spot_img
HomeदेशGold Silver Rate :सोने में फिर आया जोरदार उछाल, अब इतनी हो...

Gold Silver Rate :सोने में फिर आया जोरदार उछाल, अब इतनी हो गई कीमत

Gold Silver Rate :सोने में फिर आया जोरदार उछाल, अब इतनी हो गई कीमत चांदी और चांदी के गहने भारत में सोने और चांदी के गहनों की तरह ही लोकप्रिय हैं। भारत में सोने और चांदी का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। चांदी एक चमकदार धातु है, यह सोने के मुकाबले काफी सस्ती होती है। 1 किलो चांदी की कीमत 15 ग्राम सोने के बराबर मानी जा सकती है। भारत में चांदी का इस्तेमाल ज्यादातर पायल और अंगूठियों के रूप में किया जाता है। चांदी का उपयोग भारत में खाने में भी किया जाता है। भारत में आप सभी मिठाइयों को चांदी के वर्क के साथ देख सकते हैं। चांदी के वर्क वाली मिठाई भी लोग बड़े चाव से खाते हैं। आप इस पेज पर भारत में चांदी की कीमत देख सकते हैं। इसके साथ ही आप देश के अलग-अलग शहरों में चांदी की कीमत भी देख सकते हैं।

Gold Silver Rate :सोने में फिर आया जोरदार उछाल, अब इतनी हो गई कीमत
Gold Silver Rate :सोने में फिर आया जोरदार उछाल, अब इतनी हो गई कीमत

Gold Silver Rate

आज भारत में चांदी की कीमत – चांदी की कीमत प्रति किलो, भारतीय रुपये में
चांदी के एक ग्राम की कीमत
आज की चांदी की कीमत
कल
दैनिक चांदी की कीमत में परिवर्तन
1 ग्राम ₹ 61.50 ₹ 62 – 0.50
8 ग्राम ₹ 492 ₹ 496 ₹ -4
10 ग्राम ₹615 ₹ 620 ₹-5
100 ग्राम ₹ 6,150 ₹ 6,200 – 50
1 किलो ₹ 61,500 ₹ 62,000 – 500

भारत में चांदी की मांग:
अंतरराष्ट्रीय बाजार में चांदी की कीमतें कई कारकों पर निर्भर करती हैं, जिनमें मुद्रास्फीति कारक, डॉलर की अस्थिरता, वैश्विक बाजार में गिरावट आदि शामिल हैं। और यदि निवेशक जोखिम नहीं लेना चाहते हैं, तो वे अपना पैसा चांदी या सोने में निवेश करते हैं।

चांदी के बारे में रोचक तथ्य
चांदी एक बहुत ही निंदनीय धातु है। यह किसी भी कागज से पतला हो सकता है। जानकारों के मुताबिक 30 ग्राम चांदी से करीब ढाई किलोमीटर लंबा तार बनाया जा सकता है। हालांकि, सोना चांदी की तुलना में अधिक लचीला है। 30 ग्राम सोना 8 किमी लंबे तार में बनाया जा सकता है।

प्रकाश परावर्तन

चांदी में किसी भी अन्य धातु की तुलना में प्रकाश को परावर्तित करने की क्षमता अधिक होती है। चांदी 95% प्रकाश को परावर्तित करती है। इसलिए इसे चमकदार धातु का नाम दिया गया है। चांदी का उपयोग वैज्ञानिक कार्यों में किया जाता है। चांदी का उपयोग उच्च गुणवत्ता वाले चश्मे, दूरबीन और सूक्ष्मदर्शी बनाने के लिए किया जाता है। इसके अलावा चांदी का उपयोग सोलर पैनल बनाने में भी किया जाता है।

चांदी मढ़वाया मिठाई

चांदी की मिठाइयां बनती हैं। चांदी का सेवन व्यक्ति को नुकसान नहीं पहुंचाता है। जानकारों के अनुसार चांदी खाने से इसके कण शरीर के अंदर रोग पैदा करने वाले कीटाणुओं को नष्ट कर देते हैं।

पिछले कुछ वर्षों में सोने की कीमत मुद्रास्फीति का सबसे अच्छा गेज रही है। निवेशक सोने को अहम निवेश मानते हैं। अच्छा रिटर्न (वनइंडिया मनी) आपको भारत में सोने की दर देता है। हमारा लक्ष्य आपको सूचित करना है। इस पृष्ठ पर सोने की कीमतें देश में सोने के डीलरों से प्राप्त आंकड़ों के आधार पर प्रकाशित की जाती हैं। आप यहां सोने की दैनिक कीमत देख सकते हैं।

आज भारत में 22 कैरेट सोने की कीमत – भारतीय रुपये में प्रति ग्राम सोने की कीमत
22 कैरेट सोना
22 कैरेट सोना आज
कल 22 कैरेट सोना
कीमतें हर दिन बदलती हैं
1 ग्राम ₹ 4,800 ₹ 4,790 10
8 ग्राम ₹38,400 ₹38,320 ₹80
10 ग्राम ₹48,000 ₹47,900 ₹100
100 ग्राम ₹4,80,000 ₹4,79,000 ₹1,000

भारत में सोने की कीमतें कैसे और क्यों बदलती रहती हैं?
दुनिया भर के केंद्रीय बैंकों द्वारा भी व्यापार किया जाता है। आजकल हर देश के सेंट्रल बैंक में ऐसा होता है कि सारा स्टोरेज ही नहीं होता। जब भी ऐसा होता है, इससे सोने की कीमतों में तेजी से उतार-चढ़ाव होता है। संक्षेप में, यह आवश्यकता देश के केंद्रीय बैंकों से आती है। जब मांग अपेक्षित मांग से अधिक हो जाती है, तो केंद्रीय बैंक सोने की कीमत बढ़ा देते हैं। ऐसा कई बार देखा गया है और ये कीमतें काफी हद तक ऊपर जा रही हैं.

सोने की कीमत
सोने की कीमतों में बढ़ोतरी देश में गोल्ड ईटीएफ की भूमिका पर भी निर्भर करती है। जब कोई गोल्ड ईटीएफ खरीदता है, तो इससे अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमतों में वृद्धि होती है, जो अंततः चेन्नई में सोने की कीमतों को प्रभावित करती है।

Gold Silver Rate :सोने में फिर आया जोरदार उछाल, अब इतनी हो गई कीमत

इन वजहों से बढ़ रहे हैं सोने के दाम
मुद्राओं के विपरीत दिशाएं भी कीमती धातु को प्रभावित कर सकती हैं। उदाहरण के लिए, डॉलर में तेज उछाल सोने की कीमत को नीचे ला सकता है। संक्षेप में, भारत में आज सोने की कीमतें कई कारकों से प्रभावित होती हैं और कोई एक कारक नहीं है जो एक बड़ा प्रभाव डालता है। कुल मिलाकर इसके लिए कई कारक जिम्मेदार हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular