मूर्तियां भी मिली हैं। दीवार पर त्रिशूल की आकृति दृष्टिगत है। मस्जिद में औरंगजेब काल का शिलापट भी दिखा गया है। तहखाना S2 में भी हिंदू देवी-देवताओं की मूर्तियां प्राप्त हुई हैं। ASI ने जदुनाथ सरकार के इस निष्कर्ष पर भरोसा दिखाया है कि 2 सितंबर 1669 को मंदिर को समर्थन नहीं मिलने के कारण ध्वस्त कर दिया गया था।”

24 जनवरी को वाराणसी कोर्ट ने सर्वे रिपोर्ट की हार्ड कॉपी को दोनों पक्षों को देने का निर्णय सुनाया। इसके बाद, गुरुवार को, अर्थात 24 जनवरी को सुबह ही सीलबंद रिपोर्ट को वाराणसी कोर्ट के पटल पर रखा गया। जज के सामने एक लिफाफा खोला गया और इसके बाद रिपोर्ट के पन्नों की गिनती की गई। कोर्ट ने प्रति पृष्ठ 2 रुपए की दर तय करके इसे देने का निर्णय लिया।

रिपोर्ट के लिए आवेदन | Gyanvapi Survey 

जिला जज अजय कृष्ण विश्वेश ने बताया- दोनों पक्ष रिपोर्ट के लिए आवेदन कर सकते हैं। जब रिपोर्ट मिलेगी, तब दोनों पक्ष 6 फरवरी तक आपत्ति दर्ज करा सकते हैं। इसके पश्चात, हिंदू पक्ष की ओर से विष्णु शंकर जैन और सुधीर उपाध्याय, समेत चार वकीलों के साथ-साथ 13 अन्य लोगों ने रिपोर्ट के लिए आवेदन किया है।

उसके बाद, रिपोर्ट की फोटो कॉपी बनवाई गई। इसके पश्चात, हिंदू पक्ष के वकील विष्णु शंकर जैन और सुधीर उपाध्याय, समेत मुस्लिम पक्ष के अखलाक अहमद को रिपोर्ट सौंपी गई। बाकी 10 लोगों को शुक्रवार को, रिपोर्ट सौंपी जाएगी।

Source – Internet